भाषा चुनें :

हिंदी

LoveSexaurDhokha: उसने जो-जो कहा था, एक-एक बात गलत निकली

दिल्ली की लड़की की मुलाकात गुड़गांव के लड़के से हुई और बात शादी तक पहुंची तो लड़की ने तसल्ली के लिए तफ्तीश करवाई. बात खुली लड़का एक के एक बाद झूठ देकर एक जाल बिछा रहा था. जासूस के अनुभवों पर विशेष सीरीज़ ‘लव सेक्स और धोखा’.

News18Hindi |

एक जासूस सिर्फ अपराध की तहकीकात ही नहीं करता बल्कि वह इंसानी मन और ज़िंदगी की परतों को भी टटोलता है. अपने पेशे में एक जासूस सामान्य दिखने वाले लोगों और रिश्तों के उन रहस्यों का पर्दाफाश करता है जो किसी जुर्म को बुन रहे होते हैं. hindi.news18.com की इस विशेष सीरीज़ में एक जासूस की ज़बानी रिश्तों में जुर्म की कहानी.


#LoveSexaurDhokha: दौलत के लिए शादीशुदा मर्द पर चलाया 'जादू'


रिश्तेदारों या दोस्तों के ज़रिये नहीं बल्कि इंटरनेट के ज़रिये अनन्या की मुलाकात सुदीप्तो से हुई क्योंकि दोनों शादी करने के लिए साथी तलाश रहे थे. शादी से पहले दोनों ज़्यादा नहीं मिले लेकिन फोन पर लगातार बातचीत होती रही. एक छोटी सी बात शक बनती चली गई और इस मामूली सी बात पर शक के चलते खुलासा हुआ कि सुदीप्तो एक नहीं बल्कि एक के बाद एक झूठ बोलकर फरेब कर रहा था.


#LoveSexaurDhokha: 'उसने सेक्स के लिए मना किया तो अरेस्ट करवा दिया'


दिल्ली के एक अमीर और इज़्ज़तदार बंगाली परिवार की लड़की अनन्या के लिए जब शादी की बातचीत शुरू हुई तो पहले अनन्या से पूछा गया कि उसे अगर कोई लड़का पसंद है तो वह बताए. कॉलेज की पढ़ाई और एक अच्छा जॉब मिल जाने के बावजूद अनन्या की ज़िंदगी में अब तक ऐसा कोई लड़का नहीं आया था जिसे वह इस तरह पसंद कर सके कि शादी कर ले. उसने परिवार से कुछ समय मांगा.


इसी बीच इंटरनेट पर सक्रिय अनन्या ने अपना एक प्रोफाइल रिश्ते जोड़ने वाली एक वेबसाइट पर बना दिया था. अनन्या कुछ लड़कों के प्रोफाइल देखा करती थी. कुछ ही दिन बाद अनन्या को इस वेबसाइट के ज़रिये एक प्रपोज़ल मिला और उसने उस लड़के का प्रोफाइल चेक किया तो देखा कि लड़का दिखने में हैंडसम था और नाम के हिसाब से वह भी बंगाली परिवार का था. यह प्रोफाइल था सुदीप्तो का.




अनन्या ने सुदीप्तो का प्रपोज़ल एक्सेप्ट किया और दोनों के बीच चैटिंग पर बातचीत शुरू हुई. शुरुआती बातचीत दिलचस्प थी इसलिए बात आगे बढ़ी और दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक्सचेंज किए. सुदीप्तो ने बताया कि वह गुड़गांव की एक मल्टीनेशनल कंपनी में अच्छे ओहदे पर जॉब करता है और उसका परिवार कोलकाता में ही रहता है. अनन्या खुद वर्किंग थी और दिल्ली में रहती थी इसलिए मुलाकात करने में काफी वक्त लग रहा था.


आखिरकार एक दिन अनन्या और सुदीप्तो की पहली मीटिंग हुई. दोनों दिल्ली के एक पॉश कैफे में मिले और वहां दो घंटे की बातचीत के दौरान दोनों ने अपने बारे में एक दूसरे को बताया. अनन्या ने कहा कि वह आज़ाद खयालों की लड़की है और शादी के बाद अपने काम से कोई समझौता नहीं करेगी. उसने यह भी कहा कि वह उसे ज़्यादा बंदिशें और रीति रिवाजों में पड़ना भी पसंद नहीं है.


सुदीप्तो उसकी हर बात पर हामी भर रहा था और किसी बात पर कोई ऐतराज़ नहीं था. यह थोड़ा अजीब था. इसके बाद सुदीप्तो ने बताया कि वह पिछले कुछ सालों से एक बड़ी आईटी कंपनी के साथ अच्छी पोस्ट पर काम कर रहा है और वह भी आज़ाद खयालों का लड़का है. उसने अपनी सैलरी बताते हुए कहा कि सालाना 50 लाख का पैकेज है. फिर दोनों ने अपनी हॉबीज़ और परिवार के बारे में बातचीत भी की.


