होम / न्यूज / उत्तर प्रदेश /

मगहर में बोले मोदी- आपातकाल लगाने वाले और विरोधी आज कुर्सी के लालच में साथ आ गए

मगहर में बोले मोदी- आपातकाल लगाने वाले और विरोधी आज कुर्सी के लालच में साथ आ गए

पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है...

पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है...

पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है...

  • 12:27 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, '14-15 वर्ष पहले जब पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम जी यहां आए थे, तब उन्होंने इस जगह के लिए एक सपना देखा था. उनके सपने को साकार करने के लिए, मगहर को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र में सद्भाव-समरसता के मुख्य केंद्र के तौर पर विकसित करने का काम अब किया जा रहा है.'

  • 12:26 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'गरीबों के लिए जब प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू हुई तो यहां की पुरानी सरकार का रवैया बहुत ही खराब था. उस वक्त हमारे द्वारा कई चिट्ठियां लिखी गई. लेकिन प्रदेश में जब से योगी जी की सरकार आई है यहां रिकॉर्ड घरों का निर्माण हो रहा है.'

  • 12:25 (IST)

    पीएम मोदी ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, 'जनधन योजना के तहत उत्तर प्रदेश में लगभग 5 करोड़ गरीबों के बैंक खाते खोलकर, 80 लाख से ज्यादा महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन देकर, करीब 1.7 करोड़ गरीबों को बीमा कवच देकर, 1.25 करोड़ शौचालय बनाकर, गरीबों को सशक्त करने का काम किया है.'

  • 12:22 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'महापुरुषों के नाम पर राजनीति की जा रही है. समाजवाद और बहुजन की बात करने वालों का सत्ता के प्रति लालच आप देख रहे हैं. कुछ लोगों का मन बंगले पर अटका है. ऐसे लोग जमीन से कट गए हैं. 2 दिन पहले देश में आपातकाल को 43 साल हुए हैं. सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने वाले और उस समय आपातकाल का विरोध करने वाले एक साथ आ गए हैं. ये समाज नहीं, सिर्फ अपने और अपने परिवार का हित देखते हैं.'

  • 12:17 (IST)

    मगहर में पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'कुछ दलों को शांति और विकास नहीं, कलह और अशांति चाहिए. उनको लगता है जितना असंतोष और अशांति का वातावरण बनाएंगे, उतना राजनीतिक लाभ होगा. सच्चाई ये है ऐसे लोग जमीन से कट चुके हैं इन्हें अंदाजा नहीं कि संत कबीर, महात्मा गांधी, बाबा साहेब को मानने वाले हमारे देश का स्वभाव क्या है.'

  • 12:15 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'ये हमारे देश की महान धरती का तप है, उसकी पुण्यता है कि समय के साथ, समाज में आने वाली आंतरिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए समय-समय पर ऋषियों, मुनियों, संतों का मार्गदर्शन मिला. सैकड़ों वर्षों की गुलामी के कालखंड में अगर देश की आत्मा बची रही, तो वो ऐसे संतों की वजह से ही हुआ.'

  • 12:14 (IST)

    कबीर के दोहों को समझने के लिए किसी शब्दकोष की जरूरत नहीं है. उन्होंने जन-जन तक अपनी बातों को पहुंचाया. उन्होंने कहा था कि जब मैं था तो हरि नहीं, जब हरि था तो मैं नहीं, मतलब अपने अहंकार में डूबा था तब कुछ नहीं दिखा: मगहर में पीएम मोदी

  • 12:13 (IST)

    कबीर ने जाति-पाति के भेद तोड़े, 'सब मानुस की एक जाति' घोषित किया और अपने भीतर के अहंकार को ख़त्म कर उसमें विराजे ईश्वर का दर्शन करने का रास्ता दिखाया. वे सबके थे, इसीलिए सब उनके हो गए: पीएम मोदी

  • 12:12 (IST)

    महात्मा कबीर चरणों की धूल से माथे का तिलक बन गए. वो विचार बन कर आए और व्यवहार बन कर अमर हो गए: मगहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

  • 12:12 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, कबीर का सारा जीवन सत्य की खोज और असत्य के खंडन में व्यतीत हुआ. कबीर की साधना मानने से नहीं जानने से आरंभ होती है. वो सिर से पैर तक मस्तमौला, स्वभाव के फक्कड़, आदत में अक्खड़, भक्त के सामने सेवक, बादशाह के सामने प्रचंड दिलेर, दिल के साफ, दिमाग के दुरुस्त, भीतर से कोमल बाहर से कठोर थे. वो जन्म के धन्य से नहीं, कर्म से वंदनीय हो गए.'

