Home / News / nation /

जम्‍मू-कश्‍मीर: शोपियां सेक्‍टर में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे

जम्‍मू-कश्‍मीर: शोपियां सेक्‍टर में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी, 2 से 3 आतंकी घिरे

शोपियां सेक्‍टर में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है. (फाइल फोटो)

शोपियां सेक्‍टर में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है. (फाइल फोटो)

जानकारी के मुताबिक भारतीय सुरक्षाबलों (Security Forces) को खुफिया जानकारी मिली थी कि शोपियां सेक्‍टर (Shopian Sector) के चेक चोलैंड इलाके में कुछ आतंकी (Terrorist) छुपे हुए हैं और किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने स्‍थानीय पुलिस के साथ मिलकर एक टीम तैयार की और इलाके को घेर लिया. सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्‍मसर्पण करने को कहा लेकिन आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी.

श्रीनगर. जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) के शोपियां सेक्‍टर (Shopian Sector) के चेक चोलैंड इलाके में आतंकियों (Terrorists) और सुरक्षाबलों (Security Forces) के बीच मुठभेड़ (Encounter) शुरू हो चुकी है. अभी तक की खबर के मुताबिक सुरक्षाबलों ने इलाके में 2 से 3 आतंकियों को घेर रखा है और दोनों ओर से फायरिंग जारी है. सुबह से जारी इस मुठभेड़ में अभी तक किसी भी आतंकी के पकड़े जाने या फिर मारे जाने की खबर नहीं आई है. स्‍थानीय लोगों से अपने घरों के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखने की अपील की जा रही है.

जानकारी के मुताबिक भारतीय सुरक्षाबलों को खुफिया जानकारी मिली थी कि शोपियां सेक्‍टर के चेक चोलैंड इलाके में कुछ आतंकी छुपे हुए हैं और किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने स्‍थानीय पुलिस के साथ मिलकर एक टीम तैयार की और इलाके को घेर लिया. सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्‍मसर्पण करने को कहा लेकिन आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी.


आतंकियों की फायरिंग करने के बाद भारतीय सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग कर दी है. अभी तक की खबर के मुताबिक इलाके में दो से तीन आतंकी छुपे हो सकते हैं. अभी तक किसी भी आतंकी के मारे जाने या फिर पकड़े जाने की जानकारी नहीं मिली है. सुबह के समय हो रही इस मुठभेड़ को देखते हुए स्‍थानीय लोगों से घरों के दरवाजे और खिड़कियां बंद रखने की अपील की गई है.

बता दें कि 15 नवंबर तक जम्‍मू कश्‍मीर में आतंकवादियों के हमले  की 196 घटनाएं सामने आ चुकी हैं, जो बीते तीन सालों में सबसे कम हैं. वहीं इस साल शहीद जवानों की संख्‍या में भी कमी आई है. जम्मू कश्मीर में पिछले तीन साल के दौरान आतंकवादियों के हमलों की 1,033 घटनाएं हुईं और उनमें से सबसे अधिक 594 घटनाएं 2019 में दर्ज की गई थीं.  केंद्र शासित प्रदेश में पिछले साल 244 आतंकवादी हमले हुए थे.

Tags:Encounter, Jammu and kashmir, Security Forces, Terrorists