Home / News / uttar-pradesh /

calves kept swinging on the voice of yogi chief minister fed jaggery and gram to nandi and calves nodsp

VIDEO: योगी की आवाज पर झूमते चले आए बछड़े, गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी ने खिलाया गुड़-चना

सीएम योगी और गोवंश के बीच पारस्परिक स्नेहिल संबंध दर्शनीय और अभिभूत कर देने वाला था.

सीएम योगी और गोवंश के बीच पारस्परिक स्नेहिल संबंध दर्शनीय और अभिभूत कर देने वाला था.

Shrikrishna Janamashtami: भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव जन्माष्टमी के दिन सीएम योगी और गोवंश के बीच पारस्परिक स्नेहिल संबंध दर्शनीय और अभिभूत कर देने वाला था. शुक्रवार सुबह मंदिर की गोशाला में जैसे ही योगी ने आवाज दी, नंदी व बछड़े झूमते हुए उनके पास आ गए. योगी ने अपने हाथों से उन्हें गुड़-चना खिलाकर दुलार किया.

हाइलाइट्स

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गो प्रेम और गोसेवा के लिए भी विख्यात हैं.
उनके स्नेह का असर यह कि उनकी एक आवाज पर गोशाला के गोवंश दौड़े चले आते हैं.

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गो प्रेम और गोसेवा के लिए भी विख्यात हैं. गोवंश के प्रति उनके स्नेह का असर यह कि उनकी एक आवाज पर गोरखनाथ मंदिर की गोशाला के गोवंश दौड़े चले आते हैं. गोवंश के बीच अपना बाल्यकाल बिताने वाले भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव जन्माष्टमी के दिन सीएम योगी और गोवंश के बीच पारस्परिक स्नेहिल संबंध दर्शनीय और अभिभूत कर देने वाला था. शुक्रवार सुबह मंदिर की गोशाला में जैसे ही योगी ने आवाज दी, नंदी व बछड़े झूमते हुए उनके पास आ गए. योगी ने अपने हाथों से उन्हें गुड़-चना खिलाकर दुलार किया.

शुक्रवार सुबह बलिया में आयोजित बलिदान दिवस समारोह में शामिल होने के लिए गोरखनाथ मंदिर से रवाना होने से पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोशाला में गोसेवा की. सीएम योगी आदित्यनाथ जब गोशाला पहुंचे उन्हें देख और उनकी आवाज सुन बछड़े, नंदी और गाएं दौड़ती हुई उनके नजदीक चली आईं. इस दौरान कुछ गोवंश रंभाते हुए उन्हें अपने पास बुलाने लगे. सीएम योगी भी उनका स्नेह देख निहाल हो गए. बरबस बोल पड़े, ‘अरे अरे देखो-देखो कैसे कैसे दौड़ते आ गए.’


आपके शहर से (गोरखपुर)

Shardiya Navratra: काशी में बंगाल के तर्ज पर शुरू हुई दुर्गा पूजा की तैयारी, जानें क्या होगा खास

UP के स्टूडेंट्स के लिए अहम फैसला, स्कूली विद्यार्थियों के लिए योग अनिवार्य

एकता की मिसाल माना जाता है ये मंदिर, हिंदू के साथ मुस्लिम भी टेकते हैं मत्था

दुनिया की सांस्कृतिक राजधानी के रूप में विकसित हो रही अयोध्या, तेजी से हो रहा काम, देखें- Photos

UP: मथुरा में खटारा एंबुलेंस से चल रही मरीजों में सांस फूंकने की कवायद? पढ़िए यह खबर

28 को अयोध्या में जुटेंगे बॉलीवुड के दिग्गज, पीएम मोदी वर्चुअली करेंगे लता मंगेशकर चौक का उद्घाटन

UPSC ने पूछा- मुकुल गोयल को DGP पद से क्यों हटाया? योगी सरकार ने दिया ये जवाब

JEECUP Counselling 2022: राउंड 4 के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, रिजल्ट 27 को

मौत के बाद 18 महीने तक नहीं किया गया अंतिम संस्कार, घर पर रखा शव मगर क्यों?

NOIDA: शहर में घूम रही हैं लंपी वायरस से पीड़ित गोवंश, नहीं मिल रहा कोई आसरा और सहारा

इटावा में संगम एक्सप्रेस से गिरकर बास्केटबॉल इंडिया के रेफरी यशवर्धन राणा की दर्दनाक मौत


गोरखपुर की 35 गोशालाओं में निराश्रित गोवंश की जन्माष्टमी पर विशेष सेवामुख्यमंत्री करीब 15 मिनट तक गोशाला में रहे. उन्होंने पूरी गोशाला का भ्रमण भी किया. उल्लेखनीय है कि बता दें कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के सभी गोआश्रय स्थल, कान्हा उपवन एवं वृहद गोशालाओं में विशेष आयोजन किए गए हैं. गोरखपुर की 35 गोशालाओं में 6000 के करीब निराश्रित गोवंश की जन्माष्टमी पर विशेष सेवा की गई. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से गौ सेवा पर सरकार की तरफ से विशेष ध्यान दिया जा रहा है, निराश्रित गायों के लिए भी योजनाएं चलाई गई हैं. साथ ही उन किसानों को कुछ मानदेय भी दिया जा रहा है जो निराश्रित गायों को पाल रहे हैं.

Tags:Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Gorakhpur news, UP news

अधिक पढ़ें