लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबक्रिकेटआईपीएल 2023वेब स्टोरीजफूडमनोरंजनफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#GiveWingsToYourSavings#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealthCryptocurrency
होम / न्यूज / धर्म /

MIRZAPUR: एक ऐसा धाम जहां इंसानों की शक्ल में घमते हैं भूत-प्रेत! मिलती है आत्माओं से मुक्ति

MIRZAPUR: एक ऐसा धाम जहां इंसानों की शक्ल में घमते हैं भूत-प्रेत! मिलती है आत्माओं से मुक्ति

मिर्जापुर जनपद के मड़िहान तहसील क्षेत्र के बेलहरा गांव में स्थित मोहन ब्रह्म दरबार में भूतों का मेला लगता है. सामान्य दिनों में सोमवार को यहां हजारों की संख्या में लोग आते हैं लेकिन नवरात्रि के नौ दिन यहां पर दूर दराज से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और बाबा के दरबार में मत्था टेकते हैं.

रिपोर्ट- मंगला तिवारीमिर्जापुर. वैसे तो देश में अदालतें इंसानों को न्याय दिलाने के लिए हैं, लेकिन क्या आपने कभी भूतों की अदालत के बारे में सुना है. चौंकिए मत, यह सच है उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में भूतों की अदालत सजती है, जहां बाकायदा उनकी पेशी होती है और सुनवाई के बाद सजा मुक़र्रर की जाती है. भूतों के अपराधों के हिसाब से उन्हें सजा दी जाती है. सजा में कठोर दंड का प्रावधान है. परिसर में स्थित कुंड में भूतों को बाबा के दंडाधिकारी सबक सिखाते हैं.

मिर्जापुर जनपद के मड़िहान तहसील क्षेत्र के बेलहरा गांव में स्थित मोहन ब्रह्म दरबार में भूतों का मेला लगता है. सामान्य दिनों में सोमवार को यहां हजारों की संख्या में लोग आते हैं लेकिन नवरात्रि के नौ दिन यहां पर दूर दराज से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और बाबा के दरबार में मत्था टेकते हैं. जहां बाबा के पताका को देखते ही भूत नाचने लगते है.

नकारात्मक ऊर्जा शरीर छोड़ देती हैमोहन ब्रह्म महाराज को लेकर कई तरह की मान्यताएं हैं. कहा जाता है कि मोहन ब्रह्म महाराज एक पहलवान थे. मृत्यु के कुछ दिनों बाद मोहन ब्रह्म महाराज स्वप्न में दर्शन दिए. जिसके बाद मिर्जापुर से जल लेकर बाबा के परिवार के सदस्य बिहार के चैनपुर में स्थित हरसू ब्रह्म दरबार गए और वहां पूजन विधि सीखा. वहां से आने के बाद लोगों ने मोहन ब्रह्म महाराज के चौरा का निर्माण करवाया. जिसके बाद सैकड़ों वर्षों से बाबा दरबार में आने वाले भक्तों का दुख दूर कर रहे हैं. ऐसी मान्यता है कि यदि किसी भी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव है तो ऐसा व्यक्ति धाम में लगे फरहरा को देखते ही नाचने लगता है, कान पकड़कर उठक बैठक करने लगता है. लोगों का ऐसा मानना है कि यहां आने से किसी भी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा शरीर छोड़ देती है.

4 सौ वर्षों से चला आ रहा है मेलामोहन ब्रह्म महराज के पुजारी अशीष दुबे ने बताया कि यहां दूर दराज से लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं. जिसमें ज्यादातर लोग किसी न किसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए आते हैं. जिनकी जो भी मनोकामना होती है वो पूरी होती है. सबसे खास बात यह है कि भगवान की पूजा सदा ही फलदायी है. इनकी नियमित पूजा से योग्य संतान की प्राप्ति का सुख मिलता है.उन्होंने दावा कि यहां चार सौ वर्षों से मेला लगता चला आ रहा है.

.

Tags: Hindu Temple, Mirzapur news

FIRST PUBLISHED : March 27, 2023, 08:19 IST
अधिक पढ़ें