भाषा चुनें :

हिंदी

VIDEO: किन्नौर में लैंडस्लाइडिंग, नेशनल हाईवे-05 बंद, काजा का संपर्क कटा

Landslide in Kinnaur: मंगलवार रात को किन्नौर में ही मूरंग तहसील के तहत रिस्पा गांव में अचानक चेरंग खड्ढ (River) में का जलस्तर बढ़ गया था और कुछ ही सेकेंड में खड्ढ में बाढ़ (Flood) ने भयंकर रूप धारण कर लिया. इससे पुल (Bridge) बह गया था.

किन्नौर में लैंडस्लाइड.

अरुण नेगी 


रिकॉन्गपिओ. हिमाचल प्रदेश में बारिश (Rain) से कई इलाकों में लोगों की परेशानी बढ़ी है. कई जगह लैंडस्लाइड हुए हैं और सड़कों पर आवाजाही प्रभावित हुई है. ताजा मामले में किन्नौर (Kinnaur) में लैंडस्लाइडिंग की घटना सामने आए है.


जानकारी के अनुसार, ताबो-काजा जाने वाले मार्ग पर मालिंग नाला में भारी चट्टान गिरने से राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 पूरी तरह से बंद हो गया है.मार्ग बाधित होने से यातायत पूरी तरह से थम गया है.



मार्ग खुलने में लगेगा वक्त


मालिंग नाला में राष्ट्रीय उच्च मार्ग के बंद होने से दोनों को सैकडों वाहन मार्ग खुलने की इंतजार में कतार में हैं. ऐसे में पूह के शलखर, चांगो, सुमरा सहित काजा क्षेत्र और सीमाओं की ओर जाने के लिएमार्ग पूरी तरह से अबरूद्ध हो चुकी है.


मालिंग नाला में भारी चट्टान गिरने से राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 पूरी तरह से बंद हो गया है.


पुख्ता सूत्रों की मानें तो मालिंग नाला में मार्ग बहाली में दो से तीन दिन का समय लग सकता है. क्योंकि चट्टान खिसकने का क्रम अभी भी जारी है. ऐसे में बीआरओ किसी प्रकार की जोखिम नहीं उठा रहा है. मार्ग के बाधित होने से काजा, शलखर, चांगो, सुमरा गांव के नकदी फसल मटर पर भी संकट खड़ा हो गया है. नाला को पार करने के लिए और कोई विकल्प भी नहीं है. ऐसे में मार्ग बहाली का इंतजार किया जा रहा है.


लगातार हो रहे लैंडस्लाइड


इससे पहले, मंगलवार रात को मूरंग तहसील के तहत रिस्पा गांव में अचानक रिस्पा के चेरंग खड्ढ में का जलस्तर बढ़ गया था और कुछ ही सेकेंड में खड्ढ में बाढ़ ने भयंकर रूप धारण कर लिया. बाढ़ ने रिस्पा का सड़क सम्पर्क मार्ग और खड्ढ के आसपास स्थित सेब के बगीचे भी तबाह कर दिया. इसके अलावा सतलज नदी पर बना अस्‍थाई पुल भी बह गया था.

bad weatherShimla