Home / News / rajasthan /

Rajasthan के गांव की बेटी बनी मिसाल, यूनेस्को वर्ल्ड टीन पार्लियामेंट में बनी खास सांसद

Rajasthan के गांव की बेटी बनी मिसाल, यूनेस्को वर्ल्ड टीन पार्लियामेंट में बनी खास सांसद

Udaipur Samachar: 
लूणदा गांव की रहने वाली अन्नपूर्णा कृष्णावत ने उदयपुर का नाम दुनिया में रोशन किया है.

Udaipur Samachar: लूणदा गांव की रहने वाली अन्नपूर्णा कृष्णावत ने उदयपुर का नाम दुनिया में रोशन किया है.

UNESCO World Teen Parliament News: उदयपुर के लूणदा गांव की रहने वाली अन्नपूर्णा ने कमाल कर दिया है. उन्हें यूनेस्को की विश्व किशोर संसद में बतौर इनफ्लुएंसर सांसद के रूप में शामिल किया गया है. इस संसद के लिए पूरी दुनिया से केवल 300 प्रतिभागियों का चयन किया जाना था. इन 300 में से टॉप 200 को संसद में जगह दी जानी थी. इन टॉप प्रतिभागियों में उदयपुर की अन्नपूर्णा का चयन हो गया . दरअसल वर्ल्ड टीन पार्लियामेंट 2021 की ओर से जुलाई महीने में एक फॉर्म के माध्यम से दुनियाभर के युवाओं से 59 सेकंड का एक वीडियो बनाकर "मैं दुनिया को कैसे सुधार सकता हूं" विषय पर उनकी राय जानी थी.

उदयपुर. उदयपुर के लूणदा गांव की रहने वाली अन्नपूर्णा यूनेस्को (UNESCO) की विश्व किशोर संसद (World Juvenile Parliament) में बतौर इनफ्लुएंसर सांसद के रूप में शामिल हुई. किशोर संसद के लिए दुनियाभर के 300 प्रतिभागियों का चयन किया गया था और उसमें से टॉप 200 का सिलेक्शन किया गया. इन 200 प्रतिभागियों में उदयपुर की अन्नपूर्णा भी शामिल है. दरअसल वर्ल्ड टीन पार्लियामेंट 2021 की ओर से जुलाई महीने में एक फॉर्म के माध्यम से दुनियाभर के युवाओं से 59 सेकंड का एक वीडियो बनाकर “मैं दुनिया को कैसे सुधार सकता हूं” विषय पर उनकी राय जानी थी. इस विषय पर उदयपुर की अन्नपूर्णा ने भी अंग्रेजी भाषा में 59 सेकंड का वीडियो वर्ल्ड टीन पार्लियामेंट के फेसबुक पेज पर अपलोड किया था. अन्नपूर्णा का चयन होने के बाद पहला पार्लियामेंट्री सेशन जूम मीटिंग पर आयोजित किया गया.

इस सेशन में राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी, युनिसेफ चीफ ऑफ जनरेशन युवा की द्वारका श्रीराम व हेड ऑफ सेंटर इंडस्ट्रियल रिवॉल्यूशन नेटवर्क पुरुषोत्तम कौशिक ऑनलाइन मौजूद रहे. डॉ. सीपी जोशी ने कार्यक्रम में दुनिया के अलग-अलग देशों में डेमोक्रेसी के अलग-अलग तरीकों की जानकारी दी. अन्नपूर्णा इस ऑनलाइन सेशन में इनफ्लुएंसर सांसद के रूप में शामिल हुई. अन्नपूर्णा अपने गांव में खूबसूरत पेंटिंग बनाने को लेकर भी प्रसिद्ध है. उसे डांस करना भी पसंद है.


किशोरों को जागरूक करने की बात

कल्याण सिंह कृष्णावत, जो पेशे से किसान है, उनकी 12वीं में पढ़ने वाली बेटी अन्नपूर्णा ने अपने वीडियो के मार्फत एक बड़ा संदेश देने की कोशिश की, इसीलिए उसे ना सिर्फ यूनेस्को की संसद में भाग लेने के लिए चुना गया, बल्कि उसे इनफ्लुएंसर सांसद बनाया गया. पहले सेशन में अन्नपूर्णा ने अपनी बात रखी और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को और किशोरों को जागरूक करने की बात कही. अन्नपूर्णा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के लिए एक ऐसे प्लेटफॉर्म पर जोर दिया, जहां वह अपने आइडिया और अनुभवों को साझा कर सकें.

आपके शहर से (उदयपुर)

हनीट्रैप: पाक हसीना के जाल में फंसा सेना का जवान अब 2 दिन के रिमांड पर, यूं फंसाया था

राजस्थान मौसम अलर्ट: आज फिर बदलेगा मौसम, 1-2 जगह ओलावृष्टि के आसार, पढ़ें आगे 2 दिन कहां क्या होगा

RPSC Recruitment 2022 : राजस्थान में वरिष्ठ अध्यापकों की 417 वैकेंसी, आज से करें आवेदन, जानें योग्यता

जन्मदिन विशेष : गायत्री देवी इतनी सुंदर थीं कि मेकअप की जरूरत नहीं पड़ती थी

जन्मदिन गायत्रीदेवी : क्या स्कूल के जमाने से शुरू हुई थी राजमाता और इंदिरा की रंजिश

RBSE 12th Result: कब आएगा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट, आज बताएगा बोर्ड

शादी के 20 दिन बाद दुल्हन ने खोला बड़ा राज़, सुनकर पति आया सदमे में, सीधा पहुंचा पुलिस के पास

चाचा ने भतीजे को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, शव को सड़क पर फेंका, चाची से थे गलत संबंध

REET 2022: रीट परीक्षा के लिए दोपहर 12 बजे तक करें आवेदन, 23 जुलाई से होंगे एग्जाम

बिहार में भीषण सड़क हादसा, कश्मीर जा रहे राजस्थान के 8 मजदूरों की दर्दनाक मौत

जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट: मौसम फिर बिगाड़ेगा शेड्यूल, यात्रियों की बढ़ेंगी मुसीबतें, यह है बड़ी वजह


स्वच्छता होगी तो बीमारियां नहीं फैलेगी: अन्नपूर्णा

अन्नपूर्णा ने अपने वीडियो में स्वच्छता के बारे में बताते हुए कहा “अगर स्वच्छता होगी तो बीमारियां नहीं फैलेगी. अगर प्रत्येक देश चिकित्सा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर होगा, तो आज जो परिस्थितियां हैं, उससे राहत मिलेगी.” अन्नपूर्णा ने ऑनलाइन और पेपर वर्क को प्रमोट करने की बात कहते हुए कहा कि जितना कार्य ऑनलाइन होगा, उतने ही मीटिंग के खर्च बचेंगें. अन्नपूर्णा ने शिक्षा की नीतियों को बदलने की बात कही. उसने कहा कि शिक्षा का मतलब पैसा कमाना नहीं होना चाहिए. अन्नपूर्णा भले ही छोटे से गांव की रहने वाली हो, लेकिन उसने अपनी काबिलियत के दम पर पूरी दुनिया में लोहा मनवाया है. उदयपुर का नाम दुनिया में रोशन किया है.

Tags:Rajasthan news, Udaipur news