कमला मिल आग मामला: हुक्का थी आग की वजह, जांच समिति की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

जांच समिति की रिपोर्ट में कहा गया दोनों रेस्टोरेंट ‘मोजो बिस्तरों’ और ‘वन अबव’ के मालिको ने मेडिकल ऑफिसर द्वारा दिए गए एनओसी का उल्लंघन किया है.

news18 hindi , News18Hindi
(अमम सय्यद)मुम्बई के लोअर परेल स्थित कमला मिल में हुक्का पार्लर की वजह से ही आग लगी थी. मामले की जांच कर रही समिति की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है.कमला मिल में लगी आग की जांच करने के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट ने एक तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की थी. सोमवार को इस जांच समिति ने आग से जुडी रिपोर्ट बॉम्बे हाई कोर्ट में दायर कर दी थी. न्यूज18 इंडिया के हाथ लगी इस रिपोर्ट में कई अहम बातें सामने आई. जिनमे सबसे अहम बात यह है कि मोजो बिस्रो रेस्टोरेंट में चल रहे हुक्का पार्लर की वजह से आग लगी थी.जांच समिति की रिपोर्ट में कहा गया दोनों रेस्टोरेंट ‘मोजो बिस्तरों’ और ‘वन अबव’ के मालिको ने मेडिकल ऑफिसर द्वारा दिए गए एनओसी का उल्लंघन किया है. वहीं कमला मिल के मालिक ने भी फायर डिपार्टमेंट द्वार दिए गए 2 फायर एनओसी का उल्लंघन किया.जांच समिति ने अपनी 200 पेज की रिपोर्ट में बीएमसी के कुछ और राज्य सरकार के कुछ अधिकारियों को बिल्डिंग से जुडी परमिशन देने में लापरवाही की भी बात कही, जिसमे इनको दोषी ठहरा कर सजा देने की भी सिफारिश की है.बता दें पिछले साल 30 दिसंबर को मुम्बई के कमला मिल कंपाउंड में एक भयंकर आग लगी थी, जिसमे 14 लोगो की जान चली गई थी और कई घायल हुए थे. इसके बाद बॉम्बे हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर करके मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की गई थी.याचिकाकर्ता ने कमला मिल कंपाउंड में कई अवैध पब चलने और अवैध निर्माण का आरोप लगाया था, जिसके बाद बॉम्बे हाई कोर्ट पूर्व न्यायाधीश अरविन्द वी सावंत की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित की थी. पिछले सोमवार को इस समिति ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अपनी रिपोर्ट को जमा कराया था.ये भी पढ़ें: कमला मिल हादसा : मुंबई पुलिस ने 2700 पन्‍नों की चार्जशीट दायर की

Trending Now