272
NDA:353
180 और सीट चाहिए
UPA:92

पुलवामा हमला: एक गिलास पानी ने बचा ली इस CRPF जवान की जिंदगी

दरअसल, सुपर्णा दास के पति बबलू दास भी उसी काफिले का हिस्सा थे, जिसमें CRPF जवान अपने अगले पड़ाव के लिए जा रहे थे.

News18Hindi |

पुलवामा में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) के 40 जवानों की शहादत के बाद देश गम और गुस्से में हैं. वहीं, असम की रहने वाली सुपर्णा दास और उनके दो बच्चों के लिए 14 फरवरी का दिन खुशी और गम के बीच बीता.


दरअसल, सुपर्णा दास के पति बबलू दास भी उसी काफिले का हिस्सा थे, जिसमें CRPF जवान अपने अगले पड़ाव के लिए जा रहे थे. बबलू दास को भी उसी बस में बैठना था, जिस पर फिदायीन हमला हुआ. हालांकि, उन्हें एक गिलास पानी ने बचा लिया.


यह भी पढ़ें:  गोलगप्पे-रोगन जोश से लेकर म्यूजिक तक, PM मोदी ने ऐसे की सऊदी प्रिंस की खातिरदारी


दरअसल, काफिला निकलने से पहले उन्हें प्यास लगी और वह पानी के लिए बस से उतर गए. जब तक वो लौटे, तब तक ज्यादातर बसें फुल हो चुकी थी. ऐसे में वह आखिरी बस में आए. जब उनकी पत्नी को इस घटना के बारे में पता चला, तो वह बबलू को कॉल करने लगीं लेकिन कोई बात नहीं हुई.


यह भी पढ़ें:  Aero India 2019 : Video में देखें- भारतीय आसमान में पहली बार उड़ा Rafale


उसी शाम सिपाही बबूल दास ने सुपर्णा से बात की और उन्हें पूरा वाकया बताया. वह अपने साथियों को खोने से गुस्से में थे. सुपर्णा दास अब भी चिंतित हैं और चाहती हैं कि 14 फरवरी को जो हुआ उसका बदला लिया जाए.


यह भी पढ़ें: बिहार के इस एग्जाम में सनी लियोनी ने किया टॉप, मेरिट लिस्ट में आया नाम!


News18 से सुपर्णा दास ने कहा- 'जब हमने इसके बारे में सुना तो हम परेशान हो उठे और जब फोन नहीं उठा तो हम डर गए. जब उन्होंने (बबलू) ने खुद फोन किया तब कहीं हमें राहत मिली, लेकिन अब भी हम इस बारे में चिंतित हैं. मुझे बताया कि जो हुआ है उससे वह दुखी हैं. मैं चाहती हूं कि जल्द से जल्द इन सबका भारत बदला ले.'


यह भी पढ़ें: सरकार ने कहा तो ICC वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ नहीं खेलेगा भारत: BCCI सूत्र


एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

भाषा चुनें :

हिंदी