होम / न्यूज / मध्य प्रदेश /

भारी बारिश के कारण तवा डैम के 7 गेट खोले, भोपाल नागपुर नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक रुका

भारी बारिश के कारण तवा डैम के 7 गेट खोले, भोपाल नागपुर नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक रुका

तवा डैम के 7 गेट से 5 फीट तक पानी छोड़ा जा रहा है. इससे भोपाल-नागपुर नेशनल हाईवे पर बने पुल पर पानी आ गया है.

तवा डैम के 7 गेट से 5 फीट तक पानी छोड़ा जा रहा है. इससे भोपाल-नागपुर नेशनल हाईवे पर बने पुल पर पानी आ गया है.

Tawa Dam Gates Opened : नर्मदापुरम जिले में बारिश के कारण नर्मदा नदी फिर उफान पर है. नदी का इन फ्लो बढ़ने के कारण तवा डैम का जलस्तर बढ़कर 1158.50 फ़ीट तक पहुंच गया है. इसलिए डैम के 7 गेट खोलने पड़े. सभी गेट से 5-5 फ़ीट हाइट तक 54565 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. डैम के कैचमेंट एरिया और पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है. तवा डैम के गेट खोलने के कारण भोपाल-नागपुर हाईवे पर यातायात बाधित हो गया है. नेशनल हाइवे पर पड़ने वाले सुखतवा पुल पर पानी आ गया है इसलिए यहां यातायात बंद हो गया है. पुल के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गयी है. लोग घंटों से परेशान हो रहे हैं.

नर्मदापुरम. मध्य प्रदेश के कई इलाकों में अब भी बारिश और बाढ़ के हालात हैं. नर्मदापुरम और बैतूल जिले में नदी नाले उफान पर हैं. कई रास्ते बंद हैं. इससे यातायात ठप्प पड़ गया है. नर्मदा नदी में पानी बढ़ने के काऱण तवा डैम के 7 गेट खोल दिए गए हैं. इसका असर हाईवे और पुल तक दिख रहा है. भोपाल-नागपुर और मुलताई आठनेर मार्ग पूरी तरह बंद हो गए हैं.

नर्मदापुरम जिले में बारिश के कारण नर्मदा नदी फिर उफान पर है. नदी का इन फ्लो बढ़ने के कारण तवा डैम का जलस्तर बढ़कर 1158.50 फ़ीट तक पहुंच गया है. इसलिए डैम के 7 गेट खोलने पड़े. सभी गेट से 5-5 फ़ीट हाइट तक 54565 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है. डैम के कैचमेंट एरिया और पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है.

भोपाल नागपुर नेशनल हाइवे पर यातायात बाधित
तवा डैम के गेट खोलने के कारण भोपाल-नागपुर हाईवे पर यातायात बाधित हो गया है. नेशनल हाइवे पर पड़ने वाले सुखतवा पुल पर पानी आ गया है इसलिए यहां यातायात बंद हो गया है. पुल के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गयी है. लोग घंटों से परेशान हो रहे हैं.


आपके शहर से (भोपाल)

मां ने 3 साल की मासूम के साथ की खौफनाक हरकत, फिर खुद लगाया मौत को गले

MP: मंत्री की खाद्य अधिकारी को धमकी, कहा- मेरे इलाके में कार्रवाई की तो उल्टा लटका दूंगा, ऑडियो वायरल

MP VYAPAM SCAM: सीबीआई कोर्ट ने 5 आरोपियों को सुनाई 7-7 साल की सजा, जुर्माना भी लगाया

Gwalior News: NSUI कार्यकर्ता ने जीवाजी यूनिवर्सिटी में की आत्मदाह की कोशिश, मचा हड़कंप

MP News: एमपी में छात्र-छात्राओं को कल दी जाएगी लैपटॉप की राशि, 25000 रुपए सीधे खाते में होंगे ट्रांसफर

एमपी में महिला सुरक्षा के लिये बड़ा कदम, हर यात्री गाड़ी में लगेगा पैनिक बटन

गरबा पंडाल में बवाल : गलत पहचान बता रहे युवकों को हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पीटा, 9 गिरफ्तार

कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव: MP कांग्रेस के 12 विधायक करेंगे दिग्विजय सिंह के नामांकन का प्रस्ताव

Ratlam: वारंट लेकर गवाह के घर गए पुलिसकर्मी को 4 पालतू कुत्तों ने काट खाया, हालत गंभीर

World Heart Day: BP कंट्रोल में रतलाम देश का टॉप तीसरा जिला, जानें कैसा है यहां के लोगों का दिल

MP: पीएफआई के ग्रुप में महिलाएं और छात्राएं भी, डाटा रिकवरी से हुए चौंकाने वाले खुलासे


ये भी पढ़ें- OMG : चंदेली नदी पुल पर उफन रही थी, बाइक सवार नहीं माने करने लगे रास्ता पार फिर…

मुलताई आठनेर मार्ग बंद
यही हाल बैतूल जिले का भी है. यहां बैतूल- मुलताई क्षेत्र में बीती रात से भारी बारिश हो रही है. नदी नाले उफान पर आने से जनजीवन प्रभावित हो गया है. भारी बारिश के कारण अंभोरा नदी पर बनी पुरानी पुलिया बीच से टूटकर बाढ़ में बह गई. इससे मुलताई आठनेर मार्ग बंद हो गया है. यहां यातायात बाधित हो गया है. ये मुलताई से आठनेर को जोड़ने का एक मात्र रास्ता है. प्रशासन ने अंभोरा नदी के दोनों ओर बैरिकेड्स लगा दिए हैं. ताप्ती और माचना नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है. ताप्ती नदी पर बने पारसडोह डैम का एक गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है.

Tags:Madhya Pradesh floods, Madhya pradesh latest news

अधिक पढ़ें