लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / करियर /

UPSC Preparation Tips: क्या सिर्फ परीक्षा के लिए पढ़ाई करनी चाहिए? जिंदगी में कैसे पाएं अच्छे नंबर?

UPSC Preparation Tips: क्या सिर्फ परीक्षा के लिए पढ़ाई करनी चाहिए? जिंदगी में कैसे पाएं अच्छे नंबर?

UPSC Preparation Tips, Education System: भारत में शिक्षा के क्षेत्र में लगातार बदलाव हो रहे हैं. लेकिन अब सिस्टम के साथ लोगों की मानसिकता को बदलना भी जरूरी है. इससे सिर्फ परीक्षा में ही नहीं, जिंदगी में भी अच्छे नंबरों से पास होंगे.

UPSC Preparation Tips: सिविल सर्वेंट बनने के लिए सिर्फ परीक्षा पास करना जरूरी नहीं है बल्कि बेसिक्स स्पष्ट होना भी जरूरी है

UPSC Preparation Tips: सिविल सर्वेंट बनने के लिए सिर्फ परीक्षा पास करना जरूरी नहीं है बल्कि बेसिक्स स्पष्ट होना भी जरूरी है

नई दिल्ली (UPSC Preparation Tips, Education System). बेसिक्स सामान्य तौर पर ‘पढ़ने की प्रक्रिया’ (Reading Process) को ‘सीखने की प्रक्रिया’ (Learning Process) में बदलने की कुंजी है. इसलिए प्रक्रिया के इस बदलाव के दौरान जितनी भी बाधाएं आती हैं, उन सभी को हम बेसिक्स की चुनौतियां मान सकते हैं. चूंकि ज्ञान की यह पूरी प्रक्रिया बुद्धि और मन से जुड़ी हुई है, इसलिए स्वाभाविक ही है कि इससे जुड़ी ज्यादातर चुनौतियों का संबंध बुद्धि और मन के विज्ञान से ही होगा.

मन बहुत ही सूक्ष्म तरीके से काम करता है. विचारों के स्तर पर उठी हुई छोटी-सी लहर को भी पहचानकर और पकड़कर मन उसके हिसाब से आपके लिए काम करना शुरू कर देता है. हालांकि यह बात सबकी पकड़ में आसानी से आती नहीं है. लेकिन इससे लर्निंग प्रोसेस को कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप मन की इस सूक्ष्म कार्य-पद्धति को पकड़ पा रहे हैं या नहीं. हम यहां बेसिक्स को समझने के दौरान आने वाली सबसे महत्वपूर्ण चुनौतियों को जानने की कोशिश करेंगे.

चुनौतियों का उठाएं फायदा
यहां मैं यह बात विशेष रूप से कहना चाहूंगा कि अगर आप इन चुनौतियों को सिर्फ पढ़कर छोड़ देंगे, तो यह जानकारी आपके किसी काम की नहीं है. आपको सलाह दी जाती है कि आप इन चुनौतियों को और विशेषकर मनोविज्ञान से जुड़ी चुनौतियों को एक-एक करके ध्यान से पढ़ें और फिर इन सभी को अपने ऊपर अप्लाई करके भी देखें. इससे आप समझेंगे कि इन चुनौतियों से आपका किस तरह का साक्षात्कार होता है. तभी यह जानकारी ज्ञान में बदलेगी और तभी आप इससे कुछ लाभ उठा सकेंगे.

क्या हैं बेसिक चुनौतियां?
इस तरह की कुछ महत्वपूर्ण चुनौतियां इस प्रकार हैं- ‘मैं जानता हूं’ की सोच गलतफहमियों से भरी होती है. यह सबसे खतरनाक सोच होती है, जो भविष्य में आपकी लर्निंग यात्रा की हत्या कर देती है. इस गलत विचार को ‘मुझे जानना है’ के विचार से रिप्लेस करना होगा. ठीक है कि आप जानते हैं, लेकिन यह भी उतना ही ठीक है कि अभी बहुत कुछ जानना बचा हुआ है. ध्यान रखें, जानने का कभी कोई अंत नहीं होता है. ज्ञान के क्षेत्र की यह सच्चाई आपके गड़बड़ाए हुए मनोविज्ञान को संतुलित करने के लिए एक रामबाण औषधि हो सकती है.

बदलाव की शुरुआत कैसे करें?
ज्ञान के क्षेत्र के इस महत्वपूर्ण तथ्य को भी हमेशा याद रखें कि यह न तो लंबाई-चौड़ाई में निहित होता है और न ही सतह पर. इसका संबंध गहराई से होता है और गहराई कहीं भी खत्म नहीं होती. इसलिए सतह पर आपको जो बहुत सरलता दिखाई दे रही है, वह सामान्य लोगों के लिए है. सिविल सर्वेंट बनने के लिए आपको इन सामान्य लोगों से कुछ श्रेष्ठ बनना पड़ेगा. इसके लिए आपको सतह से नीचे उतरना पड़ेगा और आप जैसे-जैसे नीचे उतरते जाएंगे, आपकी जटिलताओं से टक्कर होने लगेगी. लेकिन शुरुआत सतह यानी बेसिक्स से ही करनी पड़ती है.

क्या आप सिर्फ परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?
अगर आप अपने मनोविज्ञान को इस विचार के अनुकूल सेट कर लेंगे, तभी आपका दिमाग सतह की कठोर पपड़ी को तोड़कर उसके अंदर प्रवेश कर सकेगा. अन्यथा तो लाखों-करोड़ों लोग जीवन भर इस सतह पर ही चहलकदमी करते रह जाते हैं. अभी तक आपने औपचारिक शिक्षा के लिए जो कुछ भी किया है, उसके केंद्र में था-परीक्षा पास करना (Exam Policy). जाहिर है कि जब उद्देश्य ही परीक्षा पास करना होता है, तो हमारे पढ़ने की पद्धति के केंद्र में भी यही बात होगी कि ‘परीक्षा में क्या-क्या पूछा जा सकता है.’

सिविल सर्वेंट बनने के लिए बदलें सोच
अगर आपको लगता है कि परीक्षा में बेसिक्स से ज्यादा प्रश्न नहीं आते तो आपको गलत नहीं लग रहा है. लेकिन औपचारिक शिक्षा की यही सच्चाई सिविल सेवा परीक्षा को बहुत कठिन बना देती है क्योंकि बेसिक्स को हमने यूं ही छोड़ दिया था. क्या आपको नहीं लगता कि ऐसा करके हम सचमुच कितनी बड़ी भूल कर चुके होते हैं? लेकिन अगर यही भूल आप यूपीएससी परीक्षा में करेंगे तो यकीन मानिए कि आप सफल नहीं हो पाएंगे. अगर आपको बेसिक्स पर पकड़ बनानी है तो इस तथ्य को भूलना ही पड़ेगा कि ‘इससे परीक्षा में तो प्रश्न पूछे ही नहीं जाते हैं’.डॉ० विजय अग्रवाल
(लेखक पूर्व सिविल सर्वेंट और afeias के संस्थापक हैं)

ये भी पढ़ें:
यूपीएससी की तैयारी में उत्तर लेखन के अभ्यास से कितना फायदा होता हैUPSC परीक्षा की तैयारी में ‘उत्तर लेखन के अभ्यास’ का क्या रोल है

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Civil Services, Civil Services Examination, Education system, Upsc exam, सरकारी नौकरी

FIRST PUBLISHED : November 25, 2022, 16:19 IST
अधिक पढ़ें