लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबक्रिकेटआईपीएल 2023वेब स्टोरीजफूडमनोरंजनफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#GiveWingsToYourSavings#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealthCryptocurrency
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

Barabanki News: ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था की रीढ़ बनी अंजलि, हर महीने करती हैं लाखों का लेन-देन

Barabanki News: ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था की रीढ़ बनी अंजलि, हर महीने करती हैं लाखों का लेन-देन

अंजलि वर्मा के मुताबिक, कोरोना काल के समय उन्हें बीसी सखी का काम मिला. सरकार की तरफ से उन्हें 75,000 रुपए की सहायता मिली. बैंक की मदद से वह लोगों के पैसे का लेन-देन कर रही हैं.

रिपोर्ट- संजय यादव

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की सकारात्‍मक योजनाओं की बदौलत आधी आबादी न सिर्फ आत्मनिर्भर बन रही है, बल्कि प्रदेश और देश की अर्थव्यवस्था में योगदान भी दे रही है. इसकी मिसाल  ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था की रीढ़ बनीं बाराबंकी की अंजलि वर्मा हैं. वह उत्तर प्रदेश में कार्यरत उन 58,000 बीसी सखियों में से एक हैं, जो अपने गांव के लोगों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करते हुए आत्मनिर्भर हो गई हैं. इतना ही नहीं अब वह अपना खर्च तो निकालती ही हैं, साथ ही अपने परिवार को भी आर्थिक रूप से मदद कर रही हैं.

दरअसल, योगी सरकार के निर्देश पर इस कार्यक्रम को एनआरएलएम की ‘एक ग्राम पंचायत – एक बीसी सखी’ पहल के तहत डिजाइन किया गया है. इसके तहत, उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (यूपीएसआरएलएम) राज्य में 58,000 बीसी सखियों की भर्ती और संचालन कर रहा है. इन्हीं में से एक हैं एएमए की पढ़ाई कर रही अंजलि वर्मा.  कोरोना काल के समय अंजलि को बीसी सखी का काम मिला. सरकार की तरफ से उन्हें 75,000 रुपए की सहायता मिली. जिसमें से 31 हजार रुपये की मैंने ट्रांजैक्शन मशीन खरीदी और बाकी पैसों से गांव के लोगों का ट्रांजैक्शन करना शुरू किया. बैंक की मदद से वह लोगों के पैसे का लेन-देन कर रही हैं.

लाखों का मासिक लेनदेन करती हैं अंजलि

अंजलि के मुताबिक, वह पढ़ लिखकर घर पर बैठी थीं. फिर सरकार की इस योजना का लाभ इन्हें मिला. अब वह बीसी सखी बनकर खुद भी कमा रही हैं और लोगों की भी मदद कर रही हैं. लोग देर रात भी पैसे निकालने और जमा करने के लिए मेरे पास आते हैं. मुझे उनकी मदद करने में खुशी होती है. अंजलि के मुताबिक, वह लाखों रुपए का मासिक लेनदेन करती हैं और अच्छी कमाई करती हैं. वह लोगों को नकद निकासी, नकद जमा, घरेलू धन हस्तांतरण, बिल भुगतान, निवेश, बीमा और पेंशन की सेवाएं प्रदान करती हैं. उन्होंने इस मदद के लिए यूपी सरकार को जमकर सराहा.

बीसी सखी से पैसों का लेनदेन करने वाले ग्रामीण भी सरकार की इस योजना से काफी खुश हैं. उन्होंने बताया कि पहले उन्हें बैंक में धक्के खाने पड़ते थे, तब जाकर अपना पैसा उन्हें मिलता था. लेकिन अब उन्हें घर बैठे ही पैसों का लेनदेन करने को मिल जाता है. गांव के बुजुर्ग भी इस योजना से काफी खुश हैं.

.

Tags: Barabanki News, Latest hindi news, UP news

FIRST PUBLISHED : March 29, 2023, 15:06 IST
अधिक पढ़ें