Home / News / uttar-pradesh /

akhilesh yadav release the book written by dr kafeel khan on oxygen tragedy of brd medical college gorakhpur upns

अखिलेश यादव ने किया डॉ. कफील की किताब का विमोचन, पढ़ें- 'गोरखपुर अस्पताल त्रासदी'

 डॉ. कफील ने बताया कि इस किताब में योगी सरकार के दावों को सामने लेकर आए हैं.

डॉ. कफील ने बताया कि इस किताब में योगी सरकार के दावों को सामने लेकर आए हैं.

गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज साल 2017 में अचानक सुर्खियों में आया था. मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी के कारण 80 बच्चों की मौत की बात सामने आई. यह घटना जब हुई तो कफील बीआडी अस्पताल में वार्ड सुपरिटेंडेंट थे. घटना के बाद कंपनी की ओर से यह दलील दी गई थी कि पिछले कई महीने से भुगतान नहीं मिलने के चलते ऑक्सीजन के सिलेंडर की सप्लाई बंद करनी पड़ी थी.

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने डॉ. कफील की किताब ‘गोरखपुर अस्पताल त्रासदी’ का लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय में शनिवार को विमोचन किया. किताब गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत पर लिखी गई है. डॉ. कफील ने बताया कि इस किताब में योगी सरकार के दावों को सामने लेकर आए हैं. किस तरीके से ऑक्सीजन की कमी हुई थी. किताब लिखने का मेरा उद्देश्य उन 80 से ज्यादा बच्चों को न्याय दिलाना है जो ऑक्सीजन की कमी से तड़प कर मर गए. बता दें कि डॉ. कफील ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शनों को भी समर्थन दिया था. आरोपों के बाद से ही लगातार वे योगी सरकार पर भी सवाल खड़े करते हैं. MLC चुनाव में भी सपा ने डॉ. कफील को उम्मीदवार बनाया था.

डॉ. कफील ने कहा, “मैंने वो सभी पत्र किताब में लिखे हैं जिस पर बताया जा रहा था कि ऑक्सीजन की कमी नहीं थी. मुख्यमंत्री तक को लेटर लिखा गया था, लेकिन किसी ने कोई संज्ञान नहीं लिया. मुझे आरोपी बनाते हुए जेल भेजा गया, मैं जेल में था. जेल के उस सिस्टम के बारे में भी लिखा है कि किस तरीके से जेल के अंदर दो तरीके का सिस्टम चलता है.


डॉ. कफील ने लिखी पुस्तक.

कौन हैं डॉ. कफील खान
गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज साल 2017 में अचानक सुर्खियों में आया था. मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी के कारण 80 बच्चों की मौत की बात सामने आई. यह घटना जब हुई तो कफील बीआडी अस्पताल में वार्ड सुपरिटेंडेंट थे. घटना के बाद कंपनी की ओर से यह दलील दी गई थी कि पिछले कई महीने से भुगतान नहीं मिलने के चलते ऑक्सीजन के सिलेंडर की सप्लाई बंद करनी पड़ी थी. इस केस में आरोपी डॉ. कफील को यूपी एसटीएफ ने लखनऊ से गिरफ्तार किया था. योगी सरकार के आदेश पर लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज किया गया था.

आपके शहर से (लखनऊ)

UP Lekhpal Result 2022: लेखपाल मुख्य परीक्षा का रिजल्ट कब होगा जारी, जानिए यहां

UP: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, आजादी के अमृत महोत्सव पर 75 रोडवेज बस स्टेशनों का बदलेगा नाम

लखनऊ में पूर्व मंत्री शंख लाल मांझी के बेटे को लगी गोली, लोहिया अस्पताल के ICU में भर्ती

एंबुलेंस को ट्रैफिक से निजात दिलाने के लिए प्लान तैयार, UP के कई शहरों जल्द लागू होगी व्यवस्था

UPSSSC PET Exam 2022 Postponed: स्थगित हुई UPSSSC PET 2022 की परीक्षा, अब इस दिन होगा एग्जाम, देखें नया शेड्यूल

UP Weather Alert: नोएडा से लखनऊ तक 4 दिन होगी भारी बारिश, येलो अलर्ट जारी

UPHESC Sarkari Naukri 2022 : असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती के लिए आवेदन अब 23 अगस्त तक करें, लास्ट डेट बढ़ी

NITI Aayog Meeting: नीति आयोग की बैठक में शामिल हुए योगी, पेश की उत्तर प्रदेश के भविष्य की रूप रेखा

UP: मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास के सरकारी आवास पर पुलिस की दबिश, जानिए पूरा मामला

गोरखपुर कोर्ट NBW वारंट जारी होने के बाद कैबिनेट मंत्री संजय निषाद ने दी सफाई, कही ये बात

विपक्ष के सबसे मजबूत वोटबैंक में सेंध लगाएगी बीजेपी, आज से यूपी में मुस्लिमों को जोड़ने का विशेष अभियान


Tags:Akhilesh yadav, Dr Kafeel Khan, Gorakhpur news, Lucknow news, Samajwadi Party समाजवादी पार्टी, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government