  • 12:02 (IST)

    मगहर में जनसभा को संबोधित कहते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'थोड़ी देर पहले यहां संत कबीर अकादमी का शिलान्यास किया गया है. यहां महात्मा कबीर से जुड़ी स्मृतियों को संजोने वाली संस्थाओं का निर्माण किया जाएगा. कबीर गायन प्रशिक्षण भवन, कबीर नृत्य प्रशिक्षण भवन, रीसर्च सेंटर, लाइब्रेरी, ऑडिटोरियम, हॉस्टल, आर्ट गैलरी विकसित किया जाएगा.'

  • 12:01 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'आज ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा है... आज ही से भगवान भोलेनाथ की यात्रा शुरू हो रही है. मैं तीर्थयात्रियों को सुखद यात्रा के लिए शुभकामनाएं भी देता हूं. कबीर दास जी की 500वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आज से ही यहां कबीर महोत्सव की शुरुआत हुई है.'

  • 11:58 (IST)

    पीएम मोदी ने कहा, 'थोड़ी देर पहले मुझे संत कबीर की मजार पर फूल और चादर चढ़ाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ. मैं उस जगह को भी देख पाया जहां वह साधना किया करते थे. महात्मा कबीर को उनकी ही निर्वाण भूमि पर मैं उन्हें कोटि कोटि नमन करता हूं.

  • 11:55 (IST)

    योगी आदित्यनाथ ने कहा, पूर्वी उत्तर प्रदेश का भाग्य बदलने में आदरणीय प्रधानमंत्री ने कई काम किए हैं. पीएम मोदी की अनुकंपा से आज पूरे विश्व में भारत की छवि चमकी है.'

  • 11:53 (IST)

    मगहर में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'आज भारत में हर क्षेत्र के विकास का विश्वास जगा है, आज हर गरीब को सिर ढकने के लिए आवास देने का काम किया जा रहा है.'

  • 11:50 (IST)

    मगहर में पीएम मोदी ने संत कबीर दास की समाधि और मजार श्रद्धांजलि अर्पित की.

  • 11:40 (IST)

    पीएम मोदी ने इससे पहले मगहर में संत कबीर के मजार पर चादर चढ़ाई. इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ मौजूद थे.

  • 11:29 (IST)

    पीएम मोदी की इस मगहर से पहले एक विवाद भी उठता दिखा. मगहर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तैयारियों का जायज़ा लेने जब संत कबीर की मज़ार पहुंचे, तो वहां के खादिम ने उन्हें मुस्लिम टोपी पहने को दी, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया.

  • 11:02 (IST)

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मगहर में 24 करोड़ की लागत से बनने वाली संत कबीर एकेडमी की आधारशिला रखी.

  • 10:52 (IST)

    पीएम मोदी ने यहां मगहर पहुंचकर संत कबीर की समाधि पर पुष्प अर्पित किए और उनकी मजार पर चादर चढ़ाई. इस दौरान सीएम योगी भी उनके साथ है.

  • 10:16 (IST)

    कबीर के 'सहारे' 2019 के रण में निशाना साधेंगे पीएम नरेंद्र मोदी- News18 हिंदी

  • 10:15 (IST)

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली को लेकर माना जा रहा है कि मिशन 2019 में जुटी बीजेपी के अभियान में इस बार कबीर का नाम भी जुड़ जाएगा. इसका उसे लाभ मिलेगा. दरअसल कबीर को दलितों, पिछड़ों, शोषितों, साम्प्रदायिक सौहार्द और सामाजिक एकता का मसीहा माना जाता रहा है. मगहर में रैली के बाद पीएम मोदी के चुनाव अभियान का चक्र शुरू हो जाएगा. बीजेपी की योजना है कि इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हर महीने यूपी में कम से कम एक रैली हो.

  • 10:08 (IST)

    आजादी के बाद पहली बार देश का कोई प्रधानमंत्री मगहर आ रहा है. इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम मगहर में आकर कबीर की समाधि और मजार के दर्शन कर चुके हैं. ऐसे में पीएम मोदी की इस यात्रा को लेकर एक तरफ कबीरपंथियों में खासा उत्साह दिख रहा है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, देश के कोने-कोने से कबीरपंथी मगहर आए हैं.

  • 10:01 (IST)

    कबीर की समाधि, मज़ार और फिर जनसभा: कुछ ऐसी है पीएम मोदी की मगहर यात्रा- News18 हिंदी

  • 10:01 (IST)

    पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है. कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री इस रैली से न सिर्फ चुनाव अभियान का बिगुल बजाएंगे, बल्कि विरोधियों पर भी जमकर निशाना साधेंगे. प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर तैयारियां पूरी हो चुकी हैं, जिसकी कमान खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाली है.

