Home / News / jharkhand /

solar light trap machine made by ramgarh krishi vigyan kendra will help farmers in no longer to use pesticides for their crops bruk

देसी जुगाड़ से बनी है यह खास मशीन, इसके इस्तेमाल से खेतों से दूर भागेंगे कीड़े; जानें कीमत

सोलर लाइट ट्रैप मशीन से रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में प्रत्येक दिन सैकड़ों कीड़ों को नष्ट किया जा रहा है, जो फसलों को नुकसान पहुंचाते थे.

सोलर लाइट ट्रैप मशीन से रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में प्रत्येक दिन सैकड़ों कीड़ों को नष्ट किया जा रहा है, जो फसलों को नुकसान पहुंचाते थे.

Jharkhand News: इस मशीन से रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में प्रत्येक दिन सैकड़ों कीड़ों को नष्ट किया जा रहा है, जो फसलों को नुकसान पहुंचाते थे. इससे यहां लगे फसलों पर कीटनाशक दवाओं का छिड़काव नहीं हो रहा है. अब किसान इसे अपने खेतों में लगाकर बिना कीटनाशक दवाओं के छिड़काव किए बेहतर फसल उगा सकते हैं.

हाइलाइट्स

कृषि वैज्ञानिकों ने सोलर आधारित सोलर लाइट ट्रैप मशीन को विकसित किया है.
इसे खेतों में कीड़ों को पकड़ने वाली मशीन भी कहा जा सकता है.
झारखंड के रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में इसका प्रयोग सफल रहा है.

रिपोर्ट- जावेद खान

रामगढ़. झारखंड सहित पूरे देश के किसानों के लिए एक अच्छी खबर है. अब किसानों के खेतों में लगे फसलों को कीड़ों से बचाने के लिए कीटनाशक दवाओं का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा. इसके लिए रामगढ़ के पलांडू के कृषि वैज्ञानिकों की टीम ने सोलर आधारित सोलर लाइट ट्रैप मशीन को विकसित किया है. इसके निर्माण पर 6 से 7 हजार रुपए  का खर्च पड़ रहा है. इसे खेतों में कीड़ों को पकड़ने वाली मशीन भी कहा जा सकता है.

इस मशीन से रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में प्रत्येक दिन सैकड़ों कीड़ों को नष्ट किया जा रहा है, जो फसलों को नुकसान पहुंचाते थे. इससे यहां लगे फसलों पर कीटनाशक दवाओं का छिड़काव नहीं हो रहा है. अब किसान इसे अपने खेतों में लगाकर बिना कीटनाशक दवाओं के छिड़काव किए बेहतर फसल उगा सकते हैं.

आपके शहर से (रामगढ़)

JSSC Recruitment 2022: JSSC में TGT, PGT के पदों पर अप्लाई करने की आज है अंतिम तिथि, इस Direct Link से जल्द करें आवेदन 

PHOTOS: 12 हजार न्यूजपेपर्स से बना ये मां दुर्गा का ईको फ्रैंडली पंडाल, लोग सेल्फी लेने को बेताब

शराब की लत के कारण पकड़ा गया शार्प शूटर, 8 माह से रांची पुलिस को दे रहा चकमा

'चुनाव आयोग का लिफाफा ऐसा चिपका कि खुल नहीं रहा', राज्यपाल रमेश बैस के जवाब पर छूटी हंसी

सट्टे के पैसे के लिए छात्रों ने उठाया खौफनाक कदम, पहले साथी को अगवा किया फिर मार डाला

झारखंड में लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी बीजेपी, सभी 14 सीट जीतने का रखा लक्ष्य

पावर कट के कारण 11 मिनट ठप रहा बोकारो स्टील प्लांट, करोड़ों के नुकसान की आशंका

Sarkari Naukri 2022: सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ साइकेट्री में इन पदों पर आवेदन करने के बचे हैं कुछ दिन, जल्द करें अप्लाई  

गिरिडीह में अपराधियों के हौसले बुलंद, जेलर से मांगी 2 करोड़ की रंगदारी, नहीं देने पर जान से मारने की धमकी

जब तक कर्मचारियों को वेतन नहीं..., झारखंड हाईकोर्ट ने तल्ख टिप्पणी कर IAS की रोकी सैलरी

Jharkhand: खूनी वर्चस्व की लड़ाई में JJMP का एरिया कमांडर विकास हुआ ढ़ेर 


जानें कैसे काम करता है यह देसी मशीन 

जानकारी के अनुसार सोलर आधारित यह मशीन तीन लेयर में बनाया गया है. पहले लेयर में सोलर प्लेट है, जो दिन भर सूर्य की रोशनी से इसे चार्ज करता है. अंधेरा होने पर इसमें लगे दो बल्ब स्वतः जल उठते हैं. दूसरे लेयर के एक डब्बे में मादा हारमोंस के गोली को रखा जाता है जिससे रात में घूमने वाले कीड़े मादा हारमोंस की सुगंध पर यहां आकर डब्बे के किनारे बैठते हैं. वहां बैठते ही कीड़े घिसककर सबसे नीचे तीसरे लेयर में पहुंच जाते हैं, जहां पहले से साबुन का घोल डाला रहता है. इस प्रकार फसलों के नुकसान होने से बचाया जा सकता है.


कृषि की लागत खर्च में आएगी कमी 

बताया जाता है कि इस मशीन से एक लिमिटेड मात्रा में कीटनाशकों का इस्तेमाल होगा जिससे पर्यावरण भी सुरक्षित होगा और खेती पर अनावश्यक लागत जो बढ़ रही है, वह भी बचेगी. रामगढ़ कृषि विज्ञान केंद्र में इसका प्रयोग सफल रहा है. रामगढ़ की कृषि विज्ञान मांडू कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी.डॉ दुष्यंत राघव ने बताया कि इस सोलर ड्रायर मशीन किसानों के लिए एक वरदान है. यह सिर्फ 6 से 7 हजार रुपये में उपलब्ध हो सकेगा. किसान उमेश ने बताया कि यह फसलों को कीड़ों से बचाने में काफी मददगार होगा. साथ ही फसलों को कीड़ों से बचाने के लिए रसायन के छिड़काव से भी किसानों को मुक्ति मिलेगी.

Tags:Indian Farmers, Jharkhand news, Ramgarh news

अधिक पढ़ें