भाषा चुनें :

हिंदी

अटल जी का अस्थि कलश लेकर मनाली पहुंची बेटी नमिता, ब्यास में होगा विसर्जन

मनाली के प्रीणी में अटल जी का घर है. इसे वह अपना दूसरा घर मानते थे. यहां अक्सर आते थे.

News18Hindi |

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अस्थि कलश लेकर बेटी नमिता कौल भट्टाचार्य, दामाद रंजन भट्टाचार्य और निहारिका भट्टाचार्य निजी चार्टड विमान से दिल्ली से भुंतर पहुंचे. यहां पर प्रशासनिक अधिकारियों ने परिजनों की अगुवाई की.


भुंतर एयपोर्ट पर कुछ देर रुकने के बाद मनाली के लिए रवाना हुए. एयरपोर्ट से बाहर निकलने के बाद रंजन भट्टाचार्य ने कलश नमिता सौंपे. उसके बाद एसपीजी का काफिला भुंतर एयरपोर्ट से मनाली के लिए रवाना हुआ. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के परिवार को जेड प्लस सुरक्षा मिली है.


13 सितंबर को मनाली के बाहंग में व्यास नदी में अटल जी का अस्थि विर्सजन कार्यक्रम होगा. इसके लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर वीरवार सुबह मनाली पहुंचेंगे. इस दौरान प्रीणी के लोगों के आने की भी उम्मीद है. 14 सिंतबर को भुंतर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए पूरा लौटेगा.


मनाली था अटल जी का दूसरा घर

जानकारी के अनुसार, मनाली के प्रीणी में अटल जी का घर है. इसे वह अपना दूसरा घर मानते थे. यहां अक्सर आते थे. मनाली प्रवास के दौरान अटल जी ने कई कविताएं भी लिखी थी. अब मनाली में उनकी अस्थियां ब्यास में विसर्जित की जाएंगी.