भाषा चुनें :

हिंदी

बोहरा समाज के धर्मगुरु की वाअज में पहली बार होगा प्रधानमंत्री का संबोधन

बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब किसी वाअज (प्रवचन) में कोई प्रधानमंत्री शामिल होंगे और उनके संबोधन के लिए वाअज रोकी जाएगी.

News18Hindi |

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 सितंबर को इंदौर आ रहे हैं, वे बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु के वाअज (प्रवचन) में शामिल होंगे. बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब किसी वाअज में कोई प्रधानमंत्री शामिल होंगे और उनके संबोधन के लिए वाअज रोकी जाएगी. पीएम मोदी कार्यक्रम स्थल सैफी मस्जिद पर 30 मिनट रुकेंगे.


पीएम मोदी के लिए 3500 जवानों की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है. इस दौरान जर्मन तकनीक के 125 से ज्यादा कैमरों से निगरानी होगी, इन कैमरों की मदद से लोगों के नाखून तक देख जा सकेंगे. प्रधानमंत्री के आने और जाने के समय कुल 20 मिनट के लिए इंदौर नो फ्लाइंग जोन होगा.


दरअसल, दाऊदी बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल सैफुद्दीन मौला बुधवार से सैफी नगर मसजिद में 9 दिनी वाअज यानि प्रवचन कर रहे हैं. वाअज सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक होती है. इस तरह का कार्यक्रम भारत में तीन साल बाद हो रहा है.


शहर का हर वो हिस्सा जहां वाअज़ रिले की जाएगी या बोहरा समाज के 8-10 घर भी हैं, वहां सैफी एम्बुलेंस खड़ी की गई है. शहर के 500 डॉक्टर्स मेडिकल इमरजेंसी के लिए उपलब्ध रहेंगे. साथ ही इस कार्यक्रम की सुरक्षा के लिए सैयदना साहब के 15 हजार सुरक्षा कर्मी भी तैनात हैं, वहीं पीएम कवरेज के लिए मीडिया को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है.


शहर में स्वच्छता बनी रहे, इसके लिए नजाफत कमेटी बनाई गई, जिसमें 800 लोग हैं. ये चप्पे-चप्पे पर खड़े हैं, ताकि वाअज़ के दौरान देश के सबसे स्वच्छ शहर में एक भी जगह कचरा न दिखाई दे. पीएम मोदी की इंदौर यात्रा को लेकर बुधवार को पुलिस प्रशासन ने रिहर्सल की. इस दौरान एयरपोर्ट से लेकर सैफी नगर मस्जिद तक पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया.


ये भी पढ़ें- कांग्रेस में टिकटों का खेल शुरू, सिंधिया-कमलनाथ के बीच 'पावर जंग'