  • 10:01 (IST)

    संत कबीर के प्राकट्य उत्सव पर पीएम मोदी संत कबीर नगर जिले के मगहर में कबीर की समाधि और मज़ार के दर्शन करेंगे. इसके अलावा वह यहां 24 करोड़ की लागत से बनने वाली कबीर एकेडमी की आधारशिला रखेंगे और फिर एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

  • 9:53 (IST)

    लखनऊ एयरपोर्ट से पीएम मोदी हेलिकॉप्टर के जरिये मगहर के लिए रवाना हो गए. सीएम योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ है.

  • 9:36 (IST)

    मगहर यात्रा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ पहुंच गए है. यहां लखनऊ एयरपोर्ट में सीएम योगी आदित्यनाथ ने लाल गुलाब से उनका स्वागत किया. इसके बाद अब पीएम मोदी और सीएम योगी हेलिकॉप्टर के जरिये मगहर पहुंचेंगे.

  • 9:31 (IST)

    मगहर में पीएम मोदी का कार्यक्रम
    प्रधानमंत्री मोदी सुबह 10:30 बजे मगहर पहुंचेंगे. इसके बाद वह संत कबीर की समाधी स्थल का दर्शन करेंगे और फिर 24 करोड़ की लगात से बनने वाली संत कबीर एकेडमी का शिलान्यास करेंगे. इसके बाद सुबह 11:00 बजे से 12 बजे तक प्रधानमंत्री रैली को संबोधित करेंगे और फिर दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे. 

  • 7:56 (IST)

    पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है. कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री इस रैली से न सिर्फ चुनाव अभियान का बिगुल बजाएंगे, बल्कि विरोधियों पर भी जमकर निशाना साधेंगे.

  • 7:56 (IST)

    पीएम मोदी के आगमन को लेकर एक तरफ कबीरपंथियों में खासा उत्साह नजर आ रहा है. देश के कोने-कोने से कबीरपंथी मगहर आते नजर आ रहे हैं. स्थानीय निवासियों को उम्मीद है कि पीएम मोदी के आगमन से देश-दुनिया के मानचित्र पर मगहर की पहचान को नया आयाम मिलेगा.

  • 7:55 (IST)

    महात्मा कबीर का जन्म बनारस के लहरतारा में 1456 ई में हुआ था लेकिन सूफी कबीर ने जीवन के अंतिम तीन वर्ष मगहर में बिताए. 1575 ई में मगहर में कबीर का देहावसान हो गया. काशी में मरने से मोक्ष और मगहर में मरने से नरक मिलने का मिथक तोड़ने और अकाल से जूझ रहे लोगों को राहत देने के लिये मगहर आए सूफी कबीर ने अपने संदेशो के जरिये सामाजिक समरसता का ऐसा ताना बाना बुना, जिसने हिन्दू मुस्लिम के बीच की खाई को पाटने का काम किया. कबीर ने अपने समय के सामाजिक आडम्बरों और कुरीतियों पर जमकर चोट किया.

  • 7:54 (IST)

    जिस कबीर एकेडमी की आधारशिला पीएम रखेंगे, उसकी स्थापना से देश दुनिया से आने वाले कबीर प्रेमियों और शोधार्थियों के लिये कबीर के जीवन दर्शन को जानने और समझने में काफी मदद मिलेगी. आजादी के बाद पहली बार देश का कोई प्रधानमंत्री मगहर आ रहा है. इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम मगहर में आकर कबीर की समाधि और मजार के दर्शन कर चुके हैं. पीएम नरेंद्र मोदी के आगमन को लेकर कबीर पन्थियों से लेकर मगहर वासियो में खासा उत्साह है. उनका मानना है कि पीएम के आगमन से विकास की उम्मीद जगी है. वर्षों से बंद पड़ी मगहर की कताई मिल और गांधी आश्रम के दोबारा चालू होने की संभावना बढ़ गई है.

  • 7:52 (IST)

    'नरक के द्वार' की यात्रा : मगहर दौरे से 2019 का चुनावी बिगुल फूंकेंगे पीएम मोदी- News18 हिंदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को संत कबीर दास की निर्वाण स्थली मगहर पहुंचे. संत कबीर के प्राकट्य उत्सव पर पीएम मोदी ने संत कबीर नगर जिले के मगहर में कबीर की समाधि के दर्शन किया और फिर मज़ार पर जाकर चादर चढ़ाई. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने यहां 24 करोड़ की लागत से बनने वाली कबीर एकेडमी की आधारशिला रखी.

पीएम मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए संत कबीर को नमन किया और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है.

पीएम मोदी के मगहर दौरे के लाइव अपडेट्स के लिए पढ़ते रहें News18 Hindi...

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Narendra modi, Uttar pradesh news, Yogi adityanath

FIRST PUBLISHED : June 28, 2018, 07:51 IST
अधिक पढ़ें