Home / News / rajasthan /

एक विवाह ऐसा भी: 11 बैलगाड़ियों से बारात लेकर पहुंचा दूल्हा, पेश की मिसाल, VIDEO

एक विवाह ऐसा भी: 11 बैलगाड़ियों से बारात लेकर पहुंचा दूल्हा, पेश की मिसाल, VIDEO

राजस्थान के भीलवाड़ा में बैलगाड़ी में बारात लेकर पहुंचा दूल्हा.

राजस्थान के भीलवाड़ा में बैलगाड़ी में बारात लेकर पहुंचा दूल्हा.

Bhilwara Wedding Video News: राजस्थान के भीलवाड़ा में एक शादी सुर्खियां बटोर रही है. फिजूलखर्ची को रोकने के लिए दूल्हे ने मोटरगाड़ी या घोड़ी की बजाए बैलगाड़ी पर बारात निकाली. 11 बैलगाड़ियों पर बारातियों के साथ दूल्हा ससुराल पहुंचा. रायला थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई इस शादी के लिए बारात जहां से भी गुजरी, वहां उसे देखने वालों की भीड़ लग गई.

भीलवाड़ा. राजस्थान के भीलवाड़ा में हुई एक शादी की खूब चर्चा है. आम तौर पर महंगी गाड़ियों या सजी-धजी घोड़ियों पर सवार होकर दूल्हा बारात लेकर पहुंचता है, लेकिन भीलवाड़ा के रायला थाना क्षेत्र में एक दूल्हे ने फिजूलखर्ची रोकने के लिए दूसरा ही तरीका अपनाया. पुरानी संस्कृति और परंपरा का हवाला देते हुए दूल्हा माेटर गाड़ी की जगह बैलगाड़ी में बारात लेकर पहुंचा. बारात जहां से भी गुजरी वहां लोग उसे देखने के लिए घरों से बाहर निकले. दूल्हा एक-दो नहीं बल्कि 11 बैलगाड़ियों में बारातियों को लेकर पहुंचा.

रीति-रिवाज के साथ शादी की रस्म पूरी की गई. रायला थाना क्षेत्र के इरास गांव पंचायत के कुमावतों गांव रामपुरिया में यह दूल्हा अपनी दुल्हन को लेने बैलगाड़ी से पहुंचा. शादियों में फिजूलखर्ची रोकने और युवाओं को संदेश देने के लिए युवक ने ऐसा किया., पूरे इलाके में इसकी बड़ी तारीफ हो रही है.  दूल्हे के समर्थन में लोगों का कहना है कि ऐसी पहल दूसरों को भी करनी चाहिए.


आपके शहर से (भीलवाड़ा)

RPSC Recruitment 2022 : राजस्थान में वरिष्ठ अध्यापकों की 417 वैकेंसी, आज से करें आवेदन, जानें योग्यता

जन्मदिन विशेष : गायत्री देवी इतनी सुंदर थीं कि मेकअप की जरूरत नहीं पड़ती थी

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट: मौसम फिर बिगाड़ेगा शेड्यूल, यात्रियों की बढ़ेंगी मुसीबतें, यह है बड़ी वजह

चाचा ने भतीजे को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, शव को सड़क पर फेंका, चाची से थे गलत संबंध

शादी के 20 दिन बाद दुल्हन ने खोला बड़ा राज़, सुनकर पति आया सदमे में, सीधा पहुंचा पुलिस के पास

REET 2022: रीट परीक्षा के लिए दोपहर 12 बजे तक करें आवेदन, 23 जुलाई से होंगे एग्जाम

RBSE 12th Result: कब आएगा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट, आज बताएगा बोर्ड

हनीट्रैप: पाक हसीना के जाल में फंसा सेना का जवान अब 2 दिन के रिमांड पर, यूं फंसाया था

राजस्थान मौसम अलर्ट: आज फिर बदलेगा मौसम, 1-2 जगह ओलावृष्टि के आसार, पढ़ें आगे 2 दिन कहां क्या होगा

बिहार में भीषण सड़क हादसा, कश्मीर जा रहे राजस्थान के 8 मजदूरों की दर्दनाक मौत

जन्मदिन गायत्रीदेवी : क्या स्कूल के जमाने से शुरू हुई थी राजमाता और इंदिरा की रंजिश


ससुराल वालों ने किया स्वागत

दूल्हा प्रभु कुमावत जब बैलगाड़ी में सवार हो कर अपने ससुराल पहुंचा तो दुल्हन के पिता ने 11 बैलगाड़ी में सवार होकर आए बारातियों का स्वागत किया. सभी के लिए जलपान से लेकर भोजन की अच्छी व्यवस्था की गई. शादी की सभी रस्में निभाई गईं दूल्हे प्रभु ने बताया कि अपनी संस्कृति और शादी ब्याह में अनावश्यक खर्च रोकने के लिए उसने बैलगाड़ी में बारात लाने का फैसला किया. परिवार वालों और दोस्तों का समर्थन मिला. इसके बाद हम बारात लेकर पहुंचे. अब ससुराल के लोग भी मेरे निर्णय की तारीफ कर रहे हैं. शादियों में फिजूलखर्ची को रोकने के लिए मैंने यह कदम उठाया.

Tags:Bhilwara news, Wedding story