Home / News / uttar-pradesh /

lekhpal asked bribe for measurement of land farmer committed suicide writing suicide note nodelsp

Jhansi News: किसान ने खेत में लगाई फांसी, सुसाइड नोट में बताई चौंकाने वाली वजह

पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया है.(फाइल फोटो)

पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया है.(फाइल फोटो)

Farmer suicide in UP: झांसी जिले में एक किसान ने फांसी लगाकर जान दे दी. किसान अपनी जमीन की पैमाइश के लिए कई दिनों से प्रशासनिक अधिकारियों के चक्कर काट रहा था. उसे जब समाधान दिवसों से लेकर डीएम कार्यालय से भी कोई समाधान की उम्मीद नहीं दिखी तो आखिरकार उसने मौत को गले लगा लिया. किसान ने मौत के पहले सुसाइड नोट छोड़कर जमीन की पैमाइश के ऐवज में 8 हजार घूस मांगे जाने का आरोप लगाया है.

झांसी. झांसी जिले में एक किसान (Farmer) ने फांसी लगाकर जान दे दी. यह किसान सरकारी सिस्टम में फैले भ्रष्टाचार से पिछले कई दिनों से जूझ रहा था, लेकिन हार गया. किसान अपनी जमीन की पैमाइश के लिए कई दिनों से प्रशासनिक अधिकारियों के चक्कर काट रहा था. उसे जब समाधान दिवसों से लेकर डीएम कार्यालय से भी कोई समाधान की उम्मीद नहीं दिखी तो उसने मौत को गले लगा लिया. किसान ने मौत के पहले सुसाइड नोट छोड़कर जमीन की पैमाइश के ऐवज में 8 हजार घूस मांगे जाने का आरोप लगाया है.

मामला मोठ तहसील के फतेहपुर स्टेट गांव का है, जहां किसान रघुवीर अपनी जमीन की पैमाईश के एवज में पिछले कई महीनों से तहसील के चक्कर काट रहा था. तहसील में आयोजित होने वाले संपूर्ण समाधान दिवस में उसने कई अ​र्जियां लगाईं. जिलाधिकारी कार्यालय के चक्कर भी काटे, लेकिन उसकी समस्या दूर नहीं हुई. बताया गया है कि पिछले 18 जून को भी किसान रघुवीर ने मोठ तहसील में आयोजित हुए संपूर्ण समाधान दिवस में खेत की पैमाईश के लिए अफसरों को प्रार्थना पत्र दिया था. किसान के प्रार्थना पत्र के निस्तारण की बजाए तहसील में तैनात कानून गो और लेखपाल ने किसान को परेशान करना शुरू कर दिया.


फांसी लगाने से पहले किसान ने लिखा सुसाइड नोट
फांसी लगाने से पहले किसान ने सुसाइड नोट लिखा, जिसमें किसान ने आरोप लगाया कि खेत की पैमाईश के एवज में लेखपाल, कानून गो ने आठ हजार रुपए की घूस मांगी. इस पर किसान ने मामले को जिले के आलाधिकारियों के पास प्रार्थना पत्र देकर सामने रखा. शिकायती पत्रों पर कोई कार्रवाई नहीं होने से निराश किसान रघुवीर ने खेत में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि जिस किसान से घूस की मांग की जा रही थी उसकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब थी. किसान की मौत के बाद उसके परिवार के लोग इंसाफ की गुहार लगा रहे हैं.

आपके शहर से (झांसी)

15 August: तिरंगे के रंग में सराबोर हुई झांसी, देखें तस्‍वीरें

भारत-पाक विभाजन की तस्वीरें देख नम हो जाएंगी आपकी आंखें, झांसी रेलवे स्टेशन पर लगी है प्रदर्शनी

झांसी: 17 अगस्‍त तक एक नजर में देखिए 1857 की क्रांति, संग्रहालय में लगी 3D प्रदर्शनी

पुराने कपड़े लाएं और फ्री में नया बैग ले जाएं, जानें कहां और कब तक है यह ऑफर

Azadi Ka Amrit Mahotsav: देशभक्ति दिल से होनी चाहिए, सोशल मीडिया से नहीं- स्वतंत्रता सेनानी सत्यदेव तिवारी

यूपी: बार-बार फोन करने के बाद भी नहीं आई एम्बुलेंस, ठेले पर मरीज को अस्पताल पहुंचाया मगर...

बर्थडे पार्टी में शादीशुदा प्रेमिका की गला रेतकर हत्या, आरोपी ने बताई मर्डर की वजह!

बुंदेलखंड में अन्ना पशुओं का आतंक, किसानों के सिर मंडराई आफत

बंटवारे का दर्द: आंखों में आंसू, चेहरे पर दबी मुस्कान, झांसी के बलवंत सिंह से सुनिए भारत-पाक विभाजन की कहानी

खबर का असर: हरकत में आया झांसी नगर निगम, स्वतंत्रता सेनानियों को मिला उनका खोया सम्मान 

अटल बिहारी वाजपेई झांसी आते थे तो इस घर में जरूर जाते थे, जेल में साथ रहे गिरीश सक्सेना ने बांटीं खास यादें


एसडीएम बोले- जांच के बाद होगी कार्रवाई
किसान द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले में अधिकारी जांच करवाने की बात कह रहे हैं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट का अधिकारी इंतजार कर रहे हैं. एस डीएम मोठ राजकुमार का कहना है कि मामले की उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी. जांच में जो भी दोषी होगा,उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

Tags:Bundelkhand news, Farmer Suicide, Jhansi news, UP news