साथ में कॉफी और स्नैक्स वगैरह चलते रहे. आखिर में बिल देने की बात पर सुदीप्तो ने ज़िद करते हुए बिल पे किया और फिर दोनों पार्किंग में गए. दोनों अपनी अपनी कार की तरफ जाने से पहले गुडबाय कहने लगे तो अनन्या ने सुदीप्तो की छोटी कार देखकर कहा कि 'तुम अच्छी कार अफोर्ड कर सकते हो तो ये छोटी कार क्यों?' इस पर सुदीप्तो ने फ्लर्ट करते हुए जवाब दिया - 'अकेला हूं इसलिए यही काफी है. तुम या तुम जैसी कोई जब साथ आ जाएगी तो खुशियों के साथ कार भी बड़ी हो जाएगी.'


अनन्या मुस्कुराकर रह गई और दोनों अपने अपने रास्ते चले गए. कुल मिलाकर पहली मुलाकात अच्छी और दिलचस्प थी. इसके बाद दोनों के बीच फोन पर लगातार बातचीत चलती रही और करीब एक महीने बाद जब बात शादी तक पहुंचना थी तब अनन्या ने सुदीप्तो से कहा कि वह एक कॉन्फ्रेंस के सिलसिले में कुछ दिनों के लिए मुंबई जा रही है और लौटकर परिवार के साथ इस बारे में बात करेगी. फिर दोनों के परिवार के बीच मीटिंग फिक्स करेंगे.




इस दौरान अनन्या के मन में कुछ सवाल लगातार घूम रहे थे. उसने अब तक जब भी सुदीप्तो से वीडियो कॉल पर बात की थी तो वह किसी भी वक्त आॅफिस में नहीं दिखा था. हमेशा मॉल या रोडसाइड या किसी कैब में था. दूसरी बात यह कि अनन्या अपने परिवार के सामने किसी भी लड़के को पेश करने से पहले खुद पूरी तसल्ली कर लेना चाहती थी. अनन्या के एक दोस्त ने पहले उसे इस तरह के किसी अफेयर के बारे में बताते हुए प्राइवेट डिटेक्टिव का ज़िक्र किया था सो उसके ज़ेहन में यह बात थी.


अनन्या ने हमें अप्रोच किया और सुदीप्तो की निगरानी करने की डिमांड की. उसे कोई खास शक नहीं था बस वह पूरी तसल्ली कर लेना चाहती थी. उसने हमें उसके आॅफिस का एड्रेस दिया और उसका नंबर. उसका एक फोटो भी. अब हमारी टीम ने अगले दिन गुड़गांव में सुदीप्तो के आॅफिस टाइम से पहले ही वहां पहुंचकर सुदीप्तो को ट्रेस करना शुरू किया. सुदीप्तो के घर का ठीक पता चूंकि अनन्या को पता नहीं था इसलिए उसके आॅफिस से ही उसको फॉलो किया जा सकता था.


सुदीप्तो एक कैब से आॅफिस पहुंचा हालांकि अनन्या ने उसकी कार का नंबर हमें दिया था. वह पूरे दिन आॅफिस में ही रहा और लंच के लिए कुछ कलीग्स के साथ बाहर निकला था. फिर शाम को आॅफिस टाइम के बाद वह मोबाइल फोन पर बात करता हुआ पास के ही एक रोडसाइड स्टॉल पर पहुंचा. उसने पहले एक सिगरेट जलाई और अपने दो कलीग्स के साथ बातें करता रहा. इसके बाद उसके कलीग्स चले गए और उसने उस स्टॉल से एक पान लेकर खाया.


इस बीच उसने कैब बुक कर ली थी और वह पान खाकर उस कैब से चला गया. हमारी टीम ने उसे फॉलो करना जारी रखा. हमें उसके पान खाने से शक हुआ था कि एक मल्टीनेशनल कंपनी में बड़े ओहदे पर काम करने वाला अफसर यह आदत कैसे पाल सकता है. हमने अनन्या से इस बारे में पूछा तो उसने ऐसी कोई जानकारी न होने की बात कही. अब हमें एक शक था जो हो सकता था कि बेबुनियाद निकले लेकिन हमने उसे फॉलो किया.


सुदीप्तो ने अनन्या को एक पॉश कॉलोनी में बड़े फ्लैट में रहने की बात बताई थी लेकिन फॉलो करने के बाद हम जिस जगह रुके थे वह कोई पॉश कॉलोनी नहीं थी बल्कि एक घनी बसी और सामान्य से कॉलोनी नज़र आ रही थी. यहां कैब छोड़कर सुदीप्तो गलियों में पैदल जाने लगा. कुछ दूर जाकर वह फिर एक दुकान पर रुका और एक पैकेट लेकर एक बिल्डिंग में चला गया. हमने उस दुकान वाले से पूछताछ करना चाही.




