लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency

ट्रेंडिंग

और भी पढ़ें
होम / न्यूज / राष्ट्र /

जयशंकर ने विपक्ष के आरोपों को किया खारिज, कहा- चीन के मुद्दे पर ‘अडिग’ हैं पीएम नरेंद्र मोदी

जयशंकर ने विपक्ष के आरोपों को किया खारिज, कहा- चीन के मुद्दे पर ‘अडिग’ हैं पीएम नरेंद्र मोदी

विदेश मंत्री एस जयशंकर ( EAM S Jaishankar) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग से हाथ मिलाने को लेकर विपक्ष की आलोचना को खारिज कर दिया. जयशंकर ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी चीन के मुद्दे पर अडिग हैं और उन्हें चीन-भारत सीमा पर हमारे बलों की मजबूत तैनाती से आंका जाना चाहिए.

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी चीन के मुद्दे पर अडिग हैं.  (फोटो-न्यूज़18)

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी चीन के मुद्दे पर अडिग हैं. (फोटो-न्यूज़18)

हाइलाइट्स

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विपक्ष के लगाए आरोपों को किया खारिज
चीन के राष्‍ट्रपति से पीएम मोदी के हाथ मिलाने पर विपक्ष ने की थी आलोचना
जयशंकर ने कहा- मोदी अडिग हैं, चीन सीमा पर बलों की मतबूत तैनाती है

नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ( EAM S Jaishankar)  ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) चीन के मुद्दे पर ‘बहुत अडिग’ रहे हैं और उन्हें चीन-भारत सीमा पर हमारे बलों की मजबूत तैनाती से आंका जाना चाहिए. उन्होंने हाल में प्रधानमंत्री के चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से हाथ मिलाने को लेकर विपक्ष की आलोचना को खारिज कर दिया. जयशंकर ने कहा कि चीन के साथ व्यवहार करते हुए, वास्तविकता यह है कि यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, भारत का निकटतम पड़ोसी है, लेकिन साथ ही इसके साथ एक मुश्किल इतिहास, संघर्ष और एक बहुत बड़ा सीमा विवाद रहा है.

विदेश मंत्री ने ‘टाइम्स नाउ शिखर सम्मेलन’ में कहा कि चीन से निपटने का सही तरीका यह है कि जब किसी को दृढ़ रहना हो तो दृढ़ रहना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘यदि आपको सैनिकों को सीमा तक ले जाना है, तो वे जो करने की कोशिश कर रहे हैं, उससे निपटने के लिए हमें वह करना चाहिए. उन मुद्दों पर जहां वे हमारे हितों का समर्थन या कमजोर नहीं करते हैं, इसके बारे में स्पष्ट होने के लिए जहां आवश्यक हो, इसके बारे में सार्वजनिक होना होगा. मैं इसके बारे में हर समय सार्वजनिक रूप से नहीं कहता, लेकिन जहां कूटनीति की आवश्यकता होती है, वहां सार्वजनिक होना अक्सर उपयोगी होता है.’

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: China, EAM S Jaishankar, Pm narendra modi

FIRST PUBLISHED : November 25, 2022, 22:56 IST
अधिक पढ़ें