Home / News / lifestyle /

the first natural museum in up is being built in lucknow where extinct animals will be kept on display

लखनऊ में बन रहा है UP का पहला प्राकृतिक म्यूजियम,जहां डिस्प्ले में रखे जाएंगे विलुप्त हो चुके जानवर

लखनऊ के चिड़ियाघर में स्टेट म्यूजियम के ठीक पीछे बन रहा है नया म्यूजियम.जो कि 2 एकड़ में बनाया जा रहा है और करीब 22 करोड़ की लागत से इसे बनाया जा रहा है.इस म्यूजियम की खासियत यह होगी कि इस म्यूजियम में विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके जानवरों के प्रिजर्व किए हुए यानी केमि

रिपोर्ट :अंजलि सिंह राजपूत


लखनऊ में उत्तर प्रदेश का पहला ऐसा म्यूजियमबन रहा है जहां पर डिस्प्ले में नकली नहीं बल्कि असली जानवरों को रखा जाएगा.जी हां लखनऊ के चिड़ियाघर में स्टेट म्यूजियम के ठीक पीछे बन रहा है नया म्यूजियम.जो कि 2 एकड़ में बनाया जा रहा है और करीब 22 करोड़ की लागत से इसे बनाया जा रहा है.इस म्यूजियम की खासियत यह होगी कि इस म्यूजियम में विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके जानवरों के प्रिजर्व किए हुए यानी केमिकल लगे शरीर को डिस्प्ले में रखा जाएगा.वहां पर आने वालों को उसकी जानकारी भी दी जाएगी.

पांच गैलरी होंगी

आपके शहर से (लखनऊ)

Lucknow: आखिर क्यों भूल भुलैया की ऐतिहासिक गैलरी हो गई खामोश? 3 साल से रहस्यमयी आवाज बनी सपना

सोनेलाल की जयंती पर दो बहनों में खींचतान, लखनऊ पुलिस की हिरासत में MLA पल्लवी पटेल समेत कई नेता

UPSSSC PET 2022: यूपी में किन-किन पदों के लिए अनिवार्य है यूपीएसएसएससी पीईटी परीक्षा ? जानें यहां

UP में चुने गए 133 असिस्टेंट प्रोफेसर ने नहीं किया ये काम तो निरस्त होगा चयन

अखिलेश यादव ने किया डॉ. कफील की किताब का विमोचन, पढ़ें- 'गोरखपुर अस्पताल त्रासदी'

UPSESSB TGT PGT Sarkari Naukri 2022: यूपी में सरकारी शिक्षक बनने का सुनहरा मौका, आवेदन करने की कल आखिरी डेट

UP: योगी सरकार ने किया 21 IPS अफसरों के तबादले, बदले गए प्रयागराज के पुलिस कप्तान

Lucknow News: यूपी बोर्ड के छात्रों से मिले सपा प्रमुख अखिलेश यादव, टॉपर्स को बांटे लैपटॉप

बीजेपी सांसद निरहुआ ने सपा को बताया 'समाप्तवादी पार्टी', कहा- मुगलों की नीति पर चल रहे हैं अखिलेश

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शुभारंभ करने जालौन आएंगे पीएम मोदी और सीएम योगी, अधिकारियों ने भगवामय किया माहौल

समाजवादी पार्टी में बड़े बदलाव की तैयारी में अखिलेश, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सहित सभी संगठन और प्रकोष्ठ किए भंग


इस म्यूजियम में 5 गैलरी होंगी.तीन फ्लोर होंगे.डायनासोर का भी यहां पर डेमो लगाया जाएगा ताकि बच्चों को किताबों के अलावा भी जानकारी मिल सके.डायनासोर असली में कैसा दिखता था और उसकी क्या खासियत थी.इसके अलावा जो बच्चे देख नहीं सकते, बोल नहीं सकते और सुन नहीं सकते उनके लिए टच एंड फील कार्यक्रम का आयोजन कराया जाएगा.जिसके जरिए बच्चों को सभी जानवरों के शरीर को छुआ कर जानकारी दी जाएगी कि कौन सी स्किन किस जानवर की है.


2023 में शुरू हो जाएगा

स्टेट म्यूजियम के निदेशक आनंद कुमार सिंह ने बताया कि यह स्टेट म्यूजियम 2019 में प्रस्तावित हुआ था और करीब मार्च 2023 तक इसे बनाकर तैयार कर लिया जाएगा और पब्लिक के लिए खोल दिया जाएगा.तैयारियां जोरों पर चल रही है.उन्होंने बताया कि यह करीब 22 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा है.यह खुद में एक अनोखा और इतिहास का ऐसा पहला म्यूजियम होगा जहां पर असली जानवरों के सुरक्षित किए हुए शरीर को रखा जाएगा.अभी असली जानवरों की केमिकल लगे हुए शरीर को स्टेट म्यूजियम की एक गैलरी में रखा गया है.