Home / News / madhya-pradesh /

fire in netaji subhash chandra medical college hospital staff extinguished with fire extinguisher mpsg

जबलपुर से बड़ी खबर : मेडिकल अस्पताल में शॉर्ट सर्किट, स्टाफ ने दौड़कर बुझायी आग

अस्पताल में आग लगते ही माता-पिता अपने अपने बच्चों को उठाकर भागे.

अस्पताल में आग लगते ही माता-पिता अपने अपने बच्चों को उठाकर भागे.

Jabalpur ki aaj ki khabar : प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है आग लगने की खबर लगते ही पूरे मेडिकल अस्पताल में हड़कंप मच गया था. तत्काल वह अपने बच्चों को लेकर बाहर की तरफ भागे. जबलपुर में 1 सप्ताह पहले ही भीषण अग्निकांड हादसा हुआ था जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई थी. जबलपुर के दमोह नाका स्थित न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में यह हादसा हुआ था जिसके बाद तमाम अस्पतालों के सुरक्षा मापदंडों की जांच करने अभियान चलाया गया. लेकिन संभाग के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के हालात इस ओर इशारा करते हैं कि फिलहाल जिम्मेदार लोग खानापूर्ति भरा रवैया ही अपना रहे हैं. आज की घटना ने एक बार फिर शासन प्रशासन को सचेत किया है. हल्की सी भी लापरवाही किसी भी बड़े हादसे को दावत दे सकती है.

जबलपुर. जबलपुर न्यू लाइफ मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल के अग्निकांड को लोग अभी भूल भी नहीं पाए हैं कि आज फिर हड़कंप मच गया. यहां के नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल अस्पताल में अग्निकांड होते होते बचा. यहां के बच्चा वार्ड की दीवार में लगे एक सर्किट बॉक्स में आग लग गई. लेकिन अस्पताल के स्टाफ की फुर्ति के कारण बड़ा कांड होने से बच गया.

बच्चा वार्ड मे भर्ती थे 40 से ज्यादा बच्चे
दरअसल आग बच्चा वार्ड के नजदीक लगे खंबे में लगी थी. शॉर्ट सर्किट से लगी आग धीरे-धीरे बच्चा वार्ड तक पहुंच गई. लेकिन राहत की बात रही कि आग वार्ड के अंदर नहीं पहुंच पाई और समय रहते उस पर काबू पा लिया गया. आग लगते ही मेडिकल अस्पताल में मौजूद सुरक्षाकर्मी खुद ही अग्निशमन यंत्र उठाकर भागे और तत्काल आग पर काबू पा लिया. बच्चा वार्ड में उस समय 40 से ज्यादा बच्चे भर्ती थे. आनन-फानन में कुछ बच्चों को दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया गया. चंद पलों में ही सर्किट बॉक्स में लगी आग पर काबू पा लिया गया.

फौरन पहुंचे अफसर
घटना की जानकारी लगते ही मौके पर तत्काल जिला प्रशासन के अधिकारी भी पहुंच गए और घटनास्थल का जायजा लिया. कलेक्टर इलैयाराजा टी का कहना है मेडिकल अस्पताल के बच्चा वार्ड के नजदीक आग लगी थी. इस घटना में कोई भी हताहत नहीं हुआ है और ना ही किसी तरह का नुकसान हुआ है. लेकिन एहतियात के तौर पर अब पूरी सर्विस लाइन को ही बदल दिया जाएगा. इस घटना में सभी लोग पूरी तरह सुरक्षित हैं. मामले की जांच की जा रही है.


आपके शहर से (जबलपुर)

छिंदवाड़ा में निगम आयुक्त ने कमलनाथ के साथ गरीबों को बांटे चेक, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की नाराजगी के बाद तबादला

पीएफआई के ठिकानों पर आज फिर ताबड़तोड़ छापे, एमपी में 21 संदिग्ध गिरफ्तार

सोनिया गांधी से मिले कमलनाथ, कहा- कांग्रेस अध्यक्ष पद में मेरी रुचि नहीं

MP : 18 जिलों के 46 नगरीय निकायों में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान शुरू, सुरक्षा के व्यापक इंतजाम

एमपी में 7 साल में 229 साम्प्रदायिक दंगे : क्या इनमें था पीएफआई का हाथ, नये सिरे से जांच

मध्य प्रदेश: सागर जिले के राहतगढ़ में स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त, एक बच्चे की मौत

खेलते-खेलते पानी की बाल्टी में गिर गई 15 महीने की बच्ची, डूबने से मौत

एमपी : 46 नगरीय निकायों में आज डाले जा रहे हैं वोट, इन दिग्गजों की साख दांव पर

शक्तिपीठ मैहर : आल्हा ऊदल ने खोजा था मां का मंदिर, आदि शंकराचार्य ने शुरू की थी पूजा

भिंड के इफको केंद्र पर ठग सक्रिय, खाद दिलाने के नाम पर किसान को लगाया साढ़े दस हजार का चूना

गहलोत-पायलट सियासी घमासान : क्या राजस्थान भेजे जाएंगे कमलनाथ, हाईकमान के बुलावे पर दिल्ली गए


ये भी पढ़ें-Rising Madhya Pradesh : क्या कमलनाथ फिर अगले सीएम होंगे, जानिए इस पर उनका जवाब

बच्चे लेकर भागे माता पिता
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है आग लगने की खबर लगते ही पूरे मेडिकल अस्पताल में हड़कंप मच गया था. तत्काल वह अपने बच्चों को लेकर बाहर की तरफ भागे. जबलपुर में 1 सप्ताह पहले ही भीषण अग्निकांड हादसा हुआ था जिसमें 8 लोगों की मौत हो गई थी. जबलपुर के दमोह नाका स्थित न्यू लाइफ मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में यह हादसा हुआ था जिसके बाद तमाम अस्पतालों के सुरक्षा मापदंडों की जांच करने अभियान चलाया गया. लेकिन संभाग के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल के हालात इस ओर इशारा करते हैं कि फिलहाल जिम्मेदार लोग खानापूर्ति भरा रवैया ही अपना रहे हैं. आज की घटना ने एक बार फिर शासन प्रशासन को सचेत किया है. हल्की सी भी लापरवाही किसी भी बड़े हादसे को दावत दे सकती है.

Tags:Jabalpur news, Madhya pradesh latest news

अधिक पढ़ें