Home / News / madhya-pradesh /

सर्दी में कोहरे की वजह से ट्रेनें नहीं होंगी लेट! भोपाल-बीना समेत 85 स्टेशनों पर हो रहा यह प्रयोग

सर्दी में कोहरे की वजह से ट्रेनें नहीं होंगी लेट! भोपाल-बीना समेत 85 स्टेशनों पर हो रहा यह प्रयोग

भारतीय रेलवे (Indian Railways) यात्रियों को तीन बड़ी सुविधाएं देने जा रहा है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) यात्रियों को तीन बड़ी सुविधाएं देने जा रहा है.

Indian Railways Latest News: भारतीय रेलवे ट्रेन यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने पर लगातार काम कर रहा है. ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों को परेशानी न हो, इसके लिए तीन बड़ी सुविधाएं रेलवे शुरू करने जा रहा है. इन सुविधाओं का सीधा लाभ यात्रियों को ही मिलने वाला है. इनमें सबसे बड़ी सुविधा ये है कि यात्री समय पर अपने तय स्थान पर पहुंच सकेंगे. कोहरे में भी ट्रेनें लेट न हों, इसके लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं.

भोपाल. सर्दी के मौसम में धुंध और कोहरे की वजह से ट्रेनों से देर से चलने और मुसाफिरों (Railway Passengers) को परेशान होने की शिकायतें बढ़ जाती है. लेकिन रेलवे ने ट्रेनों को देरी से बचाने के लिए इस बार विशेष इंतजाम किए हैं. इस मौसम में भारतीय रेलवे (Indian Railways) यात्रियों को तीन बड़ी सुविधाएं देने जा रहा है. इस सुविधा के तहत सर्दी में कोहरे की वजह से ट्रेनें लेट नहीं होंगी. इसके अलावा यात्रियों को एसएमएस (SMS) के जरिए ट्रेन की सटीक लोकेशन मिलेगी. साथ ही अब स्टेशन पर लगी जीपीएस क्लॉक से ट्रेनों की पल-पल की जानकारी भी यात्रियों को मिलती रहेगी. यह तीनों सुविधाएं यात्रियों की जरूरत के मद्देनजर शुरू की गई है.

जीपीएस घड़ी से मिलेगी स्टेशन पर जानकारी- यात्रियों को स्टेशन पर ट्रेनों की जानकारी देने के लिए अब जीपीएस गाड़ियों की संख्या स्टेशन पर बढ़ाने का काम किया जा रहा है. इससे प्लेटफार्म पर बैठे-बैठे ही यात्रियों को ट्रेन की पल-पल की जानकारी मिल सकेगी. पश्चिम मध्य रेलवे भोपाल, रानी कमलापति, इटारसी, बीना, संत हिरदाराम नगर समेत 85 स्टेशनों पर जीपीएस आधारित घड़ियां काम कर रही हैं. ट्रेनें जैसे-जैसे आगे बढ़ती हैं, उनके संबंधित स्टेशनों पर पहुंचने का समय इन घड़ियों पर अपडेट होता रहता है. अभी रेलवे के पोर्टल पर ही ट्रेनों के पहुंचने की जानकारी मिलती थी.


कोहरे में ट्रेन नहीं होगी लेट

सर्दी में कोहरे की वजह से ट्रेनें लेट न हों इसके लिए नई फाॅग डिवाइस (New Fog Device) का सहारा लिया गया है. पश्चिम-मध्य रेल 604 फॉग सेफ्टी डिवाइस (Fog Safety Device) ट्रेनों में लगा रहा है. अभी 302 ट्रेनों में यह ट्रेनें भी लग चुकी हैं. एक ट्रेन के लिए दो डिवाइस दी गई हैं, ताकि एक खराब हो तो लोको पायलट दूसरी का उपयोग कर सके. वॉकी-टॉकी की तरह ही क्रू-ऑपरेटेड फॉग सेफ्टी डिवाइस है. इसका उपयोग लोको पॉयलट करते हैं. उन्हें डिवाइस का एक सेट दे दिया जाता है, इसमें दो डिवाइस रहती हैं. इसके 80 से 85 फीसदी तक रिजल्ट अच्छे आ रहे हैं और ट्रेनों को चलाने में इस सीजन में ज्यादा समस्या नहीं हो रही.

आपके शहर से (भोपाल)

ये सुना कि 10 किलो की जगह 1 किलो अन्न मिला तो छोडूंगा नहीं, रुद्रावतार में दिखे CM शिवराज

MP Board Exam 2022: ओपन बुक पैटर्न पर होगी प्री बोर्ड परीक्षा, कोरोना के बीच बना नया सिस्टम

MPPSC Prelims 2020 Result: MPPSC ने जारी किया राज्य सेवा और राज्य वन सेवा प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट, यहां देखें कट ऑफ

डेढ़ करोड़ खर्च, फेफड़े 97% संक्रमित, फिर भी दी जानलेवा कोरोना को मात, जानिए कैसे?

MPPSC स्टेट फॉरेस्ट सर्विस एग्जाम 2022: एप्लीकेशन करेक्शन प्रोसेस शुरू

UP Chunav: यूपी की महाभारत में एमपी के नेताओं की एंट्री, योगी-प्रियंका को मजबूत करेंगे ये नेता

कोरोना के इलाज में किसान के कैसे खर्च हुए 8 करोड़ रुपये, जानें पूरा हिसाब, फिर भी नहीं बची जान

Madhya Pradesh में डरावनी तस्वीर, कोरोना संक्रमित 22 साल के युवक-युवती की 24 घंटे के भीतर मौत

Indian Railways: फिर शुरू हो रही पंचवेली एक्सप्रेस, यहां जानिए पूरा शेड्यूल

MP के सभी स्कूल 31 जनवरी तक बंद, मेले-रैली और सभी बड़े आयोजनों पर रोक

हाड़ कंपाने वाली ठंड में ठिठुर रहा है मध्य प्रदेश, दिन में भिंड रहा सबसे सर्द, सबसे ठंडी रही शिवपुरी 


SMS से पल-पल की अपडेट मिलेगी

अब जो भी ट्रेन लेट होगी उसकी पहले ही सही जानकारी यात्री को मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भेजी जाएगी. इससे यात्री को स्टेशन पर बैठकर ट्रेन के आने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा. सटीक जानकारी होने पर यात्री समयानुसार स्टेशन पर आकर अपनी ट्रेन में यात्रा कर सकेगा. यात्रियों को इसमें पर मिलने वाली यह पहली सुविधा रहेगी. इससे यात्री कोई यात्रा और ट्रेनों से जुड़ी जानकारी आसानी से उपलब्ध होगी.

Tags:Indian Railways, Trains, Winter season