Home / News / business /

Indian Railways: माल लदान में रेलवे ने तोड़े प‍िछले साल के र‍िकार्ड, नवंबर माह में हुई 6.06% ज्‍यादा ढुलाई

Indian Railways: माल लदान में रेलवे ने तोड़े प‍िछले साल के र‍िकार्ड, नवंबर माह में हुई 6.06% ज्‍यादा ढुलाई

भारतीय रेलवे की ओर से यात्र‍ियों के सफर के साथ-साथ माल ढुलाई पर भी बल द‍िया जा रहा है. (फाइल फोटो)

भारतीय रेलवे की ओर से यात्र‍ियों के सफर के साथ-साथ माल ढुलाई पर भी बल द‍िया जा रहा है. (फाइल फोटो)

Indian Railways: उत्तर रेलवे के दिल्ली मंडल (Delhi Division) ने नवंबर, 2021 के दौरान माल लदान बेहतर कर 2.10 मिलियन टन लदान किया है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि (1.98 मिलियन टन) की तुलना में 6.06% अधिक है. नवंबर 2021 के दौरान कंटेनर लोडिंग 0.61 मिलियन टन थी, जो नवंबर, 2020 (0.60 मिलियन टन) की तुलना में 1.67 % अधिक है.

नई द‍िल्‍ली. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की वजह से खराब आर्थ‍िक हालातों को सुधारने के ल‍िए हरसंभव कदम उठाए जा रहे हैं. भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ओर से यात्र‍ियों के सफर के साथ-साथ माल ढुलाई पर भी बल द‍िया जा रहा है. इसको लेकर ब‍िजनेस डेवेल्‍पमेंट यून‍िट्स (Business Development Units) के तहत व्‍यापार‍ियों को माल लदान संबंधी कई बड़ी सहुल‍ियत भी दी जा रही है ज‍िसकी वजह से रेलवे रेवेन्‍यू (Revenue) अर्ज‍ित करने में र‍िकॉर्ड भी बना रहा है. उत्तर रेलवे (Northern Railway) के दिल्ली मंडल ने भी नवंबर माह में माल लदान में र‍िकॉड बनाया है.

उत्तर रेलवे के दिल्ली मंडल (Delhi Division) ने नवंबर, 2021 के दौरान माल लदान बेहतर कर 2.10 मिलियन टन लदान किया है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि (1.98 मिलियन टन) की तुलना में 6.06% अधिक है. नवंबर 2021 के दौरान कंटेनर लोडिंग 0.61 मिलियन टन थी, जो नवंबर, 2020 (0.60 मिलियन टन) की तुलना में 1.67 % अधिक है.

प्रवक्‍ता के मुताब‍िक नवंबर, 2021 में पेट्रोलियम और तेल उत्पादों की लोडिंग 0.53 मिलियन टन थी, जो नवंबर, 2020 (0.33 मिलियन टन) की तुलना में 60.61% अधिक है. नवंबर, 2021 के दौरान ऑटोमोबाइल के 45 रेक लोड किए गए, जो नवंबर, 2020 (42 रेक) की तुलना में 7.14 % अधिक है.


ये भी पढ़ें: Indian Railways: व्‍यापार‍ को मजबूत बनाने की द‍िशा में रेलवे ने उठाया ये कदम, छोटे-मझौले व्‍यापार‍ियों को म‍िलेगा बड़ा लाभ

वहीं, नवंबर, 2021 में अन्य वस्तुओ में 0.17 मिलियन टन की लदान की गयी जोकि नवंबर, 2020 (0.10 मिलियन टन) की तुलना में 70 % अधिक थी. नवंबर 2021 में थ्रूपुट (throughput) 14,223 था, जो नवंबर, 2020 (9137) की तुलना में 55.66 % अधिक है. नवंबर, 2021 के दौरान माल ढुलाई से अर्जित आय रु. 284.75 करोड़ रुपये हुई जोकि नवम्बर 2020 ( 252.97 करोड़) की तुलना में 12.56 % अधिक है.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे ने बनाया रिकार्ड, जून में 112.65 मिलियन टन माल की हुई ढुलाई

माल ढुलाई बढ़ाने के लिए अपनाई प्रमुख पहलें :-
– दिनांक 10.11.2021 को दिल्ली मंडल ने 31.10.21 के पिछले सर्वश्रेष्ठ 55 रेकों की लदान को पार करते हुए 57 रेकों की एक दिन में अपनी अधिकतम लदान हासिल की है. इसमें 10 प्रायोजित खाद्यान्न, 31 कंटेनर, 9 पेट्रोलियम, 5 ऑटोमोबाइल, 1 रेल सामग्री और 1 विविध वस्तु रेक शामिल हैं.

-22.11.2021 को एक दिन में कुल 63 क्रेक ट्रेन चलाई गईं, जो एक दिन में चलाई गई अब तक की सबसे अधिक क्रेक ट्रेन हैं.

-24.11.2021 को दिल्ली डिवीजन ने फरीदाबाद से अंबासा (एबीएसए) के लिए पहली बार लकड़ी लोड की. रेलवे ने इससे 1,39,514/- रुपये का राजस्व अर्जित किया है.

महत्वपूर्ण कार्य:-
-हजरत निजामुद्दीन-ओखला स्वचालित सिग्नलिंग प्रणाली 06.11.2021 को चालू कर दी गई है.

-13.11.2021 को जल निकासी ठीक न होने के कारण तुगलकाबाद-ओखला डाउन गुड्स अवॉइडिंग लाइन के बीच 60 कि.मी. प्रति घंटे के स्थायी गति प्रतिबंध (permanent speed restriction) हटाया गया.

Tags:Business news in hindi, Dedicated Freight Corridor, Goods trains, Indian Railways, Railway News