Home / News / madhya-pradesh /

mp state election commission the cost of re polling will be recovered from those who robbed the ballot boxes mpsg

एमपी में पहली बार ऐसी सख्ती : मतपेटियां लूटने वालों से वसूला जाएगा पुनर्मतदान का खर्च

MP Panchayat Chunav Voting. एमपी में पंचायत चुनाव के पहले चरण में भिंड-मुरैना, दतिया, राजगढ़ में उपद्रव की कुछ घटनाएं हुई थीं.

MP Panchayat Chunav Voting. एमपी में पंचायत चुनाव के पहले चरण में भिंड-मुरैना, दतिया, राजगढ़ में उपद्रव की कुछ घटनाएं हुई थीं.

MP Panchayat Chunav : मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के इतिहास में पहली बार इस तरह की कार्रवाई की जा रही है. बूथ कैप्चरिंग करने वाले आरोपियों से जुर्माना वसूला जा रहा है. अगर तय समय पर उन्होंने पैसा नहीं भरा तो उनके घर के अवैध निर्माण जमींदोज कर दिए जाएंगे. राज्य निर्वाचन आयोग का कहना है मतदान कराने में काफी धनराशि खर्च होती है. मतदाताओं को पुनर्मतदान करने के लिए मानसिक और शारीरिक कष्ट हुआ. पुनर्मतदान नहीं होता तो शासन प्रशासन की अतिरिक्त धनराशि भी खर्च नहीं होती. आगे ऐसा ना हो इसके लिए आरोपियों से भोजन, चाय, नाश्ता, टेंट, बिजली डीजल, कूलर, पेयजल, पंखे, वीडियोग्राफी और अन्य व्यवस्था पर खर्च होने वाली राशि वसूली जा रही है. इन लोगों के उपद्रव के कारण दोबारा मतदान कराना पड़ा इसलिए उसकी भरपाई भी ऐसे ही आरोपियों से की जानी चाहिए.

भोपाल. मध्यप्रदेश में पंचायत चुनाव में बूथ कैप्चरिंग करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है. मध्यप्रदेश में ऐसा पहली बार हुआ है जब मतपेटियों लूटने वालों से ही पुनर्मतदान का खर्च वसूला जा रहा है. पुनर्मतदान में मतदान दलों की तैनाती, उनके खाना-चाय-नाश्ता- टेंट-कूलर पानी सभी का खर्च निर्वाचन कार्य में बाधा पहुंचाने वालों से ही वसूला जा रहा है. भिंड से इसकी शुरुआत हो चुकी है. चुनाव आयोग ने भिंड में ऐसे चार उपद्रवियों की पहचान कर उनमें से प्रत्येक से 5.2 लाख रुपये वसूलने के नोटिस दे दिए हैं.

चार आरोपियों को नोटिस
एमपी में पंचायत चुनाव के पहले चरण में चार पांच जिलों में बूथ कैप्चरिंग की घटनाएं हुई थीं. उन सभी स्थानों पर पुनर्मतदान करवाना पड़ा था. पुनर्मतदान के कारण ही भिंड जिले के लहार एसडीएम ने रौन में रहने वाले बूथ कैप्चरिंग के चार आरोपियों धर्मेंद्र सिंह, राजू सिंह ), सौरभ चौहान, अजय सिंह को 5.2लाख – 5.2लाख रुपए जमा कराने के नोटिस जारी किए हैं. नोटिस में यह भी कहा गया है कि जल्द से जल्द राशि जमा नहीं कराने पर उनके अवैध निर्माण पर बुलडोजर चला दिया जाएगा.

