Home / News / rajasthan /

udaipur kanhaiyalal murder case conspiracy was to kill 3 people in a single day by talibani way read latest updates rjsr

उदयपुर कन्हैयालाल मर्डर केस : एक ही दिन में 3 लोगों की तालिबानी तरीके से हत्या करने की थी साजिश

उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल समेत तीन लोगों की हत्या का प्लान 20 जून को फाइनल किया गया था.

उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल समेत तीन लोगों की हत्या का प्लान 20 जून को फाइनल किया गया था.

उदयपुर मर्डर केस में सामने आई सनसनीखेज साजिश: उदयपुर के टेलर कन्हैयालाल हत्याकांड (Udaipur Kanhaiyalal Murder Case) की एनआईए की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. इस हत्या की साजिश रचने वाले 28 जून को कन्हैयालाल के साथ दो और अन्य लोगों को तालिबानी तरीके (Talibani way) से मौत के घाट उतारने वाले थे. लेकिन उन दोनों व्यक्तियों की रेकी सही ढंग से नहीं हो पाने के कारण वे बच गये. पढ़ें एनआईए की जांच में और क्या-क्या हुए हैं खुलासे.

जयपुर. उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल मर्डर केस (Udaipur Kanhaiyalal Murder Case) की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे रोजाना इस घिनौनी साजिश के नये-नये राज सामने आ रहे हैं. जांच में अब सामने आया है कि जिस दिन कन्हैयालाल को गला काटकर क्रूरतापूर्वक मारा गया था. उसी दिन दो और लोगों की तालिबानी तरीके (Talibani way) से हत्या किये जाने का प्लान था. लेकिन उन दोनों लोगों की सही तरीके से रेकी नहीं हो पाने के कारण उनकी जान बच गई. इन दो लोगों की हत्या के लिए 4 अन्य लोगों को जिम्मेदारी दी गई थी. इस मामले की जांच एनआईए कर रही है.

जांच एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक कन्हैयालाल की हत्या की साजिश को और बड़ा रूप देने की तैयारी थी. इसके लिए एक ही दिन में तीन लोगों की तालिबानी तरीके से हत्या करने की साजिश रची गई थी. षड़यंत्रकारी कन्हैयालाल की रेकी कर उसकी हत्या करने में तो कामयाब हो गये, लेकिन दो अन्य लोगों की रेकी ठीक ढंग से नहीं होने के कारण उनके मंसूबे पूरे नहीं हो पाये और दो लोगों की जान बच गई.


20 जून को फाइनल किया गया था हत्या का प्लान
जांच में सामने आया है कि नूपुर शर्मा को लेकर सोशल मीडिया पर टिप्पणी किये के जाने बाद इस पूरी साजिश को तैयार किया गया था. 17 जून को हत्या की साजिश को लेकर षड़यंत्रकारियों ने बैठक की थी. बाद 20 जून को ही उदयपुर कलक्ट्रेट पर नूपुर शर्मा के खिलाफ प्रदर्शन किया गया था. इस प्रदर्शन के बाद रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद के साथ हत्या की साजिश में शामिल चुनिंदा लोगों की शहर के मुखर्जी सर्किल पर बैठक हुई थी. इस बैठक में हत्या किस तरीके से और कहां करनी है इस पर चर्चा कर अंतिम फैसला किया गया था. उसके बाद 28 जून को साजिश को अंजाम दे दिया गया.

आपके शहर से (जयपुर)

RBSE 10th 12th Exam 2023: राजस्थान बोर्ड परीक्षाओं के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, जान लें जरूरी बातें

राजस्थान: आत्मदाह करने वाले पुजारी की मौत, 18 घंटे चला उपचार; कड़ी सुरक्षा में होगा अंतिम संस्कार

घर पर सो रहा था पति, पत्नी ने दिया बड़े कांड को अंजाम, जागा तो निकाला चाकू और फिर...

11 माह के नवजात को पिता ने नहर में जिंदा फेंका, दो साल पहले की थी लव मैरिज

Rajasthan Student Union Election: मंत्री की बेटी निहारिका जोरवाल को नहीं मिला टिकट, निर्दलीय लड़ने की तैयारी

उदयपुर के व्यापारियों के लिए खुशखबरी! एयरपोर्ट परिसर पर बनेगा एयर कार्गो, मिलेगा ये फायदा

यहां हाथ में जूता-चप्पल लेकर परीक्षा देने पहुंचे कॉलेज स्टूडेंट, छात्र नेता बोले- हाल है बेहाल

राजस्‍थान में भीषण सड़क हादसा, 8 श्रद्धालुओं की मौत, 16 से अधिक घायल

किसके चेहरे पर कांग्रेस लड़ेगी 2023 विधानसभा चुनाव, राजस्थान के मंत्री उदयलाल आंजना ने दिया जवाब

कटीली झाड़ियों में मिली थी नवजात, अस्पताल पहुंचते ही बन गई परी, डॉक्टर्स के चेहरे पर आई मुस्कान

Rajasthan: गहलोत सरकार महिलाओं को देगी बड़ा तोहफा, मुफ्त में मिलेगा स्मार्टफोन, जानें सबकुछ


रियाज ने कानपुर से मंगवाए थे 6 छुरे
इससे पहले रियाज ने कानपुर से 6 छुरे मंगवाए थे. इन छुरों को उदयपुर में एस के इंजीनियरिंग फैक्ट्री में धार दी गई थी. फैक्ट्री में भी दो छुरे अलग से बनाए गये थे. खंजरनुमा ये छुरे कानपुर से सरताज ने भेजे थे. सरताज दावत-ए-इस्लामी से जुड़ा है. एनआईए टीम कानपुर में सरताज की तलाश कर रही है. कन्हैयालाल के साथ दो और लोगों की हत्या का जिम्मा जिन चार लोगों को सौंपा गया था एनआईए ने उन्हें भी राउंडअप कर लिया है.

Tags:Crime News, Jaipur news, Murder case, Rajasthan news, Udaipur news