लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबफूडविधानसभा चुनावमनोरंजनफोटोकरियर/ जॉब्सक्रिकेटलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नरMission Swachhta Aur Paani#RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrencyNetra Suraksha
होम / न्यूज / जीवन शैली /

आंख बंद कर किसी भी योगासन को न करें हार्ट पेशेंट, योग एक्‍सपर्ट की राय, बढ़ सकती है परेशानी

आंख बंद कर किसी भी योगासन को न करें हार्ट पेशेंट, योग एक्‍सपर्ट की राय, बढ़ सकती है परेशानी

योग चिकित्‍सक डॉ. बालमुकुंद कहते हैं कि योगासन और प्राणायाम हमेशा ही फायदेमंद हैं बशर्ते उनके नियमों का ध्‍यान रखा जाए लेकिन अगर शरीर में कोई रोग या बीमारी है तो कुछ योगासन या प्राणायाम शरीर पर नकारात्‍मक असर भी डाल सकते हैं. यही वजह है कि दिल की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को भी कुछ योगासन और प्राणायाम न करने की सलाह दी जाती है.

world Heart Day 2022: हार्ट पेशेंट के लिए योगासन फायदेमंद हैं लेकिन कुछ योगासन नुकसान भी पहुंचा सकते हैं.

world Heart Day 2022: हार्ट पेशेंट के लिए योगासन फायदेमंद हैं लेकिन कुछ योगासन नुकसान भी पहुंचा सकते हैं.

हाइलाइट्स

योगासन दिल और दिल की बीमारी के मरीजों के लिए रामबाण दवा की तरह काम करते हैं.
योग विशेषज्ञों की मानें तो कुछ योगासन हार्ट पेशेंट के लिए नुकसानदेह भी हो सकते हैं.
हार्ट के मरीजों को योगासन या प्राणायाम करते हुए विशेषज्ञ की सलाह जरूर लेनी चाहिए.

नई दिल्‍ली. हार्ट संबंधी परेशानियों से जूझ रहे लोगों को योगासन और प्राणायाम करने की सलाह दी जाती है. इनसे न केवल दोबारा हार्ट अटैक का खतरा कम होता है बल्कि जिन्‍हें हार्ट अटैक जैसी परेशानी हो चुकी है उनका रक्‍त प्रवाह यानि ब्‍लड फ्लो ठीक करने, उच्‍च रक्‍तचाप, शुगर, मोटापा आदि को कम करने में योगासन और प्राणायाम काफी प्रभावी होते हैं. कई शोध और रिसर्च में भी ये बात सामने आ चुकी है कि रोजाना हल्‍का व्‍यायाम, योगासन और प्राणायाम करने से हार्ट के मरीजों के शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी मदद मिलती है.

एसएम योग रिसर्च इंस्‍टीट्यूट एंड नेचुरोपैथी अस्‍पताल इंडिया के सचिव और शांति मार्ग द योगाश्रम अमेरिका के फाउंडर व सीईओ योगगुरु डॉ. बालमुकुंद शास्‍त्री कहते हैं क‍ि योग चिकित्‍सा की पद्धति है जो रोगों को आने से तो रोकती ही है, बड़े से बड़े रोगों को काट भी देती है. हार्ट की समस्‍या भी उन्‍हीं गंभीर बीमारियों में से एक है. हालांकि योगासनों के अभ्‍यास से दिल संबंधी रोगियों को भी काफी आराम मिलता है. कई ऐसे योगासन हैं जिनसे खून को पतला करने और ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर और सुचारू करने में मदद मिलती है. हालांकि कुछ ऐसे भी योगासन और प्राणायाम हैं जिन्‍हें दिल के रोगियों को नहीं करना चाहिए. अगर जाने-अनजाने इनका अभ्‍यास किया जाता है तो ये दिल के लिए मुसीबत पैदा कर सकते हैं.

दिल के मरीजों के लिए ये योगासन हैं निषेध
डॉ. बालमुकुंद कहते हैं कि योगासन और प्राणायाम हमेशा ही फायदेमंद हैं बशर्ते उनके नियमों का ध्‍यान रखा जाए लेकिन अगर शरीर में कोई रोग या बीमारी है तो कुछ योगासन या प्राणायाम शरीर पर नकारात्‍मक असर भी डाल सकते हैं. यही वजह है कि दिल की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को भी कुछ योगासन और प्राणायाम न करने की सलाह दी जाती है. योग विशेषज्ञों की मानें तो कुछ योगासन हार्ट पेशेंट के लिए पूरी तरह निषेध हैं, इन्‍हें करने पर फायदे के बजाय नुकसान की संभावना रहती है. लिहाजा दिल के मरीजों को इन्‍हें करने से बचना चाहिए.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्‍ली महिला आयोग की काउंसलर पर हमला, रिक्‍शे से बाहर खींचकर घसीटा

MCD Election: आनंद निकेतन से बीजेपी की कैंडिडेट राजरानी ने कहा जनता का फुल सपोर्ट हमारे साथ

Delhi MCD Election: सुभाष मोहल्ला वार्ड में मतदाता लिस्ट में 700 में से 432 ग़ायब | Hindi News

Delhi MCD Election: AAP नेता Saurabh Bhardwaj ने डाला वोट, कहा काम करने वालों को चुनेगी जनता

MCD Elections 2022: चुनाव में करीब 50% मतदान, बीजेपी-आप कर रहीं अपनी-अपनी जीत के दावे

MCD Election Voting: BJP प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने पत्नी के साथ डाला वोट, कहा चौथीं बार होगी जीत

सुपर-21 मिशन करा रहा NEET और IIT जेईई की मुफ्त कोचिंग, जानें कब है चयन परीक्षा

Delhi MCD Voting: 50 फीसदी हुई वोटिंग, मतदान प्रक्रिया खत्म, EVM में कैद हुई 1349 उम्मीदवारों की किस्मत

यूपी उपचुनाव को लेकर केंद्रीय मंत्री बीएल वर्मा का दावा- मैनपुरी की जनता लेगी सपा की गुंडई का बदला

Delhi Air Pollution: दिल्ली में फिर बिगड़ी हवा, GRAP की स्टेज 3 लागू, निर्माण कार्यों पर लगी रोक

Delhi MCD Election: दिल्ली के मतदान केंद्र से 'BJP के वादे VS AAP के वादे' |Latest Hindi News


  • . जिन भी आसनों में ब्‍लड का सर्कुलेशन हार्ट या ब्रेन की तरफ आता है ऐसे योगासनों को निषेध बताया गया है. लिहाजा आगे की ओर झुकने वाले योगासनों से परहेज करें.. बहुत ज्‍यादा दवाब वाले आसनों से बचें.. पैरों को ऊपर उठाकर करने वाले आसन भी हार्ट पेशेंट की मुसीबत बढ़ा सकते हैं.. उत्‍तानपादासन, शीर्षासन, हलासन, सेतुबंधासन, पादहस्‍तासन, समकोणासन, शशांकासन, पश्चिमोत्‍तासन, कर्णपीड़ासन, सूर्य नमस्‍कार, विशेषज्ञ के निर्देशन में ही कर सकते हैं, शलभासन, फलकासन, पर्वतासन न करें.

दिल के मरीज कर सकते हैं ये योगासन
डॉ. बालमुकुंद कहते हैं क‍ि भुजंगासन, वृक्षासन, त्रिकोणासन, ताड़ासन, कटिचक्रासन, अधर्चक्रासन, गौमुखासन, वज्रासन, अर्धमक्षेन्‍द्रासन, वक्रासन, उष्‍ट्रासन, मरकटासन, नौकासन, शवासन, मत्‍स्‍यासन, तिर्यक भुजंगासन, मकरासन आदि को दिल के मरीज कर सकते हैं. ये फायदेमंद हैं.

  • ये प्राणायाम हैं फायदेमंद
    . डॉ. शास्‍त्री कहते हैं कि नाक की बाईं ओर से शुरुआत करते हुए अनुलोम विलाम कर सकते हैं.. भ्रामरी मन को शांत रखता है, इसे भी कर सकते हैं..चंद्रभेदी प्राणायाम बेहद फायदेमंद है. इसे नियमित रुप से करें. शीतली और शीतकारी भी कर सकते हैं अगर हाई बीपी की समस्‍या है.. ध्‍यान और माला पर मंत्र का अभ्‍यास भी कारगर है.
  • भूलकर भी न करें कपालभाति और भस्त्रिका
    . कपालभाति प्राणायाम ब्‍लड प्रेशर को बढ़ाता है, लिहाजा इससे परहेज करें.. दिल के मरीज सूर्यभेदी प्राणायाम न करें.. भष्त्रिका प्राणायाम भी नुकसानदेह हो सकता है.

योगाभ्‍यास के अलावा खाने पीने का रखें ध्‍यान
डॉ. बालमुकुंद कहते हैं योगाभ्‍यास तो काफी जरूरी है ही इसके अलावा खान-पान का भी ध्‍यान रखना जरूरी है. कोलेस्‍ट्रोल को बढ़ाने वाले और कैलोरी वाले भोजन से बचें. हाई-फाइबर वाली डाइट लें. लहसुन, अदरक, हल्‍दी और चुकंदर का इस्‍तेमाल जरूर करें ये सभी चीजें हार्ट पेशेंट के खून को पतला करने में कारगर हैं. इससे भविष्‍य में हार्ट की समस्‍या होने का खतरा कम होता जाता है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Heart attack, Heart Disease, World Heart Day

FIRST PUBLISHED : September 29, 2022, 14:47 IST
अधिक पढ़ें