इस हाई प्रोफाइल सीट पर कांग्रेस की तरह भाजपा में भी एक अनार सौ बीमार

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस बार के चुनाव में छत्तीसगढ़ संगठन को 65 प्लस का नारा दिया है.

Vinod Kushwaha , News18 Chhattisgarh
कांग्रेस की तरह बीजेपी में भी एक अनार सौ बीमार की तर्ज पर अब दावेदार नजर आ रहे हैं. बस्तर संभाग की हाई प्रोफाइल कही जाने वाली जगदलपुर विधानसभा सीट के लिए भाजपा से भी कई दावेदार अपनी दावेदारी संगठन तक पहुंचा रहे हैं. ऐसे में अब कांग्रेस की तरह ही बीजेपी में भी सिरफुटौव्वल की स्थिति निर्मित हो सकती है. अभी इस सीट में पर्यटन मंडल के अध्यक्ष भाजपा के संतोष बाफना यहां से विधायक हैं.विधायक संतोष बाफना का ये तीसरा कार्यकाल है. ऐसे में बाफना एक बार फिर से इस सीट में अपनी दावेदारी मजबूती के साथ कर रहे हैं, लेकिन पिछले एक साल के दौरान जो एंटी इनकमबैंसी के साथ ही कार्यकर्ताओं की नाराजगी के चलते बाफना की टिकट इस बार खतरे में नजर आ रही है. यही वजह है कि सीटिंग एम एल ए के बावजूद कई दावेदार इस सीट से लडने की इच्छा पार्टी को जता चुके हैं. कांग्रेस में भी इस सीट के लिए 43 लोगों ने दावेदारी की है.​भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इस बार के चुनाव में 65 प्लस का नारा दिया है, लेकिन सूत्रों की मानें तो बीजेपी संगठन के पास जो खुफिया रिपोर्ट और सर्वे की रिपोर्ट पहुंच रही है, उसमें कई सीटिंग एमएलए के हाराने की बात कही गई है. इसके चलते बीजेपी बस्तर में काफी ज्यादा सर्तक है. भाजपा किसी भी तरह का नुकसान बस्तर में नहीं उठाना चाहती है. इन तमाम रिपोर्ट के आधार पर भारतीय जनता पार्टी के बस्तर की सीटों पर बंटवारे से पहले दावेदारी का घमासान शुरू हो गया है. अब तक जो नाम दावेदारी के रूप में सामने आ रहे हैं उसमें मौजूदा विधायक संतोष बाफना के आलवा. पूर्व नगरपालिका के उपाध्यक्ष योगेन्द्र पांडे, बीजेपी प्रदेश पैनेलिस्ट प्रवक्ता संजय पांडे, संगठन में खासा दखल रखने वाले किरण देव सहित बस्तर महाराज कमलचंन्द्र भंजदेव शामिल हैं.यह भी पढ़ें: छत्‍तीसगढ़ की इस हाई प्रोफाइल सीट से लड़ेंगी 'किन्नरों की हीरो' मुस्कान
हालांकि भाजपा के बस्तर जिला अध्यक्ष बैदूराम कश्यप दावेदारों को लेकर किसी तरह की चिंता जाहिर नहीं कर रहे हैं. वहीं बीजेपी के प्रदेश पैनेलिस्ट प्रवक्ता संजय पांडे के मुताबिक दावेदार जितने ज्यादा होते हैं, उतना ही ज्यादा लोकतंत्र मजबूत होता है. बस्तर जिला कांग्रेस के अध्यक्ष राजीव शर्मा का कहना है कि भजपा के अंदर चल रहे इस घमासान का फायदा कांग्रेस को मिलेगा.
यह भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव: सत्ता की चाबी साबित होंगे ये 'सोये शेर', लुभाने में लगीं पार्टियां!

Trending Now