Home / News / uttar-pradesh /

गोंडा: ट्विटर पर शेयर की धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर, केस दर्ज

गोंडा: ट्विटर पर शेयर की धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर, केस दर्ज

डीजीपी ओपी सिंह की फाइल फोटो

डीजीपी ओपी सिंह की फाइल फोटो

जब इसकी जानकारी डीजीपी ओपी सिंह को हुई तो उन्होंने इसकी तत्काल जांच के निर्देश दिए. जांच में पता चला कि वायरल हुई दोनों तस्वीरें पुरानी और फर्जी हैं.

सोशल मीडिया पर धार्मिक उन्माद फैलाने की नियत से किए गए ट्वीट पर डीजीपी ओपी सिंह ने संज्ञान लेते हुए मुकदमा दर्ज करवाया है. जानकारी के अनुसार गोंडा जिले में 28 अगस्त को रात साढ़े 10 बजे के करीब कोमल नाम के ट्विटर हैंडल पर दो तस्वीरें पोस्ट कर अभद्र भातें लिखी गईं थी. जिसके बाद यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

जब इसकी जानकारी डीजीपी ओपी सिंह को हुई तो उन्होंने इसकी तत्काल जांच के निर्देश दिए. जांच में पता चला कि वायरल हुई दोनों तस्वीरें पुरानी और फर्जी हैं.

आपके शहर से (गोंडा)

UP में महिला ने 4-4 हाथ- पैर वाली बच्ची को दिया जन्म, डॉक्टर्स भी रह गए हैरान

Jhansi News: किसान ने खेत में लगाई फांसी, सुसाइड नोट में बताई चौंकाने वाली वजह

नूपुर शर्मा के बचाव में आए अयोध्या के संत, कहा- सुप्रीम कोर्ट को फैसले पर करना चाहिए पुनर्विचार

ग्रेटर नोएडा में युवक ने पत्नी को उतारा मौत के घाट, आरोपी गिरफ्तार

UP: सीतापुर में आकाशीय बिजली गिरने से दंपति समेत 4 लोगों की मौत, 8 झुलसे

नोएडा: पहले प्रेमिका को कमरे में किया बंद और खुद फांसी पर झूल गया युवक, जांच में जुटी पुलिस

UP: हिंदू नेता कमलेश तिवारी की पत्नी को मिली सुरक्षा, जान से मारने की मिली थी धमकी

नोएडा में अब कोरियाई रेस्टोरेंट का भंडाफोड़, यहां आते-जाते थे संदिग्ध चीनी नागरिक

ऑटो ट्रैक्टर्स लिमिटेड कर्मचारियों को हाईकोर्ट से मिली राहत, सरकार चुकाएगी 67.92 करोड़

हरदोई में 11वीं के छात्र ने गोली मारकर की आत्महत्या, परिजन बोले- डिप्रेशन का था शिकार

आगरा: बिना स्कूल जाए कम्प्यूटर से भी तेज है इस बच्चे का दिमाग, NASA के मार्स मिशन के लिए हुआ सिलेक्ट

तस्वीर में राखी बांधने वाली तस्वीर 21 दिसम्बर 2017 की निकली. वहीं, दूसरी तस्वीर जिसमें महिला हॉस्पिटल में लेती दिखाई दे रही है, 21 नवंबर 2016 की थी, जो कानपुर के पास हुए रेल हादसे में घायल महिला की थी.

 

गोंडा पुलिस ने भी पुलिस ने भी बलात्कार की घटना होने की पुष्टि नहीं की है. इसके बाद डीजीपी ने ट्विटर हैंडल संचालक के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

गौरतलब है कि यूपी पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है. इसके लिए सोशल मीडिया वालंटियर्स की भी मदद ली जा रही है. यूपी पुलिस अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से जहां लगातार सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट की जांच कर रही है, वहीं वह लोगों को इसके प्रति जागरूक करने में भी जुटी है.

यह भी पढ़ें:

पत्नी और दो बेटियों को मारकर, युवक ने पुलिस को फोन कर कहा- मैं भी जा रहा हूं मरने 

UP TET 2018: 17 सितम्बर से रजिस्ट्रेशन, 28 अक्टूबर को होगी परीक्षा

सीएम योगी के 'सांप' बयान पर विधानसभा में जमकर हंगामा, काली पट्टी बांधकर सदन पहुंचा विपक्ष 

Tags:Twitter, Up crime news, UP police, गोंडा