Home / News / uttar-pradesh /

lucknow police given security to wife of hinduist leader kamlesh tiwari after threatened to kill upns

UP: हिंदू नेता कमलेश तिवारी की पत्नी को मिली सुरक्षा, जान से मारने की मिली थी धमकी

किरन तिवारी को खुर्शीदबाद थाना स्थित उनके कार्यालय पर चिट्ठी मिली थी जो उर्दू में लिखी हुई है. (File photo)

किरन तिवारी को खुर्शीदबाद थाना स्थित उनके कार्यालय पर चिट्ठी मिली थी जो उर्दू में लिखी हुई है. (File photo)

18 अक्‍टूबर, 2019 को लखनऊ के नाका हिंडोला स्थित ऑफिस में हिंदू समाज पार्टी के अध्‍यक्ष कमलेश तिवारी की दो लोगों ने गला रेतकर मार डाला था. भगवा कुर्ता पहने आरोपी मिठाई के डिब्‍बे में छिपाकर चाकू और पिस्‍टल लाए थे. उन्‍होंने कमलेश तिवारी के गले में ताबड़तोड़ 15 से ज्‍यादा वार किए थे. इसके बाद उन्‍हें गोली मारकर भाग निकले.

लखनऊ. हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की पत्नी किरन तिवारी को जान से मारने की धमकी भरा पत्र मिलने के बाद उनकी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. धमकी मिलने के बाद प्रशासन ने सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया है. अब किरण तिवारी के घर पर 7 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. राजस्थान के उदयपुर और महाराष्ट्र के अमरावती की घटनाएं सामने आने के बाद लखनऊ पुलिस ने किरन तिवारी की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला लिया है. बता दें कि कमलेश तिवारी की 18 नवंबर 2019 को उनके घर में घुसकर हत्या कर दी गई थी. कमलेश की हत्या बाद उनकी पत्नी को कई बार धमकी मिल चुकी है.

उदयपुर की घटना के बाद किरन तिवारी को चार पन्ने का धमकी भरा पत्र मिला था, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज और साध्वी प्रज्ञा की तस्वीरों पर टारगेट और क्रॉस का निशान लगा हुआ था. धमकी के बाद पुलिस ने किरण के घर पर 7 पुलिसकर्मियों को तैनात किया है, इनमें एक महिला कांस्टेबल भी शामिल है. किरण तिवारी ने बताया कि धमकी भर पत्र मिलने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी उनसे जानकारी मांगी है. उनके द्वारा फोन से पूरी जानकारी दी गई है, वहीं पुलिस ने भी इस मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है.


UP में महिला ने 4-4 हाथ- पैर वाली बच्ची को दिया जन्म, डॉक्टर्स भी रह गए हैरान

आपके शहर से (लखनऊ)

Independence Day 2022: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खाना भी

राजस्थान की सरहद से बाहर निकला दलित छात्र की मौत का केस, मायावती ने उठाये गहलोत सरकार पर सवाल

Independence Day 2022: सीएम योगी ने विधानसभा पर फहराया तिरंगा, वीर सैनिकों को किया नमन

Independence Day: विधानभवन और राजभवन के पास वाहनों की नो एंट्री, इस रूट से निकलें

CM योगी को जान से मारने की धमकी देने वाला सरफराज गिरफ्तार, पुलिस ने राजस्थान से धर दबोचा

संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह के पिता बोले- पढ़ाई में नहीं था मन, घर से कर दिया था बेदखल

75th Independence Day: अखिलेश यादव ने फहराया झंडा, बोले- खुशियों के साथ आज चुनौतियां भी है

75th Independence Day: सीएम योगी ने फहराया झंडा, बोले- आज यूपी इन्वेस्टमेंट का पसंदीदा डेस्टिनेशन

Independence Day 2022: आजादी की 75वीं वर्षगांठ आज, CM योगी समेत इन नेताओं ने दी बधाई

UP के कानपुर से गिरफ्तार हुआ JeM का एक और संदिग्ध आतंकी, सहारनपुर के नदीम से जुड़ा है कनेक्शन

Independence Day: आप लखनऊ में हैं तो 15 अगस्‍त को ये 2 फिल्‍में देखिए फ्री, ऐसे मिलेगा टिकट


किरन तिवारी को खुर्शीदबाद थाना स्थित उनके कार्यालय पर चिट्ठी मिली थी जो उर्दू में लिखी हुई है. यह चिट्ठी उन्हें 22 जून को मिली थी. हर आने-जाने वाले की तलाशी और रजिस्टर में नाम पता और मोबाइल नंबर दर्ज किया जा रहा है. किरण तिवारी ने बताया कि धमकी भर पत्र मिलने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी उनसे जानकारी मांगी है. उनके द्वारा फोन से पूरी जानकारी दी गई है. वहीं पुलिस ने भी इस मामले में अपनी जांच शुरू कर दी है.

2018 में हुई थी कमलेश तिवारी की हत्या

18 अक्‍टूबर, 2019 को लखनऊ के नाका हिंडोला स्थित ऑफिस में हिंदू समाज पार्टी के अध्‍यक्ष कमलेश तिवारी की दो लोगों ने गला रेतकर मार डाला था. भगवा कुर्ता पहने आरोपी मिठाई के डिब्‍बे में छिपाकर चाकू और पिस्‍टल लाए थे. उन्‍होंने कमलेश तिवारी के गले में ताबड़तोड़ 15 से ज्‍यादा वार किए थे. इसके बाद उन्‍हें गोली मारकर भाग निकले. पकड़े गए आरोपियों शेख अशफाक और पठान मोइनुद्दीन ने बताया था कि वे कमलेश तिवारी की तरफ से 2015 में पैगंबर मोहम्‍मद को लेकर दिए गए बयान से नाराज थे. इन दोनों आरोपियों को राजस्‍थान और गुजरात सीमा पर‍ गिरफ्तार किया गया था.


Tags:Lucknow news, Lucknow Police, Udaipur news, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government