Home / News / uttar-pradesh /

uncle shivpal yadav called nephew akhilesh yadav as kansa announced mahabharata nodsp

इटावा: भतीजे अखिलेश को 'कंस' बता चाचा शिवपाल ने किया महाभारत का ऐलान

यूपी में चाचा भतीजे के बीच चल रहा सत्ता संग्राम थमने का नाम नही ले रहा है.

यूपी में चाचा भतीजे के बीच चल रहा सत्ता संग्राम थमने का नाम नही ले रहा है.

UP Politics: शिवपाल यादव ने शुक्रवार को जन्माष्टमी के मौके पर यदुवंशियों को संबोधित करते हुए लिखी चिट्ठी में कहा कि समाज में जब भी कोई कंस अपने (पूज्य) पिता को छल बल से अपमानित कर पद से हटाकर अनधिकृत आधिपत्य स्थापित करता है तो धर्म की रक्षा के लिए मां यशोदा के लाल ग्वालों के सखा योगेश्वर श्रीकृष्ण अवतार लेते हैं.

हाइलाइट्स

सपा की पूर्ववर्ती सरकार के समय से ही भतीजे अखिलेश के साथ शिवपाल की अनबन चल रही है.
यहां तक की चाचा शिवपाल ने सपा से अलग होकर अपनी अलग पार्टी बना ली.

इटावा: चाचा भतीजे के बीच चल रहा सत्ता संग्राम थमने का नाम नही ले रहा है. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने युदवशिंयो को बधाई पत्र जारी कर भतीजे अखिलेश यादव पर जोरदार तंज कसा है. जसवंतनगर विधायक के पैड पर शिवपाल सिंह यादव ने अपना बधाई संदेश जारी किया है. शिवपाल सिंह यादव ने भगवद्गीता का उल्लेख कर यादव समाज से अनूठी अपील कर डाली.

पिता को छल बल से अपमानित कर पद से हटाने वाले कंस का जिक्र करते हुए अखिलेश के चाचा ने जो आह्वान किया है, उससे तो ऐसा लग रहा है कि वह बिना नाम लिए हुए ही महाभारत के मूड में आ गए हैं.

शिवपाल यादव की कृष्ण जन्मोत्सव पर दी बधाई चर्चा में
मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई और प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कृष्ण जन्मोत्सव पर ऐसी बधाई दी है, जो चर्चा का विषय बन गई है. उन्होंने भगवद्गीता का उल्लेख कर यादव समाज से अनूठी अपील कर डाली. पिता को छल बल से अपमानित कर पद से हटाने वाले कंस का जिक्र करते हुए अखिलेश के चाचा शिवपाल ने जो आह्वान किया है. शिवपाल यादव ने शुक्रवार को जन्माष्टमी के मौके पर यदुवंशियों को संबोधित करते हुए लिखी चिट्ठी में कहा कि समाज में जब भी कोई कंस अपने (पूज्य) पिता को छल बल से अपमानित कर पद से हटाकर अनधिकृत आधिपत्य स्थापित करता है तो धर्म की रक्षा के लिए मां यशोदा के लाल ग्वालों के सखा योगेश्वर श्रीकृष्ण अवतार लेते हैं.

आपके शहर से (लखनऊ)

Zomato की डिलीवरी करते हुए झांसी में मिला 3 महीने पहले 'मर' चुका शख्स, पत्नी से था झगड़ा

अयोध्या: सीएम योगी आदित्यनाथ की मूर्ति वाले मंदिर पर चल सकता है बुलडोजर, अवैध कब्जे का आरोप, जांच शुरू

Crackdown on PFI: लखनऊ समेत यूपी के इन शहरों में छापेमारी, कई संदिग्ध हिरासत में

सपा का अधिवेशन: अखिलेश यादव की तीसरी बार होगी ताजपोशी, चुनावों को लेकर पार्टी भरेगी हुंकार

यूपीः अमरोहा में खड़े वाहन से टकराई रोडवेज बस, 2 की मौत, 6 गंभीर घायल

लखनऊ में बड़ा हादसा! तालाब में ट्रैक्टर ट्राली गिरने से 10 लोगों की मौत, 37 घायल

Lucknow: तोड़ा जाएगा 150 साल पुराना ब्रिटिश कालीन कटाई वाला पुल, जानें वजह

लखनऊ में रौनक बढ़ाने देशभर में तलाशा जा रहा 'हुक्कू बंदर', असम में मिलने की उम्मीद

क्लास टेस्ट में एक गलती पर शिक्षक बना हैवान! दलित छात्र को पीट-पीट कर मार डाला

Lucknow news: 6 फीट लंबी और 54 KG वजन, भगवान राम से जुड़ी ये पुस्तक है बेहद खास, कीमत भी हैरान करने वाली

यूपी में मदरसों का सर्वे: राजनीतिक स्वार्थ या कुछ और, जानें क्या है योगी सरकार की प्लानिंग?


