Home / News / delhi-ncr /

bodaki and khurja link line will connect to eastern and western freight corridors roro service mumbai kolkata dlnh

Delhi-NCR के लिए वारदान बनेगी फ्रेट कॉरिडोर की लिंक लाइन, जानें कहां है

तेज रफ्तार के साथ सस्ते दाम में कारोबारी अपना माल मुम्बई और कोलकाता तक भेज सकेंगे.  Demo Pic

तेज रफ्तार के साथ सस्ते दाम में कारोबारी अपना माल मुम्बई और कोलकाता तक भेज सकेंगे. Demo Pic

डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन (DFCC) ने ईस्टर्न कॉरिडोर कोलकाता से लुधियाना तक बनाया है. वहीं वेस्टर्न कॉरिडोर दादरी से मुम्बई तक बनाया गया है. अच्छी खबर यह है कि दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) और वेस्टर्न यूपी के कारोबारी थोड़े से ही फासले पर बोड़ाकी और दादरी रेल स्टेशन से ईस्टर्न और वेस्टर्न कॉरिडोर का फायदा ले सकेंगे. बोड़ाकी (Bodaki) रेलवे स्टेशन से खुर्जा (Khurja) तक 50 किमी की एक लम्बी लाइन बिछाकर वेस्टर्न कॉरिडोर से जोड़ा जा रहा है.

नोएडा. इसी साल अगस्त से दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) और वेस्टर्न यूपी (West UP) के कारोबार को रफ्तार मिलने वाली है. तेज रफ्तार के साथ सस्ते दाम में कारोबारी अपना माल मुम्बई और कोलकाता तक भेज सकेंगे. इसके लिए डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन (DFCC) ने एक लिंक लाइन तैयार की है. ऐसा दावा किया जा रहा है कि जुलाई के आखिर तक यह लाइन तैयार हो जाएगी. अगस्त में संचालन के लिए इसे हरी झंडी दिखा दी जाएगी. खास बात यह है कि यह लिंक लाइन ईस्टर्न कॉरिडोर (Eastern Corridor) और वेस्टर्न कॉरिडोर (Weastern Corridor) को आपस में जोड़ने का काम करेगी. लिंक लाइन दिल्ली-एनसीआर में बोड़ाकी (Bodaki) और खुर्जा के बीच तैयार की गई है.

लिंक लाइन को पीएम दिखा सकते हैं हरी झंडी

डीएफसीसी से जुड़े सूत्रों की मानें तो बोड़ाकी रेल स्टेशन से खुर्जा तक की लिंक लाइन का काम लगभग पूरा हो चुका है. बाकी का मामूली सा काम जुलाई के आखिर तक पूरा कर लिया जाएगा. दूसरी ओर ईस्टर्न कॉरिडोर की मेन लाइन का काम भी जुलाई के आखिर तक पूरा होने की उम्मीद है. ऐसा माना जा रहा है कि 15 अगस्त को पीएम नरेन्द्र मोदी लिंक लाइन पर ट्रेन को हरी झंडी दिखा सकते हैं. बुधवार को डीएफसीसी के अफसरों ने मेन लाइन के साथ ही लिंक लाइन का भी रेल यान में बैठकर निरीक्षण किया. इस दौरान जरूरी उपाय भी सुझाए.


आपके शहर से (नोएडा)

सुपरटेक ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने का काम शुरू, 28 अगस्त को ध्वस्त होगा अवैध निर्माण

श्रीकांत त्यागी प्रकरण में गरमाई राजनीति, सांसद डॉ महेश शर्मा ने पत्र लिखकर दी सफाई, लगाया ये बड़ा आरोप

Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022: कहीं आपसे ना हो जाए तिरंगे का अपमान, जानिए झंडा फहराने से जुड़े नियम?

नोएडा: नाले की सफाई के दौरान लेंटर गिरने से दो मजदूरों की मौत, कंपनी के खिलाफ केस दर्ज

Azadi Ka Amrit Mahotsav: अंग्रेजों के लिए सबसे बड़ी चुनौती था 1857 की क्रांति का ये सिपाही, कभी नहीं दिखाई पीठ

सुपरटेक ट्विन टॉवर को गिराने के लिए पलवल से नोएडा पहुंचा विस्फोटक, जानें पूरी डिटेल

नोएडा: ATM कार्ड बदलकर ठगी करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, 40 हजार रुपए नगद बरामद

नोएडा में अब लाटरी या इंटरव्यू सिस्टम से नहीं, डीडीए की तर्ज पर मिलेंगे प्लॉट और दुकान

Shrikant Tyagi Case: सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने पुलिस कमिश्नर को भेजा 11 करोड़ का नोटिस, कहा- मांगे माफी

श्रीकांत त्यागी केस: स्वामी प्रसाद मौर्य ने नोएडा के पुलिस आयुक्त को भेजा मानहानि का नोटिस

नोएडा में गाड़ी टच होने पर एक महिला ने 90 सेकंड में जड़ा 17 थप्पड़, देखें Viral Video


ईस्टर्न-वेस्टर्न कॉरिडोर पर शुरू हो सकती है रोरो सर्विस

डीएफसीसी का ईस्टर्न कॉरिडोर कोलकाता तक तो वेस्टर्न कॉरिडोर मुम्बई तक जाता है. दोनों ही बड़े कारिडोर हैं. दोनों ही रूट पर कई बड़े कारोबारी शहर हैं. अगर ईस्टर्न और वेस्टर्न कॉरिडोर पर सफलतापूर्वक रोरो सर्विस शुरू हो जाती है तो यह प्रदुषण के लिहाज से भी एक बड़ा कदम होगा. रोरो के शुरू होने से सड़कों पर ट्रक और टैंकर्स की संख्या कम हो जाएगी. इससे वायु प्रदुषण भी नहीं फैलेगा. अगर ऐसा होता है तो इससे सबसे बड़ी राहत दिल्ली-एनसीआर को ही मिलेगी.

Delhi-NCR वालों को जल्द ही हाईटेक टाउनशिप में घर खरीदने का मिलेगा मौका, जानें प्लान

डीएफसीसी से जुड़े सूत्रों की मानें तो रोरो सर्विस की शुरुआत एक मालगाड़ी पर 45 ट्रक से की जाएगी. हालांकि डबल डेकर गाड़ी आने के बाद यह संख्या बढ़ भी सकती है. कोकंण रेलवे ने भी इस तरह का प्रयास शुरु कर दिया है. गौरतलब रहे इससे पहले दिल्ली के प्रदुषण को देखते हुए नॉर्थन रेलवे ने भी रोरो सर्विस का ट्रॉयल किया था. अब यह पहला मौका होगा

Tags:Dadri News, Dedicated Freight Corridor, Delhi-ncr, West UP