पंचायत चुनाव के इतिहास में पहली बार ऐसी वसूली
मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव के इतिहास में पहली बार इस तरह की कार्रवाई की जा रही है. बूथ कैप्चरिंग करने वाले आरोपियों से जुर्माना वसूला जा रहा है. अगर तय समय पर उन्होंने पैसा नहीं भरा तो उनके घर के अवैध निर्माण जमींदोज कर दिए जाएंगे. राज्य निर्वाचन आयोग का कहना है मतदान कराने में काफी धनराशि खर्च होती है. मतदाताओं को पुनर्मतदान करने के लिए मानसिक और शारीरिक कष्ट हुआ. पुनर्मतदान नहीं होता तो शासन प्रशासन की अतिरिक्त धनराशि भी खर्च नहीं होती. आगे ऐसा ना हो इसके लिए आरोपियों से भोजन, चाय, नाश्ता, टेंट, बिजली डीजल, कूलर, पेयजल, पंखे, वीडियोग्राफी और अन्य व्यवस्था पर खर्च होने वाली राशि वसूली जा रही है. इन लोगों के उपद्रव के कारण दोबारा मतदान कराना पड़ा इसलिए उसकी भरपाई भी ऐसे ही आरोपियों से की जानी चाहिए.


आपके शहर से (भोपाल)

MP TET Result 2022 : मध्य प्रदेश टीईटी का रिजल्ट जारी, ऐसे चेक करें नतीजे

फिर चर्चा में आईएएस अफसर नियाज खान, पीएम मोदी के लिए किया ट्वीट बाद में हटाया

धूमधाम से निकली भक्तों की टोली, नाच-गाकर शिवना मां को ओढ़ाई 101 मीटर की चुनरी; Photos

भारत में जिहाद को बढ़ावा देने के आरोप में दो बांग्लादेशी शख्स हुए गिरफ्तार: एनआईए

समलैंगिक संबंधों में हत्या : पत्नी बनकर रहना चाहता था मिठाई कारोबारी, पार्टनर ने दे दी मौत

कॉमनवेल्थ गेम्स में दिखा सेना का शौर्य : जबलपुर लौटने पर स्वर्ण पदक विजेता अचिंता का भव्य स्वागत

लाइव Video : डांस कर रहे थे कांवड़िए, हाईटेंशन लाइन से फैला करंट...1 की मौत, कई झुलसे

भारी बारिश के कारण तवा डैम के 7 गेट खोले, भोपाल नागपुर नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक रुका

जबलपुर से बड़ी खबर : मेडिकल अस्पताल में शॉर्ट सर्किट, स्टाफ ने दौड़कर बुझायी आग

छत्तीसगढ़ी म पढ़व- अंधियारी रात के अतियाचार

नामी होटल को बम से उड़ाने की धमकी बदले में करोड़ों रुपये की मांग, बिहार से पकड़े गए आरोपी


ये भी पढ़ें- एमपी पंचायत चुनाव : दूसरे चरण का मतदान कल;  23967 मतदान केंद्र, 49000 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात

जबरन लगाई थी सील
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 25 जून को पहले चरण का मतदान हुआ था. भिंड के जनपद पंचायत रौन के पोलिंग बूथ क्रमांक 52 पचोखरा में आरोपियों ने काफी उत्पात मचाया था. आरोपियों ने मतदान दल से जबरन मतपत्र छीनकर उस पर सील लगा दी थी. इसलिए वहां मतदान शून्य घोषित करना पड़ा था. बाद में 26 और 27 जून को फिर से मतदान कराया गया. इसमें 70 पुलिसकर्मी, 10 मतदान अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारियों सहित कई लोगों को फिर से तैनात करना पड़ा था.

जिसने नुकसान किया उसी से वसूली
अधिकारियों कर्मचारियों की 2 दिन की व्यवस्था और अन्य व्यवस्था पर 5, 02000 खर्च हुए हैं. इसलिए उस खर्च की सारी राशि उपद्रव करने वाले उन्हीं आरोपियों से वसूल की जाएगी. फिलहाल आरोपियों को नोटिस जारी किए गए हैं. अगर पैसा जमा नहीं कराया तो फिर घरों पर बुलडोजर चला दिए जाएंगे. दूसरे चरण में भी अगर किसी तरह से निर्वाचन कार्य में व्यवधान किया तो उन पर भी ऐसी ही सख्ती होगी.

Tags:Madhya pradesh latest news, MP Panchayat Chunav