यूपी में चाचा और भतीजे के बीच जुबानी जंग खत्म नहीं हो रही है.

भगवान कृष्ण के गीता संदेश के जरिए की अपीलशिवपाल ने बधाई संदेश की शुरुआत में प्रिय ययाति सुत यदुवंशियों को संबोधित करते हुए पत्र लिखा. उन्होंने गीता में भगवान कृष्ण के संदेश- यदा यदा ही धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत। अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम… का उल्लेख करते हुए अत्याचारियों को दंड देकर धर्म की स्थापना किए जाने की बात कही है. शिवपाल ने यदुवंशी वीरों का आह्वान करते हुए आगे लिखा कि समाजवादी पार्टी (लोहिया) भी ईश्वर द्वारा रचित किसी विराट नियति और विधान का परिणाम है. धर्म की रक्षा में दायित्व निभाने की बात करते हुए समाज में शांति, समरसता, एकता और लोक कल्याण के लिए सभी से अपील की.


शिवपाल ने ग्वाल कुमारों और यदुवंश के पालनहारों को लिखी 8 लाइन की छोटी सी कविता भी साझा की, जिसकी अंतिम पंक्तियां हैं- मैं चला धर्म ध्वज लिए हुए, अपना कर्तव्य निभाने को, आह्वान तुम्हारा यादव वीरों, देर न करना आने को.

कांग्रेस में शामिल होने की चर्चा झूठीगौरतलब है कि सपा की पूर्ववर्ती सरकार के समय से ही पूर्व सीएम और भतीजे अखिलेश यादव के साथ शिवपाल की अनबन चल रही है. यहां तक की चाचा शिवपाल ने सपा से अलग होकर अपनी अलग पार्टी बना ली. चाचा-भतीजे में गाहे-बगाहे वार-पलटवार चलता रहता है. हालांकि मुलायम अभी भी पूरे परिवार को एकसूत्र में बांधे रखने की कोशिश में लगे रहते हैं. इससे पहले इटावा मे अपने चौगुर्जी स्थिति आवास पर पत्रकारों से वार्ता में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अपने आप के कांग्रेस मे शामिल होने की चर्चा पर सफाई दी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में शामिल होने की खबर पूरी तरह से निराधार है.

सपा विपक्ष की भूमिका का सही से निर्वहन नहीं कर रही: शिवपाल सिंह यादवपीएसपीएल प्रमुख ने समाजवादी पार्टी पर लगाया गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपने आप को सपा गठबंधन मानते रहे लेकिन सपा ने उन्हे कभी भी गठबंधन का हिस्सा नहीं माना इसलिए वो खुद ही ऐसे गठबंधन से अलग हो गए. उन्होने कहा कि सपा अगर अपनी कमियों को दूर कर लेती तो जो बाते आज सामने आ रही हैं, वो नहीं आती. सपा दूसरे दलों पर आरोप लगा रही है लेकिन उसे अपनी कमियां नहीं दिखाई देती. उन्होंने कहा कि सपा की अगुवाई में मजबूत विपक्ष खड़ा हो सकता था लेकिन सपा विपक्ष की भूमिका का सही से निर्वहन नहीं कर रही है.

2024 के ससंदीय चुनाव को देखते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव विपक्ष को एकजुट करने के सवाल पर शिवपाल बिफरते हुए बोले कि केवल हमारी बात करो. उन्होंने कहा कि वो खुद भी पूरे विपक्ष को एक करने में जुटे हुए हैं. विपक्ष के एक होने के सवाल पर शिवपाल ने कहाकि सभी विपक्षी दलों को एक करने का प्रयास चल रहा है, देखते जाइए क्या होता है?

Tags:Akhilesh yadav, Shivpal Yadav, UP news, UP politics

अधिक पढ़ें