Home / News / nation /

जैश-ए-मोहम्मद की कश्मीर में 11 मई को एक साथ कई आत्मघाती हमले करने की खतरनाक योजना

जैश-ए-मोहम्मद की कश्मीर में 11 मई को एक साथ कई आत्मघाती हमले करने की खतरनाक योजना

जैश ने बनाई 11 मई को कश्मीर में एक साथ कई आतंकी हमले करने की योजना (सांकेतिक फोटो)

जैश ने बनाई 11 मई को कश्मीर में एक साथ कई आतंकी हमले करने की योजना (सांकेतिक फोटो)

यह योजनाबद्ध आतंकी हमले (Planned Terrorist Attack) भारतीय सेना के आतंक विरोधी कार्यक्रम में शानदार प्रदर्शन का जवाब हो सकते हैं. दरअसल जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में भारतीय सेना (Indian Army) ने सिर्फ अप्रैल में 28 आतंकियों को मार गिराया है.

नई दिल्ली. पाकिस्तान आधारित आतंकी समूह (Pakistan Based Terrorist Organisation) जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में 11 मई को एक साथ कई सारे आत्मघाती आतंकी हमलों (suicide attacks) की योजना बनाई है. इस बात की जानकारी केंद्रशासित प्रदेश के इंटेलिजेंस एलर्ट (Intelligence Alert) में बताई गई है.

शनिवार को अंग्रेजी अखबार के हिंदुस्तान टाइम्स को दिल्ली (Delhi) में आतंक विरोधी अभियान (Anti-terror campaign) से जुड़े एक प्रमुख अधिकारी ने बताया, "यह जानकारी मिली है कि ये आतंकी हमले आत्मघाती हो सकते हैं और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में सेना और अर्द्धसैनिक बलों के बेस को निशाना बनाकर किए जा सकते हैं."

भारतीय सेना ने शानदार तरीके से किया आतंकियों का सफाया, तिलमिलाया पाकिस्तान

शक है कि ये योजनाबद्ध आतंकी हमले भारतीय सेना के आतंक विरोधी कार्यक्रम में शानदार प्रदर्शन का जवाब देने के लिए किए जाने वाले हैं. जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने सिर्फ अप्रैल में 28 आतंकियों को मार गिराया है. इस जबरदस्त सुरक्षा कार्रवाई पर हाल ही में इस्लामाबाद (Islamabad) में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई थी, जिसने इसे 29 मासूमों की हत्या करार देते हुए इसका विरोध किया था.

जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के संस्थापक मौलाना मसूद अज़हर, जिसे किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित बताया जा रहा है, कई दिनों से किसी भी तरह की गतिविधि से दूर था. उसका छोटा भाई, मुफ्ती अब्दुल रउफ असगर आतंकी संगठन की सारी गतिविधियों को देख रहा है और कई सारे आतंकी हमलों की योजना में खुद व्यक्तिगत तौर पर शामिल है.

11 मई के हमलों के सिलसिले में अपने आईएसआई हैंडलर्स से मिल रहा रउफ

भारतीय इंटेलिजेंस एजेंसियों से अब तक मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को मुफ्ती अब्दुल रउफ असगर की एक मीटिंग पाकिस्तान के आईएसआई (ISI) के अधिकारियों के साथ पाकिस्तानी राजधानी इस्लामाबाद के बाहरी इलाके, रावलपिंडी में होनी थी.

भारतीय सुरक्षा अधिकारियों ने बताया है कि हमारा अनुमान है कि मुफ्ती अब्दुल रउफ असगर (Mufti Abdul Rauf Asghar), आईएसआई के अपने हैंडलरों से 11 मई को होने वाले इन आतंकी हमले को सिलसिले में ही मिल रहा है.

यह भी पढ़ें: देश में कोरोना का आंकड़ा 38 हजार के पास, 10 हजार से ज्यादा ठीक, अब तक 1223 मौत

Tags:Jaish-e-Mohammed, Pakistan, Pakistan army, Suicide, Terrorism, Terrorist attack