Home / News / rajasthan /

jaipur international airport conditions to be worsen during rainy season know what is the reason rjsr

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट: मौसम फिर बिगाड़ेगा शेड्यूल, यात्रियों की बढ़ेंगी मुसीबतें, यह है बड़ी वजह

देरी के कारण कई बार फ्लाइट को ही रद्द कर दिया जाता है.

देरी के कारण कई बार फ्लाइट को ही रद्द कर दिया जाता है.

खराब मौसम बिगाड़ेगा जयपुर एयरपोर्ट के हालात: मानसून के आते ही जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jaipur International Airport) पर फिर से यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसकी वजह एयरपोर्ट की व्यवस्थायें नहीं बल्कि खराब मौसम (Bad weather) है. मौसम खराब होते ही दिल्ली की कई फ्लाइट्स को सीधे जयपुर डाइवर्ट कर दिया जाता है. इससे जयपुर एयरपोर्ट पर यात्रियों की मुसीबतें बढ़ जाती है. जानिये क्या है इसकी बड़ी वजह.

जयपुर. आंधियों और बारिश का मौसम (Storms and rainy season) आते ही जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jaipur International Airport) की मुसीबतें बढ़ने लग गई हैं. तेज आंधी और बरसात में दिल्ली जाने वाली आधी से ज्यादा फ्लाइट्स डायवर्ट होकर जयपुर पहुंचती हैं. इस डायवर्जन की वजह से जयपुर एयरपोर्ट का खुद का शेड्यूल गड़बड़ा जाता है. वजह है पार्किंग की कमी और एयरपोर्ट पर एक रन-वे का होना. हालांकि पिछले कुछ समय में जयपुर एयरपोर्ट के पार्किंग वे में सुधार किया गया है लेकिन डायवर्जन के आगे ये कोशिशे ऊंट के मुंह में जीरे के बराबर साबित हो रही हैं.

हाल ही में जयपुर में बीजेपी पदाधिकारियों की बैठक संपन्न हुई थी. इस बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से लेकर प्रत्येक प्रदेश के बीजेपी अध्यक्ष पहुंचे थे. लेकिन जब बैठक खत्म करके सब दिल्ली लौटने लगे तो ज्यादातर की फ्लाइट दिल्ली के करीब पहुंचकर वापस लौट आई. वजह थी दिल्ली में खराब मौसम. ऐसा पहली बार नहीं हुआ है. पहले भी होता रहा है. मौसम की खराबी की वजह से हर साल जयपुर एयरपोर्ट की परेशानियां बढ़ जाती है.


कई बार फ्लाइट्स का ये आंकड़ा 100 को पार कर जाता है
न केवल आंधियों के मौसम में बल्कि ज्यादा सर्दी के समय कोहरा और ज्यादा बारिश के कारण भी दिल्ली जाने वाली ज्यादातर फ्लाइट्स को जयपुर की तरफ मोड़ दिया जाता है. जब दिल्ली की फ्लाइट्स जयपुर लैंड करती है तो जयपुर एयरपोर्ट का शेड्यूल गड़बड़ा जाता है. खुद जयपुर एयरपोर्ट से रोजाना 57 डोमेस्टिक और इंटरनेशनल फ्लाइट्स उड़ान भरती है. ऐसे में 30 से 35 फ्लाइट्स डायवर्ट होकर जयपुर पहुंच जाती है तो फ्लाइट्स का ये आंकड़ा 100 को पार कर जाता है.

आपके शहर से (जयपुर)

राजस्थान: 2 ट्रेलर में भिड़ंत के बाद लगी भीषण आग, 3 लोग जिंदा जले, केवल अवशेष मिले

टीना डाबी से अलग होने के बाद अब अतहर आमिर भी कर रहे हैं दूसरी शादी, जानें कौन बनेगी दुल्हन

राजस्थान: बदमाशों ने महज 17 मिनट में लूटा एक्सिस बैंक, 32 लोगों को बंधक बनाया, 90 लाख ले गये

राजस्थान: अलवर में दिनदहाड़े एक्सिस बैंक में डकैती, 70-80 लाख रुपये नकदी और सोना लूटा

अशोक गहलोत के बयान पर उनके ही मंत्री और विधायक में साामने आया विरोधाभाष, पढ़ें किसने क्या कहा?

मुर्गे से उतारी जाती है छोटे बच्चों की नजर, पूजा करने के लिए पहुंचते हैं परिवार के साथ लोग

उदयपुर कन्हैयालाल मर्डर केस: एक और आरोपी गिरफ्तार, 2 अन्य को लिया हिरासत में, पढ़ें ताजा अपडेट

पहली बार कलेक्टर का पद संभालेंगी टीना डाबी, इस जिले की मिली जिम्मेदारी, देखें तबादलों की सूची

राजस्थान के रेल यात्रियों के लिए बुरी खबर, 7 जुलाई तक रद्द रहेंगी ये ट्रेनें, देखें पूरी डिटेल

राजस्थान ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव: 33 आईएएस और 16 आईपीएस के तबादले, देखें किसको कहां लगाया

Rajasthan Police Constable answer key 2022: राजस्थान पुलिस ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2022 की उत्तर कुंजी जारी, 4588 पदों पर होगी भर्ती


देरी के कारण कई बार फ्लाइट को ही रद्द कर दिया जाता है
जयपुर एयरपोर्ट पर एक ही रन-वे होने के कारण यहां का सारा शेड्यूल धवस्त हो जाता है. जयपुर एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाले यात्रियों को फ्लाइट के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है. अक्सर इस देरी के कारण फ्लाइट को ही रद्द कर दिया जाता है. जयपुर एयरपोर्ट ने इस समस्या से निपटने के कुछ अतिरिक्त पार्किंग-बे बनाए लेकिन ये नाकाफी साबित हो रहे हैं. क्योंकि इससे फ्लाइट को पार्क करने की जगह तो मिल जाएगी लेकिन एक ही रन-वे होने के कारण दुबारा उड़ने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ेगा.

कई बार फ्लाइट में ही 6 से 7 घंटे तक बैठे रहना पड़ता है
इससे न केवल जयपुर एयरपोर्ट के यात्री बल्कि दिल्ली से डायवर्ट होकर आए यात्रियों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. दिल्ली से डायवर्ट होकर आए यात्रियों को तो कई बार फ्लाइट में ही 6 से 7 घंटे बैठे रहना पड़ता है. क्योंकि 15 से 20 फ्लाइट के यात्रियों को लॉबी में लेकर जाना मुमकिन नहीं हो पाता. इनकी संख्या 500 से भी ज्यादा होती है.

मौसम की जानकारी को लेकर ऊहापोह की स्थिति बनी रहती है
इस मुश्किल का सबसे बड़ा कारण मौसम का जानकारी का सही समय पर ना मिल पाना भी है. तमाम आधुनिक संसाधनों के बावजूद जयपुर एयरपोर्ट पर मौसम की जानकारी को लेकर हमेशा ऊहापोह की स्थिति बनी रहती है. अगर सही समय पर जयपुर एयरपोर्ट के पास मौसम की सही जानकारी आ जाती है तो डायवर्जन की समस्या से काफी हद तक निजात मिल सकती है. फिलहाल हालात जस के तस हैं और मानसून आने वाला है. ऐसे में एक बार फिर से जयपुर एयरपोर्ट की मुश्किलें बढ़ने वाली है.

Tags:Jaipur Airport, Jaipur news, Rajasthan news, Weather