लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / राजस्थान /

आचार्य प्रमोद कृष्णम बोले- गहलोत को ससम्मान विदाई ले लेनी चाहिए, वो अब पार्टी को पलीता लगा रहे

आचार्य प्रमोद कृष्णम बोले- गहलोत को ससम्मान विदाई ले लेनी चाहिए, वो अब पार्टी को पलीता लगा रहे

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अशोक गहलोत कांग्रेस आलाकमान को भ्रमित कर रहे हैं और डरा रहे हैं कि उन्हें हटाया गया तो सरकार गिर जाएगी. अगर ऐसा होता है तो सबसे बड़ा गद्दार कौन होगा, यह अब स्पष्ट हो गया है.

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि सीएम अशोक गहलोत को निचले स्तर की बयानबाजी त्यागकर ससम्मान विदाई ले लेनी चाहिए.

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि सीएम अशोक गहलोत को निचले स्तर की बयानबाजी त्यागकर ससम्मान विदाई ले लेनी चाहिए.

दिल्ली. राजस्थान में जारी सियासी बवाल के बीच एक बार फिर से खींचतान शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर अब तक का सबसे तीखा प्रहार करते हुए कहा कि पायलट को कैसे सीएम बना सकते हैं. जिस आदमी के पास 10 विधायक नहीं है, जिस व्यक्ति ने ​​बगावत की हो और जिसे गद्दार नाम दिया गया हो, उसे लोग कैसे स्वीकार कर सकते हैं.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस बयान पर न्यूज- 18 संवाददाता लखवीर सिंह शेखावत से खास बातचीत में आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा अशोक गहलोत का यह बयान सचिन पायलट नहीं बल्कि कांग्रेस लीडरशिप और पार्टी सिद्धांतों के खिलाफ है. उन्होंने सीधे तौर पर गांधी परिवार को चैलेंज किया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लग रहा है कि अब उनकी विदाई तय है, क्योंकि उन्होंने षडयंत्र के तहत कांग्रेस लीडरशिप के खिलाफ सभी विधायकों को धोखे में रखकर सीएलपी की बैठक नहीं होने दी और कांग्रेस आलाकमान को अपमानित करने का काम किया. इसलिए अब उन्हें डर है कि राजस्थान में बदलाव हो सकता है.

बीजेपी दफ्तर से दस लाख उठाने के सवाल पर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अशोक गहलोत कांग्रेस नेता होने के साथ ही एक राज्य के मुख्यमंत्री हैं. अगर उनके पास सबूत थे तो अब तक मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया. एक साल से इस बात को दबाए क्यों बैठे थे. यह बात उन्हें तब याद आई जब उन्हें लगा कि राजस्थान में अब बदलाव होने जा रहा है. इतनी बड़ी बात पता होने के बावजूद ठीक समय पर नहीं बताने से बीजेपी की असली मदद खुद अशोक गहलोत ने की है. स्वयं को कांग्रेस का सच्चा सिपाही बताकर सोनिया गांधी के पास अपना इस्तीफा होने की बात कहने वाले अशोक गहलोत इस बयान से बीजेपी से मिले हुए नजर आ रहे हैं.

आपके शहर से (जयपुर)

DAUSA Education News : बच्चे कैसे करें पढ़ाई, जब 19 में से 10 शिक्षकों के पद खाली

राजस्थान: खुशियों को लगा ग्रहण, लगन टीका समारोह में किए हर्ष फायर, गाेली लगने से 2 परिजनों की मौत

हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद Congress का प्रदर्शन, Srinivas BV ने Police पर लगाया बल प्रयोग का आरोप

बेटी की शादी ने बदल डाली गांव की तकदीर: धोरों में चौड़ी सड़कें बनी, खजूर के पेड़ लगे, लाइट्स चमकी

Ukraine War के बीच Russia का India को लेकर बहुत बड़ा बयान, America पर साधा निशाना | Denis Alipov

PM Modi के Dausa दौरे को लेकर Satish Poonia का बड़ा बयान, कहा- 'देश जोड़ने का काम कर रही मोदी सरकार'

Big Breaking News | देखिए शाम की बड़ी खबरें | Breaking News | IT Raid in Jaipur | News18 Rajasthan

Breaking News: तुर्की में आए Earthquake पर PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख, जनहानि से दुखी हूं..| News

राजस्थान की एक ऐसी अनोखी प्रतियोगिता, यहां आयोजित होती है भैंसे और ऊंट की रेस, जानिए इसके क्या हैं नियम

Turkey Earthquake : तुर्की भूकंप की 10 बड़ी खबरें| Latest World News | Speed News | Hindi News

चूरू-रतनगढ़ ट्रैक का होगा दोहरीकरण, 422 करोड़ रुपए बजट पास, जिले से गुजरेगी वंदे भारत एक्सप्रेस


आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अशोक गहलोत कांग्रेस आलाकमान को भ्रमित कर रहे हैं और डरा रहे हैं कि उन्हें हटाया गया तो सरकार गिर जाएगी. अगर ऐसा होता है तो सबसे बड़ा गद्दार कौन होगा, यह अब स्पष्ट हो गया है. उन्होंने कहा सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को आलाकमान पर छोड़ना चाहिए. और आलाकमान की सभी विधायकों से वन टू वन बातचीत होनी चाहिए, ताकि सच्चाई सभी लोगों के सामने खुलकर आ सके.

कांग्रेस नेता कृष्णम के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को निचले स्तर की बयानबाजी त्यागकर और जिद छोड़ते हुए ससम्मान विदाई लेनी चाहिए. उन्होंने कहा राहुल गांधी एक संकल्प के साथ भारत जोड़ो यात्रा पर निकले हुए हैं, जबकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ही उसमें पलीता लगाने का काम कर रहे हैं. अशोक गहलोत को बड़ा दिल दिखाते हुए अब एक पिता और अभिभावक के रूप में सचिन पायलट को सत्ता सौंप देनी चाहिए. इस फैसले का सभी कांग्रेस जन स्वागत करेंगे. लेकिन जिस प्रकार की बयानबाजी अशोक गहलोत कर रहे हैं उससे सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कष्ट हो रहा है.

उन्होंने कहा कांग्रेस नेता राहुल गांधी कहते हैं कि पीएम मोदी अडानी को देश बेच रहे हैं, जबकि अशोक गहलोत स्वयं अडानी के साथ खड़े हैं. ऐसे में अशोक गहलोत को स्पष्ट करना चाहिए कि वह अडानी के साथ हैं या राहुल गांधी के.


ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Acharya Pramod Krishnam, Ashok gehlot, Congress, Rajasthan news, Sachin pilot

FIRST PUBLISHED : November 24, 2022, 20:43 IST
अधिक पढ़ें