Home / News / jharkhand /

jharkhand congress mla on the radar of congress high command delhi and sonia gandhi vidhayak being monitored bruk

Jharkhand: आलाकमान के रडार पर कांग्रेस विधायक, तीसरी आंख से रखी जा रही है नजर

कांग्रेस विधायकों को एक जुट रखने के लिये प्रदेश के कई नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

कांग्रेस विधायकों को एक जुट रखने के लिये प्रदेश के कई नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है.

Jharkhand News: झारखंड कांग्रेस के विधायकों पर तीसरी आंख से भी नजर रखी जा रही है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की ने कहा कि सबको अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी ताजा हालात के बारे में जानकारी दे दी गई है. कांग्रेस विधायक एक जुट है, पर संगठन अपने स्तर पर जरूर नजर बनाए हुए है .

हाइलाइट्स

झारखंड कांग्रेस कैश कांड में फंसे तीन विधायकों के मामले को गहरी साजिश के तौर पर देख रही है.
कांग्रेस विधायकों को एक जुट रखने के लिये प्रदेश के कई नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है.
झारखंड में कांग्रेस विधायकों की जासूसी हो रही है.

रांची. झारखंड में कांग्रेस के विधायक संगठन के रडार पर है. ऑपरेशन कमल की संभावना को देखते हुए कांग्रेस के विधायकों पर तीसरी आंख से भी निगहबानी की जा रही है. इतना ही नहीं कांग्रेस विधायकों को एक जुट रखने के लिये प्रदेश के कई नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है. कैश कांड में कांग्रेस के तीन विधायकों के फंसने के बाद का ये ताजा राजनीतिक हालात है .

झारखंड में कांग्रेस विधायकों की जासूसी हो रही है. ऐसा कोई और नहीं कांग्रेस संगठन के द्वारा ही किया जा रहा है. इसके तहत कौन विधायक कहां है? कौन विधायक राज्य से बाहर है? राज्य से बाहर जाने की वजह क्या है? राज्य के बाहर जाने वाले विधायक ने प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता को जानकारी दी है या नहीं ? ये सब कुछ अब प्रदेश कांग्रेस के नजर में है. अपने ही विधायकों की निगहबानी के लिये कई बड़े नेताओं को जिम्मेदारी भी दी गई है.

इतना ही झारखंड कांग्रेस के विधायकों पर तीसरी आंख से भी नजर रखी जा रही है. कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की ने कहा कि सबको अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी ताजा हालात के बारे में जानकारी दे दी गई है. कांग्रेस विधायक एक जुट है, पर संगठन अपने स्तर पर जरूर नजर बनाए हुए है .

आपके शहर से (रांची)

सट्टे के पैसे के लिए छात्रों ने उठाया खौफनाक कदम, पहले साथी को अगवा किया फिर मार डाला

500 साल पुराने मंदिर का चमत्कार! नीम के पेड़ में पत्थर बांधने से पूरी होती है हर मन्नत

शराब की लत के कारण पकड़ा गया शार्प शूटर, 8 माह से रांची पुलिस को दे रहा चकमा

झारखंड के पलामू में शर्मनाक वारदात, पति के सामने महिला से 6 लोगों ने किया गैंगरेप, सभी गिरफ्तार

पाम ऑयल से भरा टैंकर सड़क पर पलटा तो तेल लूटने की मच गई होड़, बाल्टी बर्तन लेकर दौड़े ग्रामीण

Video: इस अनोखी तितली से मची दहशत! कोई मान रहा वनदेवी तो कोई शैतान का स्वरूप!

शारदीय नवरात्र पर रांची का देवी दर्शन धाम बना आकर्षण का केन्द्र, 1111 कलश की स्थापना

पावर कट के कारण 11 मिनट ठप रहा बोकारो स्टील प्लांट, करोड़ों के नुकसान की आशंका

गिरिडीह में अपराधियों के हौसले बुलंद, जेलर से मांगी 2 करोड़ की रंगदारी, नहीं देने पर जान से मारने की धमकी

Sarkari Naukri 2022: सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ साइकेट्री में इन पदों पर आवेदन करने के बचे हैं कुछ दिन, जल्द करें अप्लाई  

झारखंड में डायन बताकर 3 महिला समेत 4 को जबरन पिलाया मैला, पिटाई कर गर्म लोहे से शरीर को दागा


दरअसल झारखंड में ऑपरेशन कमल की संभावना को लेकर कांग्रेस अलर्ट मोड में है. एक तरफ जहां विधायकों पर नजर रखी जा रही है. वहीं दूसरी तरफ सांगठनिक कार्यक्रम में उपस्थिति और सफलता के लिये विधायकों को टास्क सौंपा गया है. कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने बताया कि झारखंड में 9 से 14 अगस्त तक कांग्रेस ने पदयात्रा का कार्यक्रम तय किया है. ये पदयात्रा हर जिले में कम से कम 75 किमी करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. मतलब साफ है कि कांग्रेस के विधायक अब इस पदयात्रा की सफलता में अपनी ताकत और संगठन के प्रति ईमानदारी साबित करने के लिये सड़क पर नजर आएंगे .


झारखंड कांग्रेस कैश कांड में फंसे तीन विधायकों के मामले को गहरी साजिश के तौर पर देख रही है . कांग्रेस इस बात कि पड़ताल करने में जुटी है कि इस षड्यंत्र में और कौन – कौन विधायक शामिल था . भविष्य में पार्टी के अंदर किसी भी तरह की टूट को रोकने के लिये एक साथ कई मोर्चे पर कांग्रेस ने अपनी ताकत झोंक दी है .


Tags:Jharkhand Congress, Jharkhand news, Ranchi news

अधिक पढ़ें