भाषा चुनें :

हिंदी

नगरी जंगल में लाखों के भ्रष्टाचार और अनियमितताओं को लेकर हाईकोर्ट का नोटिस

जिला धमतरी के नगरी जंगल में हुए लाखों के भ्रष्टाचार और अनियमितता को लेकर लगाई गई दिनकर राव वरेटवार के जनहित याचिका पर बुधवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट चीफ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी के डिवीजन बैंच ने शासन और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को नोटिस जारी कर 6 सप्ताह में जवाब तलब किया है.

News18Hindi |

जिला धमतरी के नगरी जंगल में हुए लाखों के भ्रष्टाचार और अनियमितता को लेकर लगाई गई दिनकर राव वरेटवार के जनहित याचिका पर बुधवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट चीफ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी के डिवीजन बैंच ने शासन और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को नोटिस जारी कर 6 सप्ताह में जवाब तलब किया है. विदित हो कि गरियाबंद के रहने वाले दिनकर राव वरेटवार ने हाईकोर्ट चीफ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी की डिवीजन बैंच में जनहित याचिका लगाई थी. याचिका में कहा गया है कि धमतरी जिले के नगरी के जंगल में वन विभाग के अधिकारीयों और कर्मचारियों ने मिलकर लाखों की बंदरबांट की है.


याचिकाकर्ता ने कहा कि धमतरी के नगरी  जंगल के अंदर पुल-पुलिया निर्माण,तालाब खुदाई,एनीकेट,मस्टररोल के नाम पर लाखों रुपये निकाले गए. इसमें से पैसे निकालने के बाद भी कई निर्माण कार्य नहीं किए और पैसे लिए डकार गए. शिकायत के बाद जाँच में पता चला कि विभाग के अधिकारी और उसके अधीनस्त कर्मचारियों द्वारा भ्रष्टाचार मचाया गया था. जांच उपरांत भी कार्यवाई नही होने पर दिनकर राव ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई है जिसमें कोर्ट के शासन और वन विभाग को नोटिस जारी करके 6 सप्ताह में जवाब मांगा है. हाईकोर्ट के इस नोटिस से पूरे वन विभाग में हड़कंप की स्थिति है.सभी अधिकारी अपने-अपने बचाव को तर्क तलाशने में वकीलों से मशवरा कर रहे हैं.