जम्मू कश्मीर: PDP और NC के विरोध के चलते टल सकते हैं निकाय चुनाव

चार चरणों में होने वाले नगरपालिका चुनाव 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर तक होने हैं, जबकि पंचायत चुनाव 8 नवंबर से 4 दिसंबर के बीच होंगे.

news18 hindi , News18Hindi
जम्‍मू-कश्‍मीर में अक्‍टूबर और नवंबर में होने वाले निकाय चुनावों को टाला जा सकता है. नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी ने इन चुनावों का विरोध किया है.जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने राज्य में होने जा रहे इन चुनावों से दूर रहने का ऐलान किया है. महबूबा ने कहा था, 'पंचायत चुनाव और सुप्रीम कोर्ट में 35A को लेकर चल रहे केस के आपसी संबंध को लेकर जिस तरह की बातें सामने आ रही हैं उससे लोगों के दिमाग में कई तरह के शक पैदा हो गए हैं. हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि ऐसे माहौल में चुनाव कराने के फैसले पर एक बार फिर से विचार कर लिया जाए. इस स्थिति में चुनाव हुए तो पीडीपी भी उनमें हिस्सा नहीं लेगी.''इससे पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने कहा था कि अगर केंद्र सरकार धारा 35ए पर अपना रुख साफ नहीं करती है तो उनकी पार्टी चुनाव का बहिष्कार कर देगी. उन्होंने कहा था, ''हम अपने कार्यकर्ताओं के पास कैसे जा सकते हैं और उन्हें वोट देने के लिए कह सकते हैं? सबसे पहले हमारे साथ न्याय करें और अनुच्छेद 35-ए को लेकर अपना रुख साफ करें. अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर हम सिर्फ स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव ही नहीं, बल्कि हम विधानसभा और संसदीय चुनावों का भी बहिष्कार करेंगे."चार चरणों में होने वाले नगरपालिका चुनाव 1 अक्टूबर से 5 अक्टूबर तक होने हैं, जबकि पंचायत चुनाव 8 नवंबर से 4 दिसंबर के बीच होंगे.आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अनुच्छेद 35A पर सुनवाई अगले साल जनवरी तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. सरकार ने कहा था कि राज्य में दिसंबर तक पंचायत चुनाव होने हैं, ऐसे में किसी भी उपद्रव की आशंका को देखते हुए सुनवाई को कुछ महीनों के लिए टाल दिया जाए.ये भी पढ़ें:राफेल डील पर एयरफोर्स चीफ ने किया सरकार का समर्थन, कहा- भारत के सामने है गंभीर खतरासैरीडॉन जैसी 6 हजार दवाइयां जल्द हो सकती हैं बैन, जानें वजह...

Trending Now