Home / News / jharkhand /

hemant soren government will assess the drought in jharkhand preparing the report to send central government bruk

झारखंड में सुखाड़ का आकलन करेगी हेमंत सोरेन सरकार, रिपोर्ट बनाकर केंद्र को भेजने की तैयारी तेज

राज्य सरकार ने मॉनसून की स्थिति और किसानों की परेशानियों को देखते हुए सुखाड़ की स्थिति के आकलन का फैसला लिया है.

राज्य सरकार ने मॉनसून की स्थिति और किसानों की परेशानियों को देखते हुए सुखाड़ की स्थिति के आकलन का फैसला लिया है.

Jharkhand News: इस बार राज्य भर में सामान्य से कम बारिश हुई है. विभाग की ओर से कहा गया है कि राज्य में तीन से चार अगस्त तक करीब 538 मिमी बारिश होनी चाहिए थी. लेकिन इस बार 282 मिमी ही बारिश हो पायी है. जिस वजह से कई इलाकों में धान की रोपनी तक नहीं हो पायी है. किसानों के लगाये गये बिचड़े खेतों में ही बर्बाद हो चुके हैं.

हाइलाइट्स

मॉनसून की बेरुखी और सुखाड़ का सामना कर रहे झारखंड के किसानों के लिए राहत भरी खबर है.
राज्य में 3 से 4 अगस्त तक करीब 538 मिमी बारिश होनी चाहिए थी. लेकिन इस बार 282 मिमी ही बारिश हो पायी.
वरीय पदाधिकारी सभी 24 जिलों में जाकर सुखाड़ की स्थिति का आकलन कर रिपोर्ट तैयार करेंगे.

रांची. मॉनसून की बेरुखी और सुखाड़ का सामना कर रहे झारखंड के किसानों के लिए राहत भरी खबर है. पशुपालन एवं सहकारिता विभाग ने राज्यभर में सुखाड़ की स्थिति का आकलन कराने का फैसला किया है. इसको लेकर वरीय अधिकारियों को जिम्मेदारी और जवाबदेही तय की गयी है. राज्य के वरीय पदाधिकारी सभी 24 जिलों में जाकर सुखाड़ की स्थिति का आकलन कर रिपोर्ट तैयार करेंगे.

दरअसल राज्य सरकार ने मॉनसून की स्थिति और किसानों की परेशानियों को देखते हुए सुखाड़ की स्थिति के आकलन का फैसला लिया है. राज्य के वरीय पदाधिकारी एक-एक प्रखंडों और जिलों में जाकर सुखाड़ की स्थिति का जायजा लेंगे. इसको लेकर बकायदा फोटो और वीडियोग्राफी के माध्यम से आकलन कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी. इस रिपोर्ट को 10 अगस्त तक विभाग को सौंपने का निर्देश दिया गया है. रिपोर्ट के आधार पर राज्य सरकार केंद्र से राहत पैकेज की मांग करेगी.

झारखंड में सामान्य से कम हुई वर्षा 

आपके शहर से (रांची)

सट्टे के पैसे के लिए छात्रों ने उठाया खौफनाक कदम, पहले साथी को अगवा किया फिर मार डाला

JSSC Recruitment 2022: JSSC में TGT, PGT के पदों पर अप्लाई करने की आज है अंतिम तिथि, इस Direct Link से जल्द करें आवेदन 

शराब की लत के कारण पकड़ा गया शार्प शूटर, 8 माह से रांची पुलिस को दे रहा चकमा

गिरिडीह में अपराधियों के हौसले बुलंद, जेलर से मांगी 2 करोड़ की रंगदारी, नहीं देने पर जान से मारने की धमकी

जब तक कर्मचारियों को वेतन नहीं..., झारखंड हाईकोर्ट ने तल्ख टिप्पणी कर IAS की रोकी सैलरी

Jharkhand: खूनी वर्चस्व की लड़ाई में JJMP का एरिया कमांडर विकास हुआ ढ़ेर 

पावर कट के कारण 11 मिनट ठप रहा बोकारो स्टील प्लांट, करोड़ों के नुकसान की आशंका

Sarkari Naukri 2022: सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ साइकेट्री में इन पदों पर आवेदन करने के बचे हैं कुछ दिन, जल्द करें अप्लाई  

PHOTOS: 12 हजार न्यूजपेपर्स से बना ये मां दुर्गा का ईको फ्रैंडली पंडाल, लोग सेल्फी लेने को बेताब

'चुनाव आयोग का लिफाफा ऐसा चिपका कि खुल नहीं रहा', राज्यपाल रमेश बैस के जवाब पर छूटी हंसी

झारखंड में लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी बीजेपी, सभी 14 सीट जीतने का रखा लक्ष्य


आपको बता दें कि इस बार राज्य भर में सामान्य से कम बारिश हुई है. विभाग की ओर से कहा गया है कि राज्य में तीन से चार अगस्त तक करीब 538 मिमी बारिश होनी चाहिए थी. लेकिन इस बार 282 मिमी ही बारिश हो पायी है. जिस वजह से कई इलाकों में धान की रोपनी तक नहीं हो पायी है. किसानों के लगाये गये बिचड़े खेतों में ही बर्बाद हो चुके हैं.


इन जिलों में 8 से 10 अगस्त तक बारिश के आसार 

चतरा, गोड्डा, जामताड़ा, साहिबगंज, गढ़वा और पाकुड़ समेत यानि पलामू और संथाल के जिलों की हालत ज्यादा खराब है. हालांकि मौसम विभाग ने जो पूर्वानुमान जारी किया है. उसके मुताबिक आठ से 10 अगस्त तक राज्यभर में भारी बारिश की संभावना है. इसको लेकर मौसम विभाग की ओर से येलो अलर्ट जारी किया गया है. बताया गया है कि बंगाल की खाड़ी में साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण ऐसा हो रहा है. हालांकि मौसम विभाग ने लोगों को सतर्क रहने को कहा है.

यहां भी हो सकती है बारिश 

मौसम विज्ञान केंद्र रांची के अनुसार आठ अगस्त को राज्य के पूर्वी सिंहभूम, प सिंहभूम, सरायकेला खरासावां, धनबाद, जामताड़ा, दुमका, पाकुड़ और संथाल के दूसरे जिलों में कहीं कहीं भारी बारिश की आशंका है. वहीं 9 और 10 अगस्त को पूर्वी सिंहभूम, प सिंहभूम, सिमडेगा, खूंटी, रांची और लोहरदगा में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गयी है.

Tags:Drought, Hemant soren government, Jharkhand news

अधिक पढ़ें