Home / News / chhattisgarh /

big relief to dr pramod mahajan from high court bilaspur cmho dispute

डॉ. प्रमोद महाजन को हाईकोर्ट से बड़ी राहत, दो दिन में ही वापस मिली सीएमएचओ की कुर्सी

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने डॉ. प्रमोद महाजन को फिर से सीएमएचओ पद पर बने रहने का आदेश दिया है.

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने डॉ. प्रमोद महाजन को फिर से सीएमएचओ पद पर बने रहने का आदेश दिया है.

CG High Court News: बिलासपुर सीएमएचओ के पद से दो दिन पहले ही हटाए गए डॉ. प्रमोद महाजन को हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. अर्जेंट याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट जस्टिस आरसी एस. सामंत की सिंगल बेंच ने डॉ. महाजन को अंतरिम राहत देते हुए पुनः सीएमएचओ के पद पर बने रहने का आदेश दिया है.

बिलासपुर. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला जब दो दिन बाद इस दफ्तर के मुखिया की कुर्सी पर एक बार डॉ. प्रमोद महाजन आसीन हो गए. इस तरह डॉ. अनिल श्रीवास्तव दो दिन ही सीएमएचओ रह पाए. डॉ. प्रमोद महाजन ने बुधवार शाम को बिलासपुर सीएमएचओ का पदभार एक बार फिर संभाल लिया.

दरअसल 25 जून को डॉ. प्रमोद महाजन की जगह डॉ अनिल श्रीवास्तव को सीएमएचओ बिलासपुर के पद पर नियुक्त किया गया था. दो दिन अवकाश के बीच में ही बगैर डॉ. महाजन से चार्ज लिए डॉ. अनिल श्रीवास्तव 27 जून को बिलासपुर सीएमएचओ की कुर्सी पर आसीन हो गए. इधर, पद से हटाए गए  डॉ. महाजन ने अधिवक्ता मतीन सिद्धिकी के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी.

सीएम से मंजूरी के बिना ट्रांसफर

याचिकाकर्ता डॉ. प्रमोद महाजन ने कहा कि उन्हें 10 मार्च 2022 को दिए गए प्रभार से हटाने के लिए मुख्यमंत्री की मंजूरी नहीं ली गई है. ताजा दिए गए आदेश में केवल डॉ. प्रमोद महाजन को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, बिलासपुर के प्रभार से मुक्त करने की बात कही गई, जिससे यह स्पष्ट नहीं होता कि स्थानांतरण के बाद वे कहां काम करेंगे. अपनी याचिका में डॉ. प्रमोद महाजन ने कहा कि बिना मूल पद से स्थानांतरित किए प्रभारी संयुक्त निदेशक के पद पर उन्हें भेज दिया गया. साथ ही डॉ. अनिल श्रीवास्तव ने उनसे बिना चार्ज लिए एकतरफा सीएमएचओ के पद पर ज्वॉइन कर लिया.


आपके शहर से (बिलासपुर)

अजब-गजब: ऐसी जमीन जहां सावन में खुदाई पर निकलता है शिवलिंग, पूरी होती हैं भक्तों की मुरादें; Photos

Chhattisgarh भाजपा में बदलाव की बयार, अब 2023 विधानसभा चुनाव पर पार्टी की नजरें, जानें प्लानिंग

बस्तर की आदिवासी कला को बचाने युवाओं ने की पहल, घूम-घूम बता रहे ‘गोदना’ का महत्व

छत्तीसगढ़ में स्वाइन फ्लू से पहली मौत, एक महीने में 28 नए मरीज, कोराेना के भी बढ़े केस

भिलाई स्टील प्लांट में बड़ा हादसा, एसएमएस-3 का लैडल फटा, बह गया 20 टन हॉट मैटल, लगी भीषण आग

शादीशुदा शख्स नाबालिग को बहलाकर ले गया उत्तर प्रदेश और किया रेप, फिर भाई के पास छोड़ भाग गया

छत्तीसगढ़ में ट्रेनें रद्द होने पर कंगाली झेल रहे कुली और ऑटो चालक, स्टेशनों पर घटी यात्रियों की संख्या

स्कूल में छात्राओं से छेड़छाड़ के आरोप में प्रधानाचार्य गिरफ्तार, स्कूल प्रबंधन ने की परिजनों की शिकायत

शख्स ने अपने ही बेटे और बेटी की बेरहमी से की हत्या, फिर खुद के लिए भी चुनी खौफनाक मौत

छत्तीसगढ़ी म पढ़व- अंधियारी रात के अतियाचार

छत्तीसगढ़ में स्वच्छता के लिये नई पहल: राजनांदगांव में अब निगम कर्मचारी रात को भी उठायेंगे कचरा


इसके अलावा यह भी तर्क प्रस्तुत किया गया कि द्वितीय श्रेणी के जूनियर को प्रथम श्रेणी के पद पर नियुक्त कर दिया गया है. हाइकोर्ट ने सुनवाई के बाद डॉ. प्रमोद महाजन को अंतरिम राहत देते हुए उन्हे पुनः अपने पद पर बने रहने का आदेश दिया है. हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद डॉ. महाजन एक बार फिर बिलासपुर सीएमएचओ की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं.

Tags:Chhattisgarh High court, Chhattisgarh news