Home / News / uttar-pradesh /

akhilesh yadav is preparing for big changes in samajwadi party as he dissolves all organizations and cells including national executive

समाजवादी पार्टी में बड़े बदलाव की तैयारी में अखिलेश, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सहित सभी संगठन और प्रकोष्ठ किए भंग

अखिलेश यादव ने सपा के यूपी अध्यक्ष को छोड़कर पार्टी के सभी युवा संगठनों, महिला सभा और अन्य सभी प्रकोष्ठों को भंग कर दिया है. (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव ने सपा के यूपी अध्यक्ष को छोड़कर पार्टी के सभी युवा संगठनों, महिला सभा और अन्य सभी प्रकोष्ठों को भंग कर दिया है. (फाइल फोटो)

यूपी के हालिया विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव की उम्मीदों के मुताबिक नतीजे ना आने के बाद से ही सपा की कार्यकारिणी भंग किए जाने का अनुमान जताया जा रहा था. अब खबर है कि अगस्त के आखिरी हफ्ते या सितंबर शुरुआत में होने वाले सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन के बाद नए सिरे से सपा कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा.

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी में बड़े बदलाव की तैयारी में दिख रहे हैं. उन्होंने सपा के यूपी अध्यक्ष को छोड़कर पार्टी के सभी युवा संगठनों, महिला सभा और अन्य सभी प्रकोष्ठों के राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष, सहित राष्ट्रीय तथा राज्य कार्यकारिणी को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है.

सपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके यह जानकारी दी है. इस ट्वीट में कहा गया है, ‘समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जी ने पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष को छोड़कर पार्टी के सभी युवा संगठनों, महिला सभा एवं अन्य सभी प्रकोष्ठों के राष्ट्रीय अध्यक्षों, प्रदेश अध्यक्षों एवं जिला अध्यक्षों तथा राष्ट्रीय, राज्य एवं जिला कार्यकारिणी को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है.’ इसके साथ ही पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि सपा अध्यक्ष ने पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल को छोड़कर सभी संगठनों की तमाम इकाइयों के साथ-साथ राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राज्य कार्यकारिणी को भंग कर दिया है.

दरअसल यूपी के हालिया विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव की उम्मीदों के मुताबिक नतीजे ना आने के बाद से ही सपा की कार्यकारिणी भंग किए जाने का अनुमान जताया जा रहा था. अब खबर है कि अगस्त के आखिरी हफ्ते या सितंबर शुरुआत में होने वाले सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन के बाद नए सिरे से सपा कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा.

आपके शहर से (लखनऊ)

UPSSSC PET Exam 2022 Postponed: स्थगित हुई UPSSSC PET 2022 की परीक्षा, अब इस दिन होगा एग्जाम, देखें नया शेड्यूल

NITI Aayog Meeting: नीति आयोग की बैठक में शामिल हुए योगी, पेश की उत्तर प्रदेश के भविष्य की रूप रेखा

UP Weather Alert: नोएडा से लखनऊ तक 4 दिन होगी भारी बारिश, येलो अलर्ट जारी

लखनऊ में पूर्व मंत्री शंख लाल मांझी के बेटे को लगी गोली, लोहिया अस्पताल के ICU में भर्ती

गोरखपुर कोर्ट NBW वारंट जारी होने के बाद कैबिनेट मंत्री संजय निषाद ने दी सफाई, कही ये बात

UP: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, आजादी के अमृत महोत्सव पर 75 रोडवेज बस स्टेशनों का बदलेगा नाम

एंबुलेंस को ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिए प्लान तैयार, UP के कई शहरों जल्द लागू होगी व्यवस्था

UPHESC Sarkari Naukri 2022 : असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए आवेदन अब 23 अगस्त तक करें, लास्ट डेट बढ़ी

UP Lekhpal Result 2022: लेखपाल मुख्य परीक्षा का रिजल्ट कब होगा जारी, जानिए यहां

विपक्ष के सबसे मजबूत वोटबैंक में सेंध लगाएगी बीजेपी, आज से यूपी में मुस्लिमों को जोड़ने का विशेष अभियान

UP: मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास के सरकारी आवास पर पुलिस की दबिश, जानिए पूरा मामला


अखिलेश यादव के इस कदम को यूपी चुनाव में सपा को मिली हार के नतीजे के रूप में देखा जा रहा है. यूपी की 403 सदस्यीय विधानसभा में 400 सीटें जीतने का दावा कर रहे अखिलेश यादव को चुनाव नतीजों में महज 111 सीटों से संतोष करना पड़ा था.


विधानसभा चुनाव के इन नतीजों को लेकर कई नेताओं और सियासी जानकारी ने अखिलेश यादव की कार्यशैली पर सवाल उठाया था और उन्हें बस अपनी किचन कैबिनेट (चंद चहेते लोगों) से घिरे रहने का आरोप लगाया था. ऐसे अखिलेश यादव द्वारा सपा की सभी संगठनों और प्रकोष्ठों को भंग करने को वर्ष 2024 में होने वाले संसदीय चुनाव की तैयारी से जोड़कर बड़े कदम के रूप में देखा जा रहा है.

Tags:Akhilesh yadav, Samajwadi party