पीसीसी चीफ सचिन पायलट बने पूर्व सीएम अशोक गहलोत के सारथी

कांग्रेस की करौली में आयोजित संकल्प रैली में पीसीसी चीफ सचिन पायलट पूर्व सीएम एवं पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव अशोक गहलोत के सारथी बने.

Goverdhan Chaudhary , News18 Rajasthan
कांग्रेस की करौली में आयोजित संकल्प रैली में पीसीसी चीफ सचिन पायलट पूर्व सीएम एवं पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव अशोक गहलोत के सारथी बने. करौली शहर में जाम के चलते पैदा हुई इस स्थिति के कारण दोनों नेताओं ने काफी दूरी मोटरसाइकिल पर ही तय की. इस दौरान दोनों दिग्गजों ने सभा स्थल तक पहुंचने की समस्या का समाधान कर दोनों के बीच चल रही मतभेद की खबरों पर विराम लगाते हुए एकजुटता का संदेश भी दे डाला.दरअसल मंगलवार को करौली में आयोजित भरतपुर संभाग की संकल्प रैली में संभागभर से उमड़े कार्यकर्ताओं के चलते हिंडौन-करौली मार्ग पर जबर्दस्त जाम लग गया था. वहीं करौली शहर में भी यातायात व्यवस्था पूरी तरह से गड़बड़ा गई थी. रैली के लिए जयपुर से पायलट व गहलोत समेत सभी वरिष्ठ नेता एक बस में गए थे, लेकिन यह बस भी जाम में फंस गई. जैसे तैसे करके बस करौली तो पहुंच गई, लेकिन करौली शहर में बस को ले जाना मुश्किल हो गया.भीड़ के कारण बस नहीं जा सकी थी शहर में
ऐसे में सभी नेता सभा स्थल से काफी दूर पहले ही बस से उतर गए. बाद में पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने एक कार्यकर्ता से बाइक ली और गहलोत को पीछे बिठा लिया. सचिन काफी दूर तक जाम की स्थिति से जूझते हुए गहलोत को बाइक से ले गए. बाद में आगे जाकर एक कार में सवार होकर सभा स्थल पहुंचे. सभा स्थल पर भी भीड़ भड़क्के के चलते नेताओें को मंच तक पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.यह भी पढ़ें:  LIVE राजस्थान छात्रसंघ चुनाव RESULTS: नतीजे आने शुरू, यहां देखें- कहां कौन जीता?सीएम फेस को लेकर हो चुकी है दोनों के बीच बयानबाजी
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों सीएम फेस को लेकर दोनों नेताओं के बीच कई बार अप्रत्यक्ष रूप से बयानबाजी हुई थी. इस दरम्यिान दोनों के बीच मतभेद के खबरें भी आई थी. लेकिन करौली में पायलट के गहलोत के सारथी बनने के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं.

Trending Now