Home / News / delhi-ncr /

construction of residential and commercial hitech townships is underway near dadri bodaki and yamuna expressway dlnh

Delhi-NCR वालों को जल्द ही हाईटेक टाउनशिप में घर खरीदने का मिलेगा मौका, जानें प्लान

टाउनशिप बसाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. किसानों से जमीन खरीदने का काम आखिरी दौर में चल रहा है. Demo Pic

टाउनशिप बसाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. किसानों से जमीन खरीदने का काम आखिरी दौर में चल रहा है. Demo Pic

यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के पास सिकंदराबाद और दादरी के बीच बसाई जा रही इस टाउनशिप में एलआईजी, एमआईजी और एचआईजी कैटेगिरी के मकान बनाए जाएंगे. यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) ने जमीन अधिग्रहण का काम लगभग पूरा कर लिया है. हाईटेक टाउनशिप (High Tech Township)  से संबंधित डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार कर शासन को भेज दी है. आईआईटी (IIT) रुढ़की ने डीपीआर देखने के बाद उसे हरी झंडी दिखाई है. खास बात यह है कि टाउनशिप में ही कमर्शियल और इंडस्ट्रियल एरिया होगा, जिससे लोगों को काम की तलाश में दूर न जाना पड़े.

नोएडा. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) वालों को जल्द ही एक हाईटेक टाउनशिप (High Tech Township) का तोहफा मिलने जा रहा है. टाउनशिप बसाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. किसानों से जमीन खरीदने का काम आखिरी दौर में चल रहा है. अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो आने वाले तीन महीने बाद निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा. खास बात यह है कि इस टाउनशिप में 600 एकड़ का रेजिडेंशियल प्लान (Residential Plan) है तो 300 एकड़ की ग्रीन बेल्ट (Green Belt) होगी. इस टाउनशिप में तीन कैटेगिरी के मकान बनाए जाएंगे. यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के पास सिकंदराबाद और दादरी के बीच टाउनशिप का काम चल रहा है. यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) इस हाईटेक टाउनशिप को बसाने का काम कर रही है.

यह होगा यमुना अथॉरिटी की टाउनशिप का प्लान

यमुना अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो हाईटेक टाउनशिप बसाने के लिए करीब 1500 एकड़ जमीन का इस्तेमाल किया जाएगा. इसमे 35 से 40 फीसद जमीन पर रेजिडेंशियल प्लान बनेगा. 4 से 6 फीसद कमर्शियल इस्तेमाल के लिए, 4 से 6 फीसद इंडस्ट्रियल के लिए, 8 से 10 फीसद पब्लिक यूटिलिटी के लिए, 15 से 18 फीसद पर ग्रीन बेल्ट तैयार की जाएगी, 18 से 20 फीसद पर रोड कंस्ट्रक्शन होगा और 3 से 5 फीसद का इस्तेमाल रिकरेशनल में किया जाएगा.


आपके शहर से (नोएडा)

Azadi Ka Amrit Mahotsav: अंग्रेजों के लिए सबसे बड़ी चुनौती था 1857 की क्रांति का ये सिपाही, कभी नहीं दिखाई पीठ

नोएडा में अब लाटरी या इंटरव्यू सिस्टम से नहीं, डीडीए की तर्ज पर मिलेंगे प्लॉट और दुकान

नोएडा में गाड़ी टच होने पर एक महिला ने 90 सेकंड में जड़ा 17 थप्पड़, देखें Viral Video

नोएडा: नाले की सफाई के दौरान लेंटर गिरने से दो मजदूरों की मौत, कंपनी के खिलाफ केस दर्ज

नोएडा: ATM कार्ड बदलकर ठगी करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, 40 हजार रुपए नगद बरामद

सुपरटेक ट्विन टॉवर को गिराने के लिए पलवल से नोएडा पहुंचा विस्फोटक, जानें पूरी डिटेल

श्रीकांत त्यागी केस: स्वामी प्रसाद मौर्य ने नोएडा के पुलिस आयुक्त को भेजा मानहानि का नोटिस

Shrikant Tyagi Case: सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने पुलिस कमिश्नर को भेजा 11 करोड़ का नोटिस, कहा- मांगे माफी

श्रीकांत त्यागी प्रकरण में गरमाई राजनीति, सांसद डॉ महेश शर्मा ने पत्र लिखकर दी सफाई, लगाया ये बड़ा आरोप

सुपरटेक ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने का काम शुरू, 28 अगस्त को ध्वस्त होगा अवैध निर्माण

Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022: कहीं आपसे ना हो जाए तिरंगे का अपमान, जानिए झंडा फहराने से जुड़े नियम?


टाउनशिप के पास होगा दिल्ली-एनसीआर का नंबर वन रेल स्टेशन

ग्रेटर नोएडा का बोड़ाकी रेलवे स्टेशन दिल्ली-एनसीआर का नंबर वन स्टेशन बनने जा रहा है. बोड़ाकी से पूर्वी यूपी के साथ-साथ बिहार और पश्चिम बंगाल के लिए भी ट्रेन मिलेगी. यहां बस अड्डे के साथ ही मेट्रो ट्रेन की सुविधा भी मिलेगी. इसके साथ ही एनसीआर के दूसरे स्टेशन के मुकाबले बोड़ाकी से ट्रेन पकड़ना ज्यादा आरामदायक हो जाएगा.

नोएडा की जमीन पर होगी विदेशी हवाई जहाजों की मरम्मत, जानें क्या है प्लान

हाथ में भारी-भरकम लगेज लेकर ट्रेन के पीछे नहीं भागना होगा. रेलवे स्टेशन से मेट्रो स्टेशन जाना हो या मेट्रो स्टेशन से बस अड्डा, स्काई वॉक ट्रैवलर की मदद से सामान के साथ कुछ मिनट में ही पहुंच जाएंगे. गौरतलब रहे यह स्टेशन सिकंदराबाद और दादरी से सटा हुआ है.

टाउनशिप के पास बन रहा है लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब

बोड़ाकी रेल स्टेशन के पास ही लॉजिस्टिक और मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब भी बनाया जा रहा है. केन्द्र सरकार की ओर से लॉजिस्टिक और ट्रांसपोर्ट हब के लिए के लिए 850 करोड़ रुपये मिल चुके हैं. 500 करोड़ रुपये की दूसरी किस्त अभी हाल ही में मिली है. यह दोनों हब बोड़ाकी रेलवे स्टेशन के पास बनेंगे. सामान की लोडिंग-अनलोडिंग के लिए यार्ड बनेंगे. बोड़ाकी में 16 रेल लाइन बिछाई जाएंगी. इन सभी रेल लाइन को दिल्ली-हावड़ा मुख्य रेल लाइन से जोड़ा जाएगा. कोल्ड चेन और पैकेजिंग का काम करने के लिए भी प्लटेफार्म तैयार किए जाएंगे. वेयर हाउस हब के लिए भी जगह छोड़ी जा रही है.

Tags:Delhi-ncr, Greater noida news, Yamuna Authority, Yamuna Expressway