भाषा चुनें :

हिंदी

जनसुनवाई में जहरीला पदार्थ लेकर पहुंचा फरियादी

महदपुर निवासी अजय रघुवंशी उपज की राशि खाते में न आने की शिकायत लेकर पहुंचा. उसकी उपज के तीन लाख रुपए दो खातों में आना थे, लेकिन दो माह बीत जाने के बाद भी राशि नहीं आई. यदि इस बार उसकी राशि न मिली तो वह निश्चित ही जीवन खत्म कर लेगा.

News18Hindi |

मध्‍यप्रदेश के अशोकनगर में जनसुनवाई के दौरान उस समय बड़ी अजीब स्थिति बन गई, जब एक किसान जनसुनवाई में समस्या सुनने बैठे अधिकारी के सामने अपनी समस्या के साथ ही जहरीला पदार्थ भी लेकर पहुंच गया. फरियादी का कहना था कि वह लंबे समय परेशान है और यदि उसकी समस्या का निराकरण नहीं हुआ, तो वह जहर खा लेगा. अपर कलेक्टर ने उसकी समस्या को सुना और उसे आश्वसन दिया.


गौरतलब है कि हर मंगलवार को कलेक्टर कार्यालय में जनसुनवाई होती है, जिसमें जिलेभर के लोग समस्याएं लेकर पहुंचते हैं. इसी क्रम में महदपुर निवासी किसान अजय रघुवंशी उपज की राशि खाते में न आने की शिकायत लेकर पहुंचा. दो माह से राशि के लिए परेशान व्यक्ति का कहना था कि उसके तीन लाख रुपए दो खातों में आना थे, लेकिन दो माह बीत जाने के बाद भी राशि न आने के कारण उसके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है. लेनदार भी रुपए लौटाने के लिए उस पर लगातार दबाव बना रहे हैं.


अजय की मानें तो वह मुंशी और कलेक्‍टोरेट के चक्कर लगाते-लगाते थक चुका है और इसीलिए उसने जीवन समाप्त करने का रास्ता चुना. यदि इस बार उसकी राशि न मिली तो निश्चित ही जीवन खत्म करने की बात अजय ने कही. परेशान कृषक के इस कदम से जनसुनवाई कक्ष में एक बार तो सन्नाटा छा गया, लेकिन समझाइश के बाद कृषक भी मान गया और कुछ समय की मोहलत मिल जाने के बाद मामला शांत हुआ.


इस समस्या के बारे में जब अपर कलेक्टर अनुज रोहतगी से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि राशि मिलने में विलम्ब के कारण की जांच की जाएगी. इसके लिए बीआरसी को निर्देशित किया गया है. खाते में राशि न पहुंचने की बात पर अधिकारी बताया कि कभी-कभी खाता नंबर गलत होने पर भी राशि पहुंच नहीं पाती है.