Home / News / rajasthan /

इंसाफ के लिये 11 दिन तक 3 मासूम बच्चों के साथ महिला ने किया 350 KM का पैदल सफर, जानें पूरी कहानी

इंसाफ के लिये 11 दिन तक 3 मासूम बच्चों के साथ महिला ने किया 350 KM का पैदल सफर, जानें पूरी कहानी

बीकानेर से पैदल ही जयपुर पहुंची टीचर सुरेन्द्र कौर की मांग है कि उसे मुख्यमंत्री से मिलाया जाए.

बीकानेर से पैदल ही जयपुर पहुंची टीचर सुरेन्द्र कौर की मांग है कि उसे मुख्यमंत्री से मिलाया जाए.

Rajasthan latest news: राजस्थान में इंसाफ की आस में करीब 45 दिन तक अनशन करने पर भी जब एक महिला टीचर को न्याय नहीं मिला तो वह सीएम अशोक गहलोत से मुलाकात करने के लिये अपने 3 बच्चों के साथ पैदल ही चल पड़ी. 11 दिन में 350 किलोमीटर पैदल सफर कर वह जयपुर तो पहुंच गई लेकिन यहां उसकी सीएम से मुलाकात नहीं हो पायी. महिला टीचर की मांग है कि उसे सीएम गहलोत से मिलवाया जाये अन्यथा वह यहां पैदल ही दिल्ली जायेगी.

जयपुर. इंसाफ (Justice) की मांग लेकर बीकानेर में 45 दिन तक अनशन पर रही महिला शिक्षक सुरेन्द्र कौर (Surendra Kaur) को जब न्याय नहीं मिला तो वह अपने तीन मासूम बच्चों को लेकर बीकानेर से ही पैदल जयपुर के लिए रवाना हो गई. 11 दिन में बीकानेर से करीब 350 किलोमीटर पैदल सफर कर महिला जयपुर तो पहुंच गई, लेकिन उसकी सीएम अशोक गहलोत से मुलाकात नहीं हो पाई. महिला का कहना है कि उसकी मांग को पूरा किया जाए और उसे इंसाफ दिलाया जाए.

सुरेंद्र कौर का कहना है कि मुख्यमंत्री के अधिकारियों से उनकी मुलाकात करवा दी गई. उन्हें यह कहा गया कि मुख्यमंत्री कोरोना के चलते अभी लोगों से सीधे मुलाकात नहीं कर रहे हैं. इस शिक्षिका का कहना है कि उसके साथ जो नाइंसाफी हुई है उसके लिए उसे मुख्यमंत्री से मुलाकात करनी है और इंसाफ चाहिए. अगर अगले 2 दिनों में उन्हें इंसाफ नहीं दिया गया और मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं कराई गई तो वह जयपुर से अपने तीन बच्चों को लेकर पैदल ही दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगी और वहां प्रधानमंत्री से अपनी गुहार लगाएगी.


तृतीय श्रेणी की टीचर है सुरेन्द्र कौर
दरअसल सुरेंद्र कौर सरकारी स्कूल में तृतीय श्रेणी की टीचर है. उसने उस स्कूल के प्रधानाध्यापक के ऊपर गंभीर आरोप लगाये हैं. सुरेन्द्र कौर का कहना है कि प्रधानाध्यापक ने उसको धक्का दिया. उसके साथ मारपीट कर दुर्व्यवहार किया. सुरेंद्र कौर का यह भी आरोप है कि प्रधानाध्यापक ने गलत तरीके से इंटर्नशिप का सर्टिफिकेट बना कर देना चाहा. उसने प्रधानाध्यापक की इस गैरकानूनी कार्रवाई में मदद करने से इंकार कर दिया.

बीकानेर में 45 दिन तक धरने पर बैठी रही टीचर
इस पर प्रधानाध्यापक उनके साथ में दुर्व्यवहार किया उन्हें धक्का दे दिया. अपने साथ हुई नाइंसाफी के खिलाफ इंसाफ मांगने के लिए सुरेंद्र कौर बीकानेर में ही 45 दिन तक धरने पर बैठी रही और अनशन किया. जब वहां पर उसे इंसाफ नहीं मिला तो अपने तीन मासूम बच्चों को लेकर बीकानेर से पैदल जयपुर के लिए रवाना हो गई.

आपके शहर से (जयपुर)

पायलट सरनेम की पीछे की क्या है कहानी? Sachin Pilot ने खुद किया खुलासा

Anand Mahindra ने पूरा किया वादा, गोल्डन गर्ल अवनि लेखरा को गिफ्ट की स्पेशल XUV-700, जानें कीमत

Rajasthan के राज्यपाल कलराज मिश्र का ट्विटर अकाउंट हैक, मचा हड़कंप

अनोखा रिश्ता: बुजुर्ग की मौत के बाद श्मशान गया बगुला, चिता जलने तक नहीं छोड़ा साथ

इस गांव में नहीं बनाते दो मंजिला मकान, 700 साल से है लोगों में खौफ, पढ़ें पूरी कहानी

पेड़ पर बनाया सपनों का घर, किसी हवामहल से कम नहीं यह Green Tree Hut, देखें PHOTOS

Indian Railway: साल 2022 में मिली बड़ी सौगात, लंबी दूरी के ये ट्रेनें अब इन 5 स्टेशनों पर भी रुकेंगी

Rajasthan की तस्वीर बदलने जा रहे ये 4 बड़े प्रोजेक्ट, इन 18 जिलों को सीधा फायदा, जानिए सब कुछ

Delhi-Ahemdabad Bullet Train Latest News: दिल्ली-रेवाड़ी के रास्ते राजस्थान आएगी बुलेट ट्रेन, बनेंगे 9 स्टेशन

लेडी कांस्टेबल से वन नाइट की डिमांड करने वाले SHO ने कहा था- 'फाइल साइड में रख दो, तुम तो बस...

SHO ने महिला कांस्टेबल से मांगा एक रात का साथ, बोला- मैं तुम्हें बहुत चाहता हूं, मेरे सामने यूं ही...


अब शहीद स्मारक पर कर रही है अनशन
सफर लंबा था और अनशन भी जारी था. लेकिन वह 11 दिन तक पैदल चलकर करीब 350 किलोमीटर का सफर पूरा कर सोमवार को जयपुर पहुंची. लेकिन यहां उसे मुख्यमंत्री से नहीं मिलाया गया. महिला ने जयपुर में शहीद स्मारक पर अनशन कर रही है. सुरेन्द्र कौर की मांग है कि उसे मुख्यमंत्री से मिलाया जाए.

Tags:Ashok gehlot, Rajasthan latest news, Rajasthan news in hindi, Rajasthan News Update