लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

जवाहर बाग हिंसा कांड: इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज होगी सुनवाई, 70 महीने बाद भी नहीं हुई CBI जांच पूरी

जवाहर बाग हिंसा कांड: इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज होगी सुनवाई, 70 महीने बाद भी नहीं हुई CBI जांच पूरी

Jawahar Bagh Case: 2 जून 2016 को पार्क खाली कराने को लेकर हुई हिंसा में तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी समेत तकरीबन दो दर्जन लोग मारे गए थे. हिंसा के लिए उकसाने के मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव को तत्कालीन अखिलेश यादव सरकार का बेहद करीबी माना जाता था. घटना की सीबीआई जांच की मांग को लेकर मौत का शिकार हुए एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना समेत कई लोगों ने याचिका दाखिल की थी.

Allahabad High Court में आज होगी मथुरा के जवाहर बाग हिंसा मामले की सुनवाई

Allahabad High Court में आज होगी मथुरा के जवाहर बाग हिंसा मामले की सुनवाई

हाइलाइट्स

जवाहर बाग हिंसाकांड मामले की सुनवाई गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में होगी
70 महीने का लंबा वक्त बीतने के बावजूद अभी तक सीबीआई जांच पूरी नहीं

प्रयागराज. 2 जून 2016 को मथुरा के बहुचर्चित जवाहर बाग हिंसाकांड मामले की सुनवाई गुरुवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में होगी. इस मामले में तकरीबन 70 महीने का लंबा वक्त बीतने के बावजूद अभी तक सीबीआई जांच पूरी नहीं हो सकी है. जवाहर बाग हिंसा मामले में हाईकोर्ट ने 2 मार्च 2017 को सीबीआई जांच के आदेश दिए थे. हाईकोर्ट ने सीबीआई को 2 महीने में जांच पूरी करने को कहा था, लेकिन 70 महीने का वक्त बीतने के बावजूद सीबीआई अभी तक इस मामले में अपनी जांच पूरी नहीं कर सकी है.

गौरतलब है कि 2 जून 2016 को पार्क खाली कराने को लेकर हुई हिंसा में तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी समेत तकरीबन दो दर्जन लोग मारे गए थे. हिंसा के लिए उकसाने के मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव को तत्कालीन अखिलेश यादव सरकार का बेहद करीबी माना जाता था. घटना की सीबीआई जांच की मांग को लेकर मौत का शिकार हुए एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना समेत कई लोगों ने याचिका दाखिल की थी.

सीबीआई जांच पूरी न होने पर याचिकाकर्ताओं ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया
70 महीने में सीबीआई द्वारा जांच पूरी नहीं किए जाने पर याचिकाकर्ताओं ने हाईकोर्ट में इस मामले को फिर से उठाया है. जिसकी सुनवाई जस्टिस मनोज मिश्रा और जस्टिस विकास की डिवीजन बेंच में होगी.

आपके शहर से (इलाहाबाद)

UP Board Exam 2023: यूपी बोर्ड परीक्षा कहां होगी? यहां देखें एडमिट कार्ड से जुड़ा जरूरी अपडेट

Azab-Ghazab: इस मंदिर में जूते-चप्पल चोरी होने से मिलती है सुख-शांति, जानिए इससे जुड़ी मान्यता

UP Board Exam: विज्ञान का 70 नंबरों का होगा एग्जाम, अच्छे नंबरों के लिए करना होगा ये काम

25 साल की कथावाचक...विज्ञान की पढ़ाई के बाद राधिका ने अपनाया धर्म का रास्ता

UP Board Exam 2023: यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए ये इलाके हैं डेंजर जोन, सचिव ने जारी की लिस्ट

प्रयागराज: अनूठी है 18 सालों तक सिर पर अग्नि रखकर तप करने की परंपरा, नियम टूटा तो...

प्रयागराज आकर जानें अपने पूर्वजों का इतिहास, पंडा जी के पास है तमाम जानकारियां

Tragic Love Story: फेसबुक पर हुई दोस्ती, मंदिर में थामा हाथ और वैलंटाइंस वीक में लगा ली फांसी

Prayagraj: प्रेगनेंट महिलाओं को बिना डोनर मुफ्त में मिलेगा खून, तीमारदारों को मिली बड़ी राहत

कौन सा एकमात्र वस्त्र धारण करती हैं महिला नागा साधु, कितना कठिन जीवन जीती हैं

पुण्यतिथि : कितनी थी नेहरू के पिता की कमाई, मशहूर हैं जिनके ठाट-बाट के किस्से


ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Allahabad high court, UP latest news

FIRST PUBLISHED : November 24, 2022, 09:51 IST
अधिक पढ़ें