भाषा चुनें :

हिंदी

कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, मारा गया जाकिर मूसा का वारिस

जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu-Kashmir police) और सेना (Indian Army) की ओर से चलाए गए ऑपरेशन में मारे गए तीन आतंकियों में से एक गजवत-उल-हिंद ( Ghazwat-ul-Hind) का सरगना हामिद लल्हारी (Hamid Lelhari) भी शामिल था.

News18 Hindi |

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में मंगलवार को त्राल सेक्टर (Tral Sector) में हुई आतंकी मुठभेड़ (Terrorist Encounter) में भारतीय सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना की ओर से चलाए गए ऑपरेशन में मारे गए तीन आतंकियों में से एक गजवत-उल-हिंद ( Ghazwat-ul-Hind) का सरगना हामिद लल्हारी (Hamid Lelhari) भी शामिल था. साल 2016 में एक्टिव हुए लल्हारी ने जाकिर मूसा के बाद इस ग्रुप की कमान अपने हाथ में ली थी.


जम्मू-कश्मीर के पुलिस डीजीपी दिलबाग सिंह ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि त्राल के एनकाउंटर में तीन आतंकी मारे गए. ये तीनों आतंकी त्राल के ही रहने वाले थे. डीजीपी ने बताया कि जाकिर मूसा के बाद गजवत-उल-हिंद का सरगना हामिद लल्हारी को बनाया गया था. लल्हारी ने ही नावेद और जुनैद को भी अपने आतंकी संगठन में शामिल कर लिया था. तीन जैश के लिए ही काम किया करते हैं.





गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान की आतंकी संगठन भारत में बड़ा हमला करने के फिराक में हैं. भारत में हमला करने की योजना बना रहे जैश और हिजबुल के आतंकियों ने कई और आतंकी संगठनों को अपने साथ जोड़ लिया है. हालांकि भारतीय सुरक्षाबलों की मुस्तैदी के आगे उनकी एक भी नहीं चल रही है. भारतीय सुरक्षाबल आतंकियों के मंसूबों को कामयाब नहीं होने दे रहे हैं.


जाकिर मूसा के काम को आगे बढ़ा रहा था लल्हारी

जाकिर मूसा के मारे जाने के बाद गजवत-उल-हिंद आतंकी संगठन की कमान हामिद लल्हारी को सौंपी गई थी. हामिद को ये कमान देने के साथ ही बता दिया गया था कि उसे जाकिर मूसा के प्लान को आगे बढ़ाना है और कश्मीरी युवाओं को आतंकी संगठन से जोड़ने का काम करना है. बताया जाता है कि हामिद लल्हारी साल 2016 में एक्टिव हुआ था. हामिद ने काकापोरा में आतंकी हमला और पुलिस अफसर फैयाज अहमद की हत्या की थी. हामिद लल्हारी मुख्य रूप से अवंतिपोरा और पुलवामा में एक्टिव था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.