होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

यूपी की जीत का ईनाम: सुनील बंसल बने राष्ट्रीय महामंत्री; धर्मपाल को मिली उत्तर प्रदेश की कमान

यूपी की जीत का ईनाम: सुनील बंसल बने राष्ट्रीय महामंत्री; धर्मपाल को मिली उत्तर प्रदेश की कमान

यूपी भाजपा संगठन में बड़ा फेरबदल करते हुए सुनील बंसल का बीजेपी राष्ट्रीय महामंत्री बनाया गया है.

यूपी भाजपा संगठन में बड़ा फेरबदल करते हुए सुनील बंसल का बीजेपी राष्ट्रीय महामंत्री बनाया गया है.

UP BJP: यूपी भाजपा संगठन में बड़ा फेरबदल हुआ है. यूपी बीजेपी में संगठन में माहिर खिलाड़ी माने जाने वाले सुनील बंसल का बीजेपी में प्रमोशन किया गया है. अब सुनील बंसल बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री होंगे. इसके अलावा सुनील बंसल को 3 राज्यों उड़ीसा, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल का प्रभारी भी बनाया गया है.

हाइलाइट्स

2014 के लोकसभा चुनाव में अमित शाह ही सुनील बंसल को यूपी लाए थे.
इस चुनाव में सुनील बंसल ने चुनावी प्रबंधन का कार्य देखा और भाजपा को जोरदार जीत मिली.
2017 के यूपी विधानसभा चुनाव, 2019 के लोकसभा चुनाव और 2022 के विधानसभा चुनाव में जीत दिलाई.

संकेत मिश्र, लखनऊ.
यूपी भाजपा संगठन में बड़ा फेरबदल हुआ है. यूपी बीजेपी सांगठनिक क्षमता में माहिर माने जाने वाले सुनील बंसल का बीजेपी में प्रमोशन हुआ है. अब बंसल बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री होंगे, इसके अलावा उन्हें 3 राज्यों उड़ीसा, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल का प्रभारी भी बनाया गया है. बंसल यूपी भाजपा के महामंत्री संगठन के पद पर 8 साल से तैनात थे. सुनील बंसल की जगह झारखंड के संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह सैनी को उत्तर प्रदेश का महामंत्री संगठन बनाया गया है. धर्मपाल इससे पहले पश्चिम यूपी में एबीवीपी के संगठन महामंत्री थे.

वहीं उत्तर प्रदेश में सह संगठन महामंत्री कर्मवीर को झारखंड में महामंत्री संगठन बनाकर भेजा गया है. सुनील बंसल सांगठनिक कार्यों में काफी दक्ष माने जाते हैं. यही वजह है कि सुनील बंसल को भारतीय जनता पार्टी ने चुनौतीपूर्ण राज्य पश्चिम बंगाल, उड़ीसा और तेलंगाना की जिम्मेदारी सौंपी है.

तीन राज्यों की दी गई जिम्मेदारी
गौरतलब हो कि यह तीनों राज्य भारतीय जनता पार्टी का अगला टारगेट में शामिल हैं. बीजेपी हर हाल में इन राज्यों में कमल खिलाने की कोशिशों में जुटी हुई है. यही वजह है कि पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यसमिति तेलंगाना में आयोजित हुई थी. अब सुनील बंसल को तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में भेजने का मकसद यही है कि बीजेपी संगठन को बूथ स्तर पर मजबूत किया जाए. भाजपा की इन तीनों राज्यों में जमीनी पकड़ बने. जिसमें सुनील बंसल माहिर माने जाते हैं. इसके अलावा सुनील बंसल को भारतीय जनता पार्टी संगठन में राष्ट्रीय महामंत्री की जिम्मेदारी दी गई है.

आपके शहर से (लखनऊ)

Mulayam Singh Health: जब रोते हुए सपा समर्थक बोला-बापू जी... तो अख‍िलेश ने बोले- अरे नहीं...

Lucknow: लोकबंधु अस्पताल में मुफ्त होगी मरीजों की CT स्कैन जांच, 24 घंटे मिलेगी सुविधा

यूपीः योगी सरकार का एक्शन, बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद की 30 करोड़ की संपत्ति होगी कुर्क

Lucknow Zoo: अगर आपको 'Zipline' एडवेंचर का शौक है तो जरूर आएं लखनऊ जू, जानें हवा में झूलने के रेट

Coconut Laddu Recipe: कोकोनट लड्डू के साथ दशहरा करें सेलिब्रेट, बेहद सिंपल है रेसिपी

Virat Kohli को भी पसंद हैं छोले भटूरे, दिल्ली वाला स्वाद लेने के लिए इस तरह बनाएं

Mulayam Singh Health Update: मुलायम के फेफड़े-किडनी नहीं दे रहे साथ, इन मशीनों के सहारे चल रही जिंदगी

Gyanvapi Case: ज्ञानवापी सर्वे में मिले 'शिवलिंग' की कार्बन डेटिंग होगी या नहीं, फैसला आज

मुलायम सिंह यादव की हालत अभी भी नाजुक, मेदांता अस्पताल ने जारी किया हेल्थ बुलेटिन

मुलायम सिंह यादव का हाल जानने मेदांता पहुंचे यूपी डिप्टी सीएम बृजेश पाठक, रामगोपाल यादव ने कह दी बड़ी बात

यूपीः मौत के कफ सिरप को लेकर अलर्ट, डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने 3 दिन में मांगी रिपोर्ट


इसका मकसद सीधा है सुनील बंसल राष्ट्रीय स्तर से अन्य राज्यों को चुनावी प्रबंधन पर नजर रखेंगे. यह भी तय माना जा रहा है उत्तर प्रदेश में 2024 लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के सांगठनिक कार्यों में राष्ट्रीय महामंत्री के तौर पर सुनील बंसल का दखल बना रहेगा.

भाजपा की कई जीतों में सुनील बंसल की मुख्य भूमिका रही
2014 के लोकसभा चुनाव में अमित शाह ही सुनील बंसल को यूपी लाए थे. इस चुनाव में सुनील बंसल ने चुनावी प्रबंधन का कार्य देखा. 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव, निकाय चुनाव, पंचायत चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव, 2022 के विधानसभा चुनाव में जीत दिलाने में सुनील बंसल की अहम भूमिका रही. सुनील बंसल महामंत्री संगठन बनने से पहले एबीवीपी और आरएसएस में लंबे समय तक काम कर चुके थे.


इसलिए दी गई महत्वपूर्ण जिम्मेदारीसुनील बंसल की बात करें तो वे 2014 में यूपी के को-इंचार्ज बनाए गए थे. तब पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 80 में से 73 सीटें जीतीं. उस जीत के बाद ही सुनील को संगठन मंत्री बना दिया गया. लेकिन अब उन्हें पार्टी ने और ज्यादा बड़ी जिम्मेदारी दे दी है. उन्हें एक तरफ राष्ट्रीय महामंत्री की जिम्मेदारी संभालनी है तो वहीं दूसरी तरफ तेलंगाना जैसे राज्य में पार्टी को मजबूत करना है.

Tags:BJP, UP BJP, UP news

अधिक पढ़ें