भाषा चुनें :

हिंदी

हिमाचल में कहां लापता हो गया पोलैंड का ब्रुनो, पिता भारत के लगा चुके हैं 12 चक्कर

हिमाचल की सुंदर वादियों में पोलेंड का 24 वर्षीय ब्रूनो कहां खो गया? वर्ष 2015 के अगस्त महीने में कुल्लू की पार्वती वैली में ट्रैकिंग पर निकला पोलिश युवक ब्रूनो का आज तक वापस नहीं लौटा.

News18Hindi |

हिमाचल की सुंदर वादियों में पोलेंड का 24 वर्षीय ब्रूनो कहां खो गया? वर्ष 2015 के अगस्त महीने में कुल्लू की पार्वती वैली में ट्रैकिंग पर निकला पोलिश युवक ब्रूनो का आज तक वापस नहीं लौटा. ब्रूनो को ढूंढ निकालने में मनाली पुलिस ने अपने हाथ खड़े कर दिए. पोलेंड के युवक ब्रूनो की 3 साल 9 माह पुरानी गायब होने की गुत्थी एक पहेली बनकर रह गई है. गायब युवक के पिता पियोतर मुशालिक 12 बार भारत आ चुके हैं, लेकिन जिगर के टुकड़े का कहीं पता नहीं लग पाया. वे हर बार भारत उम्मीद से आते हैं और निराशा से भरकर अपने वतन पोलैंड वापस लौटना पड़ रहा है.


मनाली पुलिस ने दो साल तक नहीं दर्ज की FIR


मनाली पुलिस की बेरुखी ने पीड़ित का दर्द कम करने की बजाय बढ़ाने का काम किया था. मनाली पुलिस ने दो साल तक ब्रूनो के लापता होने की एफआईआर तक दर्ज नहीं की. पीड़ित पिता के हिमाचल प्रदेश के हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद मनाली पुलिस ने दो साल बाद 2017 में ब्रूनो के गायब होने की प्राथमिकी दर्ज की, लेकिन युवक को ढूंढने में नाकाम रही. सीआईडी को मामला सौंपा गया लेकिन सीआईडी भी ब्रुनो को ढूंढने में नाकाम साबित हुई.


हाईकोर्ट ने ब्रूनो को ढूंढ निकालने के लिए एसआईटी गठित की. एसआईटी ने बीते 18 अप्रैल को बंद लिफाफे में रिपोर्ट पेश की, लेकिन पीड़ित के वकील अमित चौहान की मानें तो दिल्ली के पहाड़गंज में जिन तीन युवकों से ब्रूनो अगस्त 2015 में पहली बार मिला था, उनका पोलीग्राफ टेस्ट रिपोर्ट में ब्रूनो के बारे में कोई भी सुराग नहीं मिल पाया, जिसके चलते ब्रूनो को ढूंढ निकालना और मुश्किल हो गया है.


हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की अदालत में 13 जुलाई 2019 को मामले पर फिर सुनवाई होगी और एसआईटी ताजा स्टेटस रिपोर्ट पेश करेगी.


यह भी पढ़ें: VIDEO: पांवटा में सेना से रिटायर सैनिक का घर दबंगों ने जेसीबी लगवा कर तुड़वाया


VIDEO: हिमाचल बीजेपी अध्यक्ष सत्ती का घर बना पुलिस छावनी, राहुल के खिलाफ लगे नारे