होम / न्यूज / राजस्थान /

यहां हाथ में जूता-चप्पल लेकर परीक्षा देने पहुंचे कॉलेज स्टूडेंट, छात्र नेता बोले- हाल है बेहाल

यहां हाथ में जूता-चप्पल लेकर परीक्षा देने पहुंचे कॉलेज स्टूडेंट, छात्र नेता बोले- हाल है बेहाल

राजस्थान के बारां में कॉलेज स्टूडेंट्स को परेशानी का सामने करना पड़ रहा है.

राजस्थान के बारां में कॉलेज स्टूडेंट्स को परेशानी का सामने करना पड़ रहा है.

राजस्थान के बारां जिले से हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. यहां राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में स्टूडेंट हाथ में जूता-चप्पल थामे परीक्षा देने पहुंचे. कॉलेज में हालात बदतर होने की वजह से विद्यार्थियों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है. मामले में छात्र नेताओं ने शिकायत की है.

हर्षिल सक्सेना/बारां. राजस्थान के बारां में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक कॉलेज में स्टूडेंट हाथ में जूता थामे परीक्षा देने पहुंचे. दरअसल राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के हालात बदतर होने की वजह से विद्यार्थियों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है. कन्या छात्रावास स्थित परीक्षा केंद्र पर परीक्षा देने पहुंचे प्रथम वर्ष व द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं को कॉलेज के खेल मैदान में भरे पानी से हाथों में जूते चप्पल थाम कर गुजरना पड़ा.

कई छात्र-छात्राओं को समीप स्थित चिकित्सालय की करीब 6 फीट ऊंची दीवार फांदकर परीक्षा केंद्र में परीक्षा देने पहुंचे. इसी महीने के दूसरे सप्ताह में महाविद्यालय में प्रथम व द्वितीय वर्ष की परीक्षा थी. इस दौरान खेल मैदान में भरे पानी, कीचड़ व 4-5 फीट ऊंची गाजर घास के बीच होकर गुजरना पड़ा. इससे छात्र-छात्राओं में काफी नाराजगी देखने को मिली. बताया जा रहा है कि यहां समस्याओं को लेकर कई बार उच्च स्तर पर शिकायत की जा चुकी है, लेकिन समस्या के समाधान के लिए कोई उचित पहल नहीं की गई.


परीक्षा केन्द्र बदलने की मांग
मामले में कॉलेज के प्राचार्य ने अपना बचाव करते हुए कहा कि हमने कई बार उच्चाधिकारियों को लिखित में शिकायत की है, लेकिन समाधान नहीं करवा रहे हैं. जबकि छात्रों का कहना है कि काॅलेज प्रशासन को संवेदनशील होकर इस समस्या के समाधान के लिए स्वयं ही कदम उठाना चाहिए. विद्यार्थी परिषद के पदाधिकारी सौरभ मालव व कोमल मीणा का कहना है कि कॉलेज प्रशासन असल में छात्र छात्राओं की समस्याओं के प्रति संवेदनशील नहीं है. यहां हाल बेहाल है. ऐसे हालात होने में परीक्षा केंद्र को परिवर्तित करना चाहिए था, लेकिन महज खानापूर्ति की गई. विद्यार्थियो ने भी इस समस्या पर रोष जताते हुए कॉलेज प्रशासन से समस्या के समाधान की अपील की है.

आपके शहर से (बारां)

Ravana Dahan: रावण की ऐसी दुर्गति...दहन से पहले ही टूट गई गर्दन, डेढ़ लाख में तैयार हुआ था पुतला

OMG: बड़ा ढीठ निकला भरतपुर का रावण, पेट्रोल-डीजल डालने के बावजूद जलने से करता रहा इनकार

Nagaur: 'आलू किंग' रोहित शर्मा 45 साल से परोस रहे चाट, लाजवाब स्‍वाद बना देगा आपको दीवाना

नाइट टूरिज्म, वाइल्ड लाइफ ट्रेल और डेजर्ट एस्ट्रो समेत राजस्‍थान में पर्यटकों के ल‍िए होगा बहुत कुछ खास

भरतपुर में नीतू किन्नर की अनोखी पहल, 10 साल में 100 गरीब बेटियों के हाथ करवाए पीले

Vande Bharat Express: जयपुर से जोधपुर का सफर 1.45 घंटे में होगा पूरा, जानें क्या होगी ट्रेन की स्पीड

राजस्थान सरकार की बॉन्ड नीति का विरोध, जयपुर में रेजिडेंट डॉक्टर्स की हड़ताल शुरू, राज्य में सांकेतिक विरोध जारी

राजस्थानः बेरोजगारों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, दांडी यात्रा पर निकल पड़े युवा

महिला ने रात में की पति की हत्या, फिर रची साजिश; सुबह करवा दिया अंतिम संस्कार; लेकिन तभी...

Nagaur: लालटेन की रोशनी से पढ़ाई कर ट्रक ड्राइवर का बेटा बना अफ़सर, UPSC में मिला यह रैंक

Dholpur: पाताल तोड़ 7 मंजिला बावड़ी में 4 मंजिल पानी की सतह में नीचे, 3 हैं ऊपर, जाने खासियत


Tags:Baran news, Rajasthan news

अधिक पढ़ें