उस दुकान वाले ने सुदीप्तो के बारे में बड़ी खुशी से बताया कि वह रोज़ 15 से 20 पान पैक करवाता है और उसका रूटीन ग्राहक है. यह भी कि उस पर उस दुकान वाले के कई रुपये उधार भी हैं. अब आसपास से हमें यह भी पता चल चुका था कि वह एक मामूली से फ्लैट में बतौर पेइंग गेस्ट रहता है. यानी सुदीप्तो ने अपने घर के बारे में अनन्या से झूठ बोला था. क्यों? अब यह पता करना था.


इसके बाद उसे फॉलो करना हमारी टीम ने जारी रखा तो अगले कुछ दिनों में देखा कि वह आॅफिस से घर और घर से आॅफिस ही जाता है लेकिन हफ्ते में एकाध दिन वह किसी दोस्त के फ्लैट पर जाता है जहां लड़के लड़कियां पार्टी करते हैं. फिर आसपास पूछताछ करने पर यह पता चला कि सुदीप्तो रोज़ शराब पीता है और अच्छी खासी. इन तमाम एक्टिविटीज़ के सबूत तस्वीरों में हमारे पास आ चुके थे. हम अनन्या को तय तारीख पर यह सब बताने ही वाले थे कि एक दिन पहले ही एक और खुलासा हुआ.


हमारी टीम के एक इनवेस्टिगेटर ने सुदीप्तो को क्रेडिट कार्ड देने वाली कंपनी के एजेंट के तौर पर फोन किया और उससे डिटेल्स मांगे तो पता चला कि उसका सालाना पैकेज 5 लाख रुपये का है. सुदीप्तो ने अनन्या को अपनी सैलरी 50 लाख बताई थी. अब बात साफ थी कि सुदीप्तो एक झूठा आदमी था और किसी वजह से अनन्या के साथ झूठ के सहारे शादी करना चाह रहा था. ये तमाम बातें हमने अनन्या को बताईं तो तैश में आकर अनन्या ने हमारे सामने ही सुदीप्तो को फोन लगाया.


फोन स्पीकर पर रखकर अनन्या ने उससे एक के बाद एक फैक्ट को क्रॉस चेक किया और सुदीप्तो के पास कोई जवाब नहीं बचा. अब अनन्या का आखिरी सवाल यही था कि 'झूठ क्यों बोल रहे थे? क्यों मुझे जाल में फंसाकर शादी करना चाहते थे? क्या इरादा था तुम्हारा?' कुछ देर सॉरी कहने के बाद आखिरकार सुदीप्तो ने भी तैश में आकर बोल दिया - 'तुम अमीर हो इसलिए. शादी होती तो अच्छी रकम मिल जाती मुझे. खैर कोई बात नहीं, तुम नहीं तो कोई और सही. अमीर लड़कियों की कमी तो है नहीं'.




अनन्या ने यह सब सुनते ही फोन काट दिया और थोड़ी देर परेशान रहने के बाद उसने खुशी ज़ाहिर की कि वह एक फ्रॉड लड़के के जाल में फंसते फंसते बच गई. सुदीप्तो ने धोखा तो किया था लेकिन इस मामले में अनन्या उसके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई न तो कर सकती थी और न ही करना चाहती थी. वह सुदीप्तो को एक बुरे सपने की तरह भूल जाना चाहती थी, बस.


(यह कहानी दिल्ली बेस्ड प्राइवेट जासूस भावना पालीवाल के केस पर आधारित है जिसके किरदार वास्तविक हैं, उनके नाम नहीं.)


ये भी पढ़ें


निजात पाना चाहता था माशूका की डिमांड्स से परेशान हो चुका आशिक, तो...

LoveSexaurDhokha: जैसे ही कार सिग्नल पर रुकती, वो किस करने लगती

ट्रेन में बना रिश्ता पटरी से उतरा तो 'लव ट्राएंगल' में हुआ कत्ल

LoveSexaurDhokha: किसी और से तलाक ले रहा था उसका पति

LoveSexaurDhokha: उसे लगता था कि उसका पति शर्मीला है!


PHOTO GALLERY : Twitter killer - अजीब ट्वीट से कर डाले 9 कत्ल, पुलिस भी हैरान


क्या शादी की तैयारी के लिए जिम में....

हाल ही में भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन के भारत लौटने के बाद जहां अभिनंदन
हाल ही में आई फिल्म कबाली में रजनीकांत का जबर्दस्त लुक. जहां एक तरफ फिल्म में रजनी का
हाल ही में भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन के भारत लौटने के बाद जहां अभिनंदन