लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबफूडविधानसभा चुनावमनोरंजनफोटोकरियर/ जॉब्सक्रिकेटलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नरMission Swachhta Aur Paani#RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrencyNetra Suraksha
होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

Jhansi: वैष्णो देवी की तर्ज पर पूजा पंडाल में सजा माता का दरबार, दर्शन के लिए भक्तों का लगा तांता

Jhansi: वैष्णो देवी की तर्ज पर पूजा पंडाल में सजा माता का दरबार, दर्शन के लिए भक्तों का लगा तांता

झांसी में माता वैष्णो देवी की तर्ज पर एक पूजा पंडाल को सजाया गया है. नवरात्र में यहां मां के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है. सदर बाजार में बनाए गए इस पूजा पंडाल की अनोखे तरह से सजावाट की गई है. पंडाल की शुरुआत में हाथी का मत्था बनाया गया है. यह कुछ ऐसा ही पहाड़ है जैसा जम्मू के कटरा में है, जिस पर चढ़कर भक्तों को माता के दर्शन करने के लिए जाना होता है

  • News18Hindi 
  • Last Updated :

शाश्वत सिंह

झांसी. जम्मू के कटरा स्थित मां वैष्णो देवी का मंदिर देश भर के हिंदुओं के आस्था का केंद्र है. माता रानी के मंदिर में दर्शन मात्र से भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं. हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु दूर-दूर से माता के दर्शन के लिए जाते हैं. माता का यह मंदिर पहाड़ की चोटी पर स्थित है जहां कई मील की यात्रा करने के बाद भक्त माता के दर्शन कर पाते हैं, लेकिन जो भक्त मां के दरबार में नहीं जा पाते उनको निराश होने की जरूरत नहीं है. उत्तर प्रदेश के झांसी में एक पूजा पंडाल को माता वैष्णो देवी की तर्ज पर सजाया गया है. नवरात्र में यहां मां के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है.

सदर बाजार में बनाए गए इस पूजा पंडाल की अनोखे तरह से सजावाट की गई है. पंडाल की शुरुआत में हाथी का मत्था बनाया गया है. यह कुछ ऐसा ही पहाड़ है जैसा जम्मू के कटरा में है, जिस पर चढ़कर भक्तों को माता के दर्शन करने के लिए जाना होता है. इसके बाद भक्त भगवान शिव, गणेश और हनुमान के दर्शन करते हुए आगे बढ़ते हैं. इसके बाद श्रद्धालुओं को ज्वाला माई के दर्शन होते हैं. नवरात्र में यहां नौ दिन तक अखंड जोत जलाई जाती है.

आपके शहर से (लखनऊ)

सस्ते और लग्जरी होने के बाद भी जब नहीं बिके अहाना एंक्लेव के फ्लैट, अब लखनऊ नगर निगम लेगा टोटके का सहारा

कैसी-कैसी शादियां: स्‍टेज पर दुल्‍हन को KISS...दूल्‍हे ने कहा 'दुल्‍हन का वर्जिनिटी टेस्ट कराओ'

Russia Ukraine War: रूस यूक्रेन के बीच युद्ध से बढ़ी फल और सब्जियों की मांग, उत्तर प्रदेश बनेगा मददगार

मजहब के नाम पर आबादी बढ़ाकर देश तोड़ देंगे; यह बेहद खतरनाक साजिश-डॉ इंद्रेश कुमार

राम भरोसे चल रहा अयोध्या का जिला अस्पताल, जानिए क्यों मौन है आलाकमान?

CUET न देने वाले यूपी के स्टूडेंट्स इन यूनिवर्सिटीज में ले सकते हैं दाखिला

लखनऊः दुल्हे को वरमाला पहनाने के बाद दुल्हन को आया हार्ट अटैक, स्टेज पर ही मौत, गांव में छाया मातम

Lucknow Job Fair: बेरोजगारों के लिए अच्छी खबर, आईटीआई में 12 दिसंबर को आयोजित होगा बड़ा रोजगार मेला 

Ayodhya News: राम मंदिर के आसपास नहीं बनेगी ऊंची बिल्डिंग, जानें- एडीए ने क्यों लागू किया निषेधाज्ञा?

UP Police Constable Bharti 2022: बड़ी खुशखबरी, यूपी में कांस्टेबल के 35,000 से अधिक पदों पर होगी भर्ती, जानें कब आएगा नोटिफिकेशन

सर्दियों में बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा ! डॉक्टर से समझें इसकी वजह और दिल को बचाने का तरीका


भैरव बाबा के दर्शन से होती है यात्रा पूरी
ज्वाला माता के दर्शन के बाद भक्तों को अर्धकुंवारी गुफा से गुजरना होता है. इस गुफा से गुजरते हुए भक्त एक छोटे से पानी के तालाब से गुजरते हैं. इस तालाब का पानी बिल्कुल बाणगंगा की तरह ठंडा होता है. यहां से गुजरने के बाद भक्तों को पिंडी दर्शन होते हैं. पिंडी दर्शन के बाद भैरव बाबा के दर्शन करने होते हैं. मान्यता है कि अगर आप माता वैष्णो देवी गए हैं तो बिना भैरव बाबा के दर्शन किए यात्रा सफल नहीं होती. इस पूजा पंडाल में मां के दर्शन के लिए रोज हजारों लोग पहुंच रहे हैं.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Durga Puja festival, Jhansi news, Mata Vaishno Devi, Navratri festival, Up news in hindi

FIRST PUBLISHED : October 04, 2022, 18:42 IST
अधिक